साहित्य
  • खबरें
  • लेख
साहित्य अकादेमी तथा भारत में लिथुआनिया गणराज्य के दूतावास के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित हुआ साहित्य मंच कार्यक्रम जनता जनार्दन संवाददाता ,  May 21, 2024
साहित्य अकादेमी तथा भारत में लिथुआनिया गणराज्य के दूतावास के संयुक्त तत्वावधान में साहित्य मंच कार्यक्रम का आयोजन हुआ, जिसमें भाषाशास्त्र संकाय, विलनिअस यूनिवर्सिटी के अध्यक्ष एवं लिथुआनिया के पूर्व संस्कृति मंत्री मिंडौगस क्वितकौस्कस ने बहुभाषिक एवं बहुसांस्कृतिक शहर विलनिअस तथा उसकी सांस्कृतिक/ऐतिहासिक स्मृतियों पर अपना व्याख्यान प्रस्तुत किया। यह व्याख्यान पॉवर पाइंट प्रजेंटशन के साथ दिया गया जिसमें विभिन्न चित्र और सूचनाएँ थी। उन्होंने बताया कि ....  समाचार पढ़ें
रस्किन बॉन्ड को साहित्य अकादेमी की महत्तर  सदस्यता  अर्पित जनता जनार्दन संवाददाता ,  May 12, 2024
साहित्य अकादेमी का सर्वोच्च सम्मान महत्तर  सदस्यता आज  अंग्रेजी के प्रख्यात लेखक और विद्वान रस्किन बॉन्ड को  प्रदान  किया गया । उनकी अस्वस्थता के कारण यह सम्मान उनके मसूरी स्थित घर पर  साहित्य अकादेमी के अध्यक्ष माधव कौशिक और साहित्य अकादेमी के सचिव के. श्रीनिवासराव ने प्रदान किया ....  समाचार पढ़ें
साहित्य अकादेमी ने सुरजीत पातर के निधन पर शोक व्यक्त किया जनता जनार्दन संवाददाता ,  May 11, 2024
पंजाबी के प्रख्यात कवि, गद्यकार, अनुवादक और शिक्षाविद् सुरजीत पातर के  निधन पर साहित्य अकादेमी ने गहरा शोक व्यक्त किया है। उनका निधन  11 मई 2024 को  हो गया था । साहित्य अकादेमी के सचिव के. श्रीनिवासराव द्वारा जारी शोक संदेश में कहा गया है कि अपने 79 वर्ष के जीवनकाल में उन्होंने अपने लेखन के माध्यम से पंजाबी भाषा और ....  समाचार पढ़ें
विश्व का सबसे बड़ा साहित्योत्सव हुआ संपन्न , आइंस्टीन वर्ल्ड रिकार्डस ने विश्व कीर्तिमान का दिया प्रमाण-पत्र जनता जनार्दन संवाददाता ,  Mar 18, 2024
16 मार्च 2024; साहित्य अकादेमी द्वारा विश्व के सबसे बड़े साहित्योत्सव के रूप में मनाए जा रहे साहित्योत्सव 2024 का आज समापन हुआ। छह दिवसीय इस समारोह का अंतिम दिन दिव्यांग लेखकों के नाम रहा। दिव्यांग लेखकों को राष्ट्रव्यापी मंच प्रदान करने के लिए अखिल भारतीय दिव्यांग लेखक सम्मिलन का आयोजन ....  समाचार पढ़ें
साहित्य अकादेमी के साहित्योत्सव का पाँचवा दिन, लोकप्रिय चेतना में रामकथा विषय पर हुई चर्चा जनता जनार्दन संवाददाता ,  Mar 16, 2024
साहित्य अकादेमी द्वारा मनाए जा रहे विश्व के सबसे बड़े साहित्योत्सव का आज पाँचवा दिन था। 35 सत्रों में विभाजित कार्यक्रमों में अनेक महत्त्वपूर्ण विषयों पर परिचर्चाएँ आयोजित की गई जिनमें जानेमाने लेखकों एवं विद्वानों ने भाग लिया। लोकप्रिय चेतना में रामकथा विषय पर दो सत्र आयोजित किए गए ....  समाचार पढ़ें
साहित्योत्सव का चौथा दिन : राष्ट्रीय संगोष्ठी: स्वातंत्र्योत्तर भारतीय साहित्य का शुभारंभ जनता जनार्दन संवाददाता ,  Mar 14, 2024
साहित्योत्सव के चौथे दिन तीस सत्रों में विभिन्न विषयों पर चर्चाएँ और बहुभाषी कहानी और कविता पाठों का आयोजन किया गया। पुस्तकों से रील तक तथा रील से पुस्तकों तक: सिनेमा और साहित्य की अंतरक्रिया जैसे महत्त्वपूर्ण विषय पर प्रख्यात सिने समालोचक अरुण खोपकर की अध्यक्षता में अजित राय, अतुल तिवारी, मुर्तज़ा अली ....  समाचार पढ़ें
साहित्य अकादेमी ने बनाया सबसे बड़ी रीडिंग रिले का विश्व कीर्तिमान जनता जनार्दन संवाददाता ,  Mar 14, 2024
नई दिल्ली: साहित्य अकादेमी, संस्कृति मंत्रालय, भारत सरकार ने आज विश्व की सबसे लंबी रीडिंग रिले का विश्व कीर्तिमान बनाया। साहित्य अकादेमी ने भारतीय लेखकों/कवियों द्वारा एक दिन में विभिन्न भारतीय भाषाओं में 'साहित्योत्सव 2024' के दौरान मेघदूत ओपन थिएटर, रवींद्र भवन, नई दिल्ली में यह पाठ आयोजित कर यह विश्व ....  समाचार पढ़ें
गुलजार ने दिया संवत्सर व्याख्यान, मीर तकी मीर की त्रिजन्मशतवार्षिकी की शुरुआत जनता जनार्दन संवाददाता ,  Mar 14, 2024
साहित्योत्सव के तीसरे दिन आज 32 सत्रों में आयोजित विभिन्न कार्यक्रमों में पुरस्कृत रचनाकारों के साथ लेखक सम्मिलन, आदिवासी कवि सम्मिलन, एलजीबीटीक्यू सम्मिलन, मीर तकी मीर जन्मत्रिशतवार्षिकी संगोष्ठी और गुलजार द्वारा संवत्सर व्याख्यान मुख्य आकर्षण था। लेखक सम्मिलन में कल पुरस्कृत हुए रचनाकारों ने अपनी सृजन की रचना प्रक्रिया को पाठकों के साथ साझा किया। इन सभी के अनुभव बिल्कुल अलग और दिल को छूने वाले थे ....  समाचार पढ़ें
साहित्य अकादेमी महत्तर सदस्यता प्रदान किए जाने की घोषणा जनता जनार्दन संवाददाता ,  Mar 14, 2024
साहित्य अकादेमी के अध्यक्ष माधव कौशिक की अध्यक्षता में गठित साहित्य अकादेमी की सामान्य परिषद ने चार प्रतिष्ठित लेखकों और विद्वानों - चंद्रशेखर कंबार (कन्नड), अजीत कौर (पंजाबी), प्राण किशोर कौल (कश्मीरी) और वेद राही (डोगरी) को साहित्य अकादेमी महत्तर सदस्यता प्रदान करने की संस्तुति की है।साहित्य अकादेमी महत्तर सदस्यता भारत की उन महानतम हस्तियों को प्रदान की जाती है जिनके साहित्यिक योगदान ने सोचने के नए तरीके, साहित्यिक परंपराओं ....  समाचार पढ़ें
अपनी-अपनी भाषाओं के सेनापति हैं साहित्य अकादेमी से पुरस्कृत रचनाकार: माधव कौशिक जनता जनार्दन संवाददाता ,  Mar 13, 2024
साहित्य अकादेमी द्वारा मनाए जा रहे दुनिया के सबसे बड़े साहित्योत्सव के दूसरे दिन का मुख्य आकर्षण 24 भारतीय भाषाओं के लेखकों का पुरस्कृत होना था। कमानी सभागार में हुए साहित्य अकादेमी पुरस्कार अर्पण 2023 की मुख्य अतिथि प्रख्यात ओड़िआ लेखिका प्रतिभा राय थी। उन्होंने अपने संबोधन में कहा कि साहित्य सभी को जोड़ता है ....  समाचार पढ़ें
159वीं जयंती 9 मई पर विशेष: सब तज,हरि भज मसल के मर्म को ऐसे समझें गौरव अवस्थी ,  May 09, 2023
हिंदी के प्रथम आचार्य महावीर प्रसाद द्विवेदी की आज 159वीं जयंती है। यह उन्हें याद करने का दिन। यह उनके ध्येय वाक्य सब तज, हरि भज का मर्म समझने का भी। अधिकांश के लिए इस मसल का अर्थ सब काम धाम छोड़कर ईश्वर की उपासना ही है लेकिन आचार्य महावीर प्रसाद द्विवेदी के लिए इस मसल के माने सिर्फ माला फेरना ....  लेख पढ़ें
साहित्य अकादेमी का साहित्योत्सव 2021 संपन्न जनता जनार्दन संवाददाता ,  Mar 14, 2021
साहित्य अकादेमी द्वारा आयोजित किए जा रहे 'साहित्योत्सव 2021' के अंतिम दिन अनुवाद पुरस्कार 2019 से पुरस्कृत अनुवादकों ने अपने रचनात्मक अनुभव साझा किए। इस अनुवाद सम्मिलन की अध्यक्षता ....  लेख पढ़ें
ओड़िया कहानी: खोज   मूलः वरदा प्रसन्न महांति, अनुवाद- सुजाता शिवेन ,  Dec 31, 2020
कॉलेज के युवाओं के लिए उच्च शिक्षा का आखिरी साल हमेशा भविष्य के सपनों को लेकर उलझा रहता है. प्रशासनिक सेवाओं के आकर्षण ने शोध जैसे महत्त्वपूर्ण अकादमिक कार्य को कैसे हाशिए पर डाला है, उसे ही उजागर करती विचारोत्तेजक कहानी ....  लेख पढ़ें
रिश्ता बनारस से बुनकर का माइटी इक़बाल  ,  Sep 27, 2020
चलते चलते यह भी कहता चलूं की प्रदेश सरकार के मुखिया बुनकर हित मे बिजली की या अन्य जो भी योजना लाएं,यह तय तो होना ही चाहिए कि इसका लाभ उन गरीब बुनकरों को प्राप्त हो जो रोज कमाने खाने वाले बुनकर हैं ,या जो बुनकर दो एक पावर लूम चला कर अपना धंधा करते है ना कि उन अ ....  लेख पढ़ें
बी.एच.यू मेरी साँसों में बसता है डॉ महबूब हसन ,  Jun 01, 2020
अज़ीज़ दोस्तों! बी.एच.यू. मेरे लिए हसीन यादों का एक बेश-किमती एल्बम है..कोलाज़ है, जिस में ज़िन्दगी के सारे रंग मौजूद हैं। बी.एच.यू. मेरी साँसों में बसता है! मेरे दिल की धड़कनों में शामिल है। बी.एच.यू. मेरी मुहब्बत है, मेरा इश्क़ है, मेरा जुनून है। ऐसा इश्क़ जिस ने मुझेख़ुशी व कामयाबी की नई न ....  लेख पढ़ें
ऐसा देश है मेरा: डॉ महबूब हसन ने क्या खूब लिखा   Desk JJ ,  Apr 24, 2020
ज़रा गौर से इन तस्वीरों को देखिए। इन तस्वीरों में हज़ारों बरस की मिली जुली आपसी तहज़ीब, संस्कृति, भाईचारा और प्रेम की एक लंबी दास्तान सिमट आई है। इसे गंगा जमुनी तहजीब भी कहते हैं। यहां की मिट्टी और कण कण में ये खुशबु रची बसी है। हिंदुस्तानी समाज का ताना बाना प्रेम और सौहार्द के धागों से ही तैयार हुआ है। हमने पूरी दुनियाँ को विश्व बंधुत्व और वसुधैव कुटुम्बकम का जैसा प्यारा संदेश दिया। होली, ईद, दशहरा, दीवाली और मोहर्रम जैसे त्योहार इस धागे को और मजबूत करते हैं। अनेकता में एकता की ऐसी खूबसूरत मिसाल पूरी दुनिया में कहीं भी नज़र नहीं आती। यहां हज़ारों भाषाएं और बोलियों में देश की एकता और अखण्डता के सुरीले गीत बजते हैं। संतों, सन्यासियों और फकीरों ने अपने पैगाम के जरिए इंसानियत और धार्मिक सौहार्द के दीप जलाए। प्रकृति ने भी सुंदर पहाड़ियों, ....  लेख पढ़ें
साहित्यकार भी, समाजसेवी भी और सबसे बढ़कर मां: महाश्वेता देवी जनता जनार्दन संवाददाता ,  Jan 14, 2019
आज महाश्वेता का जन्मदिन है. अगर वह जिंदा होतीं, तो 93 की होतीं. अपने नाम की ही तरह साफ, उजली और सफ्फ़ाक. उन्होंने ताउम्र लेखन व संघर्ष उनके लिए किया जो जूझ रहे थे अपनी पहचान के लिए. इसीलिए वह बड़ी साहित्यकार थीं. शिक्षक भी समाजसेवी भी. किसी एक खांचे में उन्हें अलग करना मुश्किल है. वह मां थी, एक दो की नहीं हजार चौरासी की मां... अनगिनत की मां. ....  लेख पढ़ें
किस्सा-ए-बैरागी जी! गौरव अवस्थी की श्रद्धांजलि गौरव अवस्थी ,  May 14, 2018
देश के सुप्रतिष्ठित कवि और उससे भी अधिक हंसमुख एवं सभी के सहयोग में तत्पर रहने वाले सरलता से हमेशा लबरेज रहने वाले आदरणीय बालकवि बैरागी जी हमारे पिता की तरह थे. जो स्नेह हमें अपने पिता से मिला वही बैरागी जी से भी लगातार मिलता रहा. ऐसे स्नेहिल स्वभाव के बैरागी जी से जुड़ा यह किस्सा डॉ शिवमंगल सिंह सुमन के मुंह से कभी बाल्यकाल में सुना था. ....  लेख पढ़ें
विश्व पुस्तक व कॉपीराइट दिवस विशेष:दुनिया को जोड़तीं हैं किताबें ब्लॉगर आकांक्षा सक्सेना ,  Apr 23, 2018
साथियों हमारे देश को विश्वगुरू इसलिए कहा जाता है कि हमारे देश की नींव प्रेम, सम्मान, ज्ञान और विज्ञान के प्रतीक महान वेदों, पुराणों, श्री रामायण,श्री भगवद्गीता, महाभारत, श्रीभागवत् महापुराण, कुरान,बाईविल, जेंद आवेस्ता वस्ता, गुरू ग्रंथ साहिब जैसे ज्ञान, वैराग्य, प्रेम, शांति और जीवन आनंद के कभी न खत्म होने वाले अनमोल खजानों से ....  लेख पढ़ें
राष्ट्रपति बनने की अनिच्छा, दोस्तों की बीवियों पर डोरेः फायर एंड फ्यूरी: इनसाइड द ट्रंप व्हाइट हाउस- पुस्तक अंश जनता जनार्दन डेस्क ,  Jan 05, 2018
डोनाल्ड ट्रंप अमेरिका के राष्ट्रपति बनना नहीं चाहते थे. ये दावा अमेरिकी पत्रकार ने अपनी किताब में किया है. अमेरिकी पत्रकार की किताब के मुताबिक, पिछले साल आश्चर्यजनक चुनावी जीत के बाद अमेरिका की प्रथम महिला मेलानिया ट्रंप की आंखों में आंसू थे, लेकिन वो खुशी के आंसू नहीं थे. ....  लेख पढ़ें
वोट दें

क्या आप कोरोना संकट में केंद्र व राज्य सरकारों की कोशिशों से संतुष्ट हैं?

हां
नहीं
बताना मुश्किल