Wednesday, 13 November 2019  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

महाराष्ट्र: संजय राउत का BJP पर तंज, कहा- 'तुम्हारे पांव के नीचे ज़मीन नहीं

जनता जनार्दन संवाददाता , Nov 07, 2019, 10:18 am IST
Keywords: Maharastra Assembly   MP   Rajya Sabha MP   महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव   राहुल गांधी   राज्यसभा सांसद संजय राउत   हरियाणा  
फ़ॉन्ट साइज :
महाराष्ट्र: संजय राउत का BJP पर तंज, कहा- 'तुम्हारे पांव के नीचे ज़मीन नहीं

मुंबई: महाराष्ट्र में मुख्यमंत्री की कुर्सी के लिए बीजेपी और शिवसेना के बीच जंग और तेज हो गई है. शिवसेना अपने रुख पर अड़ी हुई है और कविताओं के बहाने लगातार बीजेपी पर तंज कस रही है. शिवसेना के प्रवक्ता संजय राउत ने कवि दुष्यतं कुमार की कविता की कुछ पंक्ति ट्विटर पर लिखकर कहा है कि तुम्हारे पांव के नीचे कोई ज़मीन नहीं, कमाल है कि फ़िर भी तुम्हें यक़ीन नहीं.

बीजेपी को बहुमत के लिए परीक्षा भी देनी होगी- राउत

दरअसल शिवसेना की हट के बीच आज राज्यपाल के पास जाकर सरकार बनाने का दावा पेश करने वाली है. माना जाता है कि संजय राउत ने ये बात बीजेपी के इसी कदम को लेकर कही है. संजय राउत ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस करके भी कहा है कि अगर बीजेपी सरकार बनाने का दावा पेश कर रही है तो उसे बहुमत के लिए परीक्षा भी देनी होगी.

इतना ही नहीं संजय राउत ने यह भी कहा है कि जिसके पास बहुमत है, वह सरकार बनाए. राज्यपाल को बहुमत दिखाना जरूरी है. इस बीच राउत 50-50 के फॉर्मूले पर अड़े रहे. उन्होंने साफ किया कि मुख्यमंत्री शिवसेना का ही होगा.

विधायकों को फाइव स्टार होटल में ठहरा सकती है शिवसेना- सूत्र

बीजेपी से चल रही खींचतान के बीच आज उद्धव ठाकरे अपने विधायकों को संबोधित करेंगे. सूत्रों के हवाले से एबीपी न्यूज को खबर मिली है कि पार्टी में फूट रोकने के लिए आज बैठक के बाद शिवसेना विधायकों को दक्षिण मुंबई के एक फाइव स्टार होटल में ठहरा सकती है.

2 बजे राज्यपाल से मिलगें बीजेपी नेता

बता दें कि महाराष्ट्र बीजेपी नेता पटेल और सुधीर मुनगंटीवार राज्यपाल भगत सिंह कोशियारी से आज सुबह 10:30 बजे मिलने जाने वाले थे. अब वह दोपहर 2 बजे राज्यपाल से मिलगें. मिलने की वक्त में परिवर्तन इसलिए किया गया है ताकि 11 बजे शिवसेना के विधायक दल की बैठक के बाद बीजेपी अपनी रणनीति बना सके. इससे ये भी संदेश निकल रहा है कि बीजेपी और शिवसेना के बीच दोबारा शुरू हुई बैक डोर बातचीत सही रास्ते पर जा रही है और महाराष्ट्र में सरकार बनाने का रास्ता साफ हो सकता है.

अन्य चुनाव लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack