Sunday, 26 September 2021  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

यूपी में बीते 24 घंटे में 8 हजार से ज्यादा केस, हालात खराब, लगा नाइट कर्फ्यू

जनता जनार्दन संवाददाता , Apr 08, 2021, 19:43 pm IST
Keywords: Night Curfew   Karnataka   Karnataka Health Minister   up night curfew   Corona India   Night Curfew Covid  
फ़ॉन्ट साइज :
यूपी में बीते 24 घंटे में 8 हजार से ज्यादा केस, हालात खराब, लगा नाइट कर्फ्यू

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण तकरीबन बेकाबू होता जा रहा है. मुख्यमंत्री के निर्देश के बाद अलग-अलग जिलों के डीएम ने सख्त फैसले लेने शुरू कर दिया हैं. राजधानी लखनऊ में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के बाद नाइट कर्फ्यू लगाने का फैसला किया गया है. इसके तहत रात 9 बजे से सुबह 6 बजे तक रहेगा. वहीं, जिस तेजी से अन्य शहरों में संक्रमण भयावह रूप से फैल रहा है, इसे देखते हुये अब यहां पर कर्फ्यू लगाने का फैसला किया गया है.

इन जिलों में लगा नाइट कर्फ्यू

दिल्ली एनसीआर में आने वाले नोएडा, गाजियाबाद में नाइट कर्फ्यू लगाने का ऐलान किया गया है. यहां भी रात्रि 9 बजे से सुबह 6 बजे तक कर्फ्यू रहेगा. इसके अलावा मेरठ, कानपुर, बरेली और वाराणसी में भी प्रशासन ने सख्त कदम उठाया है. इन जिलों में भी रात्रि 9 बजे से सुबह 6 बजे तक कर्फ्यू रहेगा. इस दौरान आवाजाही पर प्रतिबंध रहेगा. जरूरी सेवाओं को छोड़कर पूरी तरह से आवाजाही प्रतिबंधित रहेगी.

कोरोना संक्रमण ने तोड़े रिकॉर्ड
आपको बता दें कि, उत्तर प्रदेश में पिछले 24 घंटों के दौरान कोविड-19 संक्रमित 39 और लोगों की मौत हो गई और 8490 नए मरीजों में इस संक्रमण की पुष्टि हुई. एक अधिकारी ने इसकी जानकारी दी. चिकित्सा और स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव अमित मोहन प्रसाद ने गुरुवार को बताया कि पिछले 24 घंटों में राज्य में कोविड-19 संक्रमित 39 और मरीजों की मौत हो गई, इसके साथ ही राज्य में इस वायरस से मरने वालों की संख्या बढ़कर 9003 हो गई है.

स्वास्थ्य विभाग के अपर मुख्य सचिव प्रसाद ने बताया कि, राज्य में इस वक्त 39,338 मरीज उपचाराधीन हैं. इनमें से 50% मामले सिर्फ चार जिलों लखनऊ, प्रयागराज, वाराणसी और कानपुर से हैं. उन्होंने बताया कि बुधवार को राज्य में दो लाख से ज्यादा नमूनों की जांच की गई है.

अन्य प्रांत लेख
वोट दें

क्या आप कोरोना संकट में केंद्र व राज्य सरकारों की कोशिशों से संतुष्ट हैं?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
सप्ताह की सबसे चर्चित खबर / लेख
  • खबरें
  • लेख