गठबंधन बोझ लग रहा तो हम अलग राह चुन सकते हैं: चंद्रबाबू नायडू की भाजपा को धमकी

गठबंधन बोझ लग रहा तो हम अलग राह चुन सकते हैं: चंद्रबाबू नायडू की भाजपा को धमकी नई दिल्ली: महाराष्‍ट्र में एनडीए के सहयोगी शिवसेना के 2019 में लोकसभा चुनाव गठबंधन से अलग होकर लड़ने की बात कह चुकी है. वहीं अब आंध्रप्रदेश में भाजपा और तेलुगु देशम पार्टी (टीडीपी) के बीच जारी तकरार पर राज्य के मुख्यमंत्री और पार्टी अध्यक्ष चंद्रबाबू नायडू ने शनिवार को कोई भी टिप्पणी करने से इनकार किया. लेकिन इतना कहा कि वे मित्रधर्म निभा रहे हैं और गठबंधन को बनाए रखना भाजपा की जिम्मेदारी है.

उन्होंने कहा कि वह इस बारे में तब बोलेंगे, जब भगवा दल गठबंधन जारी रखना नहीं चाहेगा. नायडू ने अपनी सरकार के खिलाफ पिछले कुछ दिनों में भाजपा के कुछ नेताओं द्वारा की गई टिप्पणियों पर एक सवाल के जवाब में यह कहा.

टीडीपी प्रमुख नायडू ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि मुद्दे के बारे में सोचना भाजपा नेताओं पर निर्भर है. उन्होंने कहा, ‘‘ मैं मित्रपक्ष धर्म के चलते कुछ नहीं कहूंगा. उनके नेतृत्व को इस बारे में सोचना चाहिए.’’ नायडू ने कहा, ‘‘मैं बखूबी अपने लोगों को नियंत्रित कर रहा हूं और मैं उन्हें नियंत्रित करूंगा.

मैंने यहां तक कि अपने एक नेता को चेतावनी दी, जब उन्होंने तदेपल्लीगुदेम मुद्दा ( राज्य में भाजपा से मंत्री पी माणिकयाला राव और स्थानीय तेदपा नेताओं के बीच एक विवाद से जुड़ा) उठाने की कोशिश की.’’ भाजपा नायडू सरकार का हिस्सा है और कैबिनेट में उसके दो मंत्री भी हैं.
अन्य राज्य लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack