Thursday, 22 February 2024  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 
खास लोग
  • खबरें
  • लेख
पाकिस्तान की सबसे रईस हिंदू महिला? जनता जनार्दन संवाददाता ,  Jan 24, 2024
पाकिस्तान कई सालों से पैसे की तंगी झेल रहा है. कुछ लोग तो इसे बिगड़ी हुई हुकूमत तक कह देते हैं, तो वहीं कई सारे लोग देश की इस हालत के लिए सरकार और नेताओं को जिम्मेदार ठहराते हैं. रोजमर्रा की जरूरत की चीजों से लेकर पेट्रोल तक सबकुछ की कीमतें आसमान छू रही हैं, जिसकी वजह से आम जनता को खपना पड़ता है. सरकार क्या कर रही है? लोगों की कठिनाइयों को कम करने के लिए क्या कोई बन्दोबस्त है? ये सवाल सबके ज़हन में घूम रहे हैं. पाकिस्तान की इस आर्थिक तंगी का रास्ता क्या है, ये तो वक़्त ही बताएगा. फिलहाल, चलिए जानते हैं कि पाकिस्तान की सबसे रईस हिंदू से. ....  समाचार पढ़ें
दूसरों को ज्ञान देकर कितना कमा लेते हैं विवेक बिंद्रा और संदीप माहेश्वरी जनता जनार्दन संवाददाता ,  Dec 26, 2023
मोटिवेशनल स्पीच देकर दूसरों को सही-गलत का फर्क बताने वाले दो स्पीकर विवेक बिंद्रा और संदीप माहेश्वरी इन दिनों खूब चर्चा में है।इन दिनों दोनों एक वीडियो को लेकर आपस में लड़ रहे हैं। ....  समाचार पढ़ें
जब चप्पल में 10 करोड़ की कार खरीदने शोरूम पहुंचे 2 रईस जनता जनार्दन संवाददाता ,  Nov 30, 2023
सादगी यानी सरलता और सहजता से जीना. सादगी एक ऐसा लाइफस्टाइल है, जिसमें जरूरतों और चाहतों के बीच अंतर रखा जाता है. सादगी में केवल उन चीजों पर ध्यान केंद्रित किया जाता है, जो वास्तव में चाहिए और जो हमारे जीवन के लिए जरूरी हैं. हाल ही में दो रईस भाइयों ने रोल्स रॉयस की एक कार खरीद है लेकिन उसकी डिलीवरी लेने के लिए वह दोनों चप्पल में चले गए. इसके बाद से उनकी सादगी को लेकर चर्चा होने लगी. ....  समाचार पढ़ें
पुण्यतिथि पर विशेष: प्रभात की पहली किरण से..प्रभाष जी गौरव अवस्थी ,  Nov 08, 2023
प्रभाष जोशी जी आज होते तो 85 वें वर्ष में प्रवेश कर रहे होते। 11 बरस हो गए आज ही के दिन काल के क्रूर हाथों में  विरल-सरल सहज-स्वभाव के प्रभाष जी को हम सबसे  छीन लिया। प्रभाष जी हिंदी के ऐसे श्रेष्ठ पत्रकार थे, जिनका नाम भारतीय भाषा के देश के श्रेष्ठ 10 पत्रकारों में गिना जाता है।बात याद आती है, महाप्रयाण के 2 वर्ष पहले वर्ष 2007 में रायबरेली आगमन की। हम सबने आचार्य महावीर प्रसाद द्विवेदी युग प्रेरक ....  समाचार पढ़ें
सत्या के बेमिसाल सात साल जनता जनार्दन संवाददाता ,  Oct 30, 2023
शारीरिक रूप से अक्षम बच्चें अक्सर कई कठिनाईयों का सामना करते हैं, एक तो शारीरिक और दूसरा मानसिक, लेकिन जब उनकी शिक्षा के साथ-साथ उनके समग्र विकास की बात आती है तो सरकार के साथ-साथ कई स्वयं सेवी संस्थाएं भी उनके लिए सीखने और सामाजिक बातचीत को आसान बनाने के लिए प्रयास करती है। ऐसे ही दिल्ली स्थित एक संस्था ....  समाचार पढ़ें
चंदौली निवासी होम्यो आइकॉन अवार्ड से सम्मानित हुए डॉ अभिमन्यु पाण्डेय जनता जनार्दन संवाददाता ,  Sep 05, 2023
चंदौली: होम्योपैथिक चिकित्सक डॉ अभिमन्यु पाण्डेय ने चंदौली जनपद का नाम रोशन करते हुए पूरी दुनिया को चिकित्सा पद्धत्ति को चर्चा के केंद्र में ला दिया है। चिकित्सक डॉ अभिमन्यु पाण्डेय को होम्यो आइकॉन अवार्ड से सम्मानित किया गया है इससे क्षेत्र और मूल रूप से चंदौली में हर्ष का माहौल है। आगरा के 5 सितारा होटल में ....  समाचार पढ़ें
झांसी की रानी से कम नहीं तीलू रौतेली डॉ. चेतन आनंद ,  Aug 09, 2023
तिलोत्तमा देवी यानी तीलू रौतेली का जन्म गढ़वाल, उत्तराखण्ड में हुआ। तीलू एक ऐसी वीरांगना थी जो केवल 15 वर्ष की अल्प आयु में रणभूमि में कूद पड़ी थी और सात साल तक जिसने अपने दुश्मन राजाओं को कड़ी चुनौती दी थी। मात्र 22 वर्ष की आयु में उसने सात युद्ध लड़े। तीलू रौतेली उर्फ तिलोत्तमा देवी भारत की रानी लक्ष्मीलबाई, चांद बीबी, झलकारी बाई, बेगम हजरत महल के समकक्ष हैसियत रखती हैं। लेकिन उत्त्राखंड के अलावा देश के लोग शायद ही उसे जानते होंगे। हालांकि उत्तराखंड सरकार उसके नाम पर महिलाओं की पेंशन योजना चला रही है। यह योजना उन महिलाओं को समर्पित है, जो कृषि कार्य करते हुए विकलांग हो चुकी हैं। लेकिन इस योजना का विस्तार अधिक नहीं है। जबकि जानकारों का कहना है कि तीलू का देश के ....  समाचार पढ़ें
1 अगस्त: विनोबा ने आज ही इंदौर में रोपा था सफाई का बीज गौरव अवस्थी ,  Jul 31, 2023
आचार्य विनोबा भावे ने इस बैठक में यह भी कहा था कि यह सप्ताह किसी संस्था विशेष के नेतृत्व में नहीं मनेगा। सभी संस्थाएं इसमें सहयोग देंगी और यह नागरिकों का सप्ताह होगा। वह मानते थे कि अंग्रेजों ने हमें मुक्त कर दिया लेकिन जब तक मेहतरों को उनके काम से मुक्त नहीं करते, तब तक आजादी सच्ची नहीं ....  समाचार पढ़ें
आशीष कौल की 1967 कश्मीर का परमेश्वरी आंदोलन का वरिष्ठ सांसद और पूर्व केंद्रीय मंत्री सुरेश प्रभु द्वारा विमोचन जनता जनार्दन संवाददाता ,  Jul 31, 2023
दिल्ली: वरिष्ठ सांसद व पूर्व केंद्रीय रेल मंत्री ,पूर्व नागरिक उड्डयन मंत्री व् उद्योग मंत्रीरहे श्री सुरेश प्रभु  के हाथों आशीष कौल लिखित, '1967-कश्मीर का परमेश्वरिआंदोलन 'का आज दिल्ली में विमोचन हुआ। एक गुमशुदा कश्मीरी पंडित बेटी कीतलाश और उसे वापिस उसकी माँ तक पहुंचाने के लिए कश्मीरी पंडितों द्वारा कियेगए ....  समाचार पढ़ें
एटॉमिक बम के जनक थे ओपेनहाइमर जनता जनार्दन संवाददाता ,  Jul 24, 2023
इस समय जुलियस रॉबर्ट ओपनहीमर लोगों की जुबां पर हैं. इन्हें परमाणु बम बनाने का जनक माना जाता है. अब सवाल यह है कि इनके नाम की इतनी चर्चा क्यों हो रही है. इसके साथ ही भूतपूर्व पीएम जवाहर लाल नेहरू से इनका क्या कनेक्शन था. इस तरह की खबरें हैं कि 1954 में जब ओपनहीमर के न्यूक्लिर हथियारों वाले ब ....  समाचार पढ़ें
दिव्या पाहुजा मर्डर केस में शामिल थी अभिजीत की दूसरी गर्लफ्रेंड? जनता जनार्दन संवाददाता ,  Jan 08, 2024
गैंगस्टर संदीप गाडोली की गर्लफ्रेंड रही दिव्या पाहुजा के मर्डर मामले में बड़ा अपडेट सामने आया है, पुलिस की जांच में पता चला है कि इस मर्डर मामले में आरोपी अभिजीत सिंह की दूसरी गर्लफ्रेंड भी शामिल थी. उस युवती ने दिव्या पाहुजा की डेड बॉडी को भी देखा था. पुलिस ने इस इनपुट के बाद उसे भी जांच में शामिल कर लिया है और उससे इस हत्याकांड में भूमिका चेक की जा रही है. माना जा रहा है कि अगले एक-दो दिनों में गिरफ्तार आरोपियों की संख्या भी बढ़ सकती है. ....  लेख पढ़ें
शहादत के 91वें साल (27 फरवरी) पर विशेष: चंद्रशेखर आजाद और उनका फरारी जीवन गौरव अवस्थी 'आशीष' ,  Feb 27, 2022
गुलाम भारत को आजाद कराने में अपने प्राणों का बलिदान देने वाले शहीद-ए-आजम चंद्रशेखर आजाद की शूरता-वीरता के किस्से आम हैं। काकोरी कांड के बाद आजाद कभी हरिशंकर ब्रह्मचारी बने, कभी पंडित जी और कभी अंग्रेज सरकार के अफसर के ड्राइवर भी। क्रांतिकारी दल को मजबूत ....  लेख पढ़ें
प्रतापी महापुरुष पंडित प्रताप नारायण मिश्र की याद में.. गौरव अवस्थी ,  Sep 24, 2021
उन्नाव जनपद के बैजेगांव (अब बेथर) में 165 वर्ष पहले आज ही के दिन पंडित संकटादीन के आंगन में जन्मे भारतेंदु मंडल के प्रमुख लेखक पंडित प्रताप नारायण मिश्र धार्मिक-आध्यात्मिक-साहित्यिक और सांस्कृतिक चेतना के अग्रदूत थे। ब्रिटिश हुकूमत द्वारा लार्ड मैकाले की अंग्रेजी शिक्षा पद्धति पूरे भारत में लागू किए जाने के विरोध में राजा राममोहन राय और स्वामी दयानंद सरस्वती द्वारा शुरू किए सुधार आंदोलन को आपने हिंदी-हिंदू-हिंदुस्तान का नारा देकर बल दिया। "ब्राह्मण" नामक पत्रिका निकालकर हिंदुओं को पाश्चात्य संस्कृति ....  लेख पढ़ें
डॉ शिवपूजन राय और गाज़ीपुर के शहीद देश के अनसंग हीरो है- अर्जुन राम मेघवाल जनता जनार्दन संवाददाता ,  Aug 19, 2021
18 अगस्त को अमर शहीद डॉ शिवपूजन राय प्रतिष्ठान, दिल्ली और हिंदी श्री पब्लिकेशन के संयुक्त प्रयास से पूर्वी उत्तर प्रदेश के गाज़ीपुर ज़िले के मोहम्मदाबाद तहसील पर डॉ शिवपूजन राय की अगुवाई में शहीद हुए 8 अमर शहीदों की स्मृति में एक वेबिनार का आयोजन किया गया ....  लेख पढ़ें
चौथी पुण्यतिथि पर विशेष: कवि-राजनेता बालकवि बैरागी का वैराग्य गौरव अवस्थी ,  May 14, 2021
पैदा होने वाले नंदराम दास के जीवन में मां और पिता द्वारा दी गई 'सीख' ही सारी उम्र आदर्श रही. अपाहिज और लाचार पिता के प्रतिभाशाली संतान के रूप में जन्मे बालकवि बैरागी ने साहित्य हो या राजनीति ऊंचे से ऊंचे मुकाम तय किए लेकिन इन पदों को सुशोभित करने के बाद भी ....  लेख पढ़ें
नमन राष्ट्रपिता! क्या महात्मा गांधी को कोई गोली मार सकती है? जनता जनार्दन डेस्क ,  Jan 30, 2021
राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की लोकप्रियता आज देश और दुनिया के पार है. वह दुनिया के हर उस व्यक्ति के, लोगों के दिलों में, सत्य में, अहिंसा में, सत्याग्रह में, भाई-चारे में जीवित हैं. दुनिया भर में जब भी मानवता, बराबरी और इंसाफ की, इंसानियत की बात होती है, गांधी हमेशा अमर रहेंगे. ....  लेख पढ़ें
भारत यायावर: एक गंभीर अध्येता का जन्मदिन गौरव अवस्थी ,  Nov 28, 2020
66 वर्ष पहले जन्मे आदरणीय भारत यायावर जी एक गंभीर अध्येता हैं. विनोबा भावे विश्वविद्यालय हजारीबाग (झारखंड) में प्राध्यापक रहे भारत यायावर जी ने किताब घर नई दिल्ली से कई खंडों में प्रकाशित आचार्य महावीर प्रसाद द्विवेदी रचनावली का संपादन करके आचार्य द्विवेदी के विविध पक्षों को समाज के सामने प्रस्तुत किया. डॉ नामवर सिंह पर  लिखी गई उनकी जीवनी पुस्तक "नामवर होने का अर्थ" भी साहित्य जगत में काफी चर्चित और प्रतिष्ठित हुई. ....  लेख पढ़ें
अग्निवेश: शांत हो जाना वैचारिक अग्नि की एक सम्मोहक लपट का  त्रिभुवन ,  Sep 12, 2020
अग्निवेश एक अलग तरह के साधु और एक विलक्षण तरह कर सामाजिक नेता थे। उनके व्यक्तित्व में सम्मोहन और उनकी भाषा में एक आज था। वे विवादास्पद भी थे। वे विवादों को निमंत्रित भी करते थे। लेकिन सच में वे मुक्तिवादी और साम्यकामी थे। उनकी उपस्थिति विरोधियों को परेशान करती थी। वे जिज़ समय जीवन के आख़िरी क्षणों में थे, तब कथित हिंदुत्ववादी लोगों ने उन पर अपमानजनक हमला किया। वृद्धों और साधुओं के प्रति सदैव करुणा और दयाशील सनातन धर्म में ऐसा भी संभव है, यह कल्पना से परे है। लेकिन इस दौर में हर असंभव संभव है। अग्निवेश का अपना आर्यसमाज आज दयानन्द सरस्वती के दर्शन से परे भटकता हुआ शीर्षासन मुद्रा में है और पाखंडों का रणसिंघा फूँक रहे जड़मूर्तिपूजकों की उंगली थामे खड़ा है। उसका तेज, तर्क और ....  लेख पढ़ें
स्वामी सहजानन्द सरस्वती: आखिर वर्तमान क्यों नहीं गढ़ पा रहा किसानों का ऐसा मसीहा? गोपाल जी राय/वरिष्ठ पत्रकार और स्तम्भकार ,  Feb 20, 2020
कहते हैं कि वर्तमान में ही इतिहास गढ़ा जाता है। लेकिन यह कैसी विडंबना है कि समकालीन वर्तमान अपने धवल अतीत को पुनः गढ़ पाने में असहाय प्रतीत होता है। यह कौन नहीं जानता कि अमूमन इतिहास खुद को दुहराता है, लेकिन स्वामी सहजानन्द सरस्वती का व्यक्तित्व और कृतित्व अब तक अपवाद स्वरूप है। आगे क्या होगा भविष्य के गर्त में है, पर वर्तमान को उनकी याद सताती है। भले ही उनको गुजरे जमाने हो गए, फिर भी इतिहास खुद को दुहरा नहीं पाया! जबकि लोगबाग बे ....  लेख पढ़ें
दिव्या दत्ता का खुलासा- मैरिटल रेप का सीन शूट कर टूट गई थी जनता जनार्दन संवाददाता ,  Dec 20, 2019
बॉलीवुड अभिनेत्री दिव्या दत्ता ने पर्दे अभी तक एक से एक अलग किरदारों को उकेरा है. उनकी शानदार एक्टिंग के लिए उन्हें नेशनल अवॉर्ड से भी नवाजा जा चुका है. अब दिव्या ने हाल ही में एक इवेंट में बातचीत के दौरान उस सीन का जिक्र किया जिसने उन्हें भीतर ....  लेख पढ़ें
वोट दें

क्या आप कोरोना संकट में केंद्र व राज्य सरकारों की कोशिशों से संतुष्ट हैं?

हां
नहीं
बताना मुश्किल