भारत को इजराइल के साथ संप्रभु फिलिस्तीन पसंद, कई समझौतों पर हस्ताक्षर

भारत को इजराइल के साथ संप्रभु फिलिस्तीन पसंद, कई समझौतों पर हस्ताक्षर नई दिल्लीः फिलिस्तीन के राष्ट्रपति महमूद अब्बास भारत दौरे पर हैं. यहां उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से लंबी बातचीत की और पत्रकारों को संबोधित भी किया.

दोनों ही नेताओं के बीच कई द्विपक्षीय मुद्दों पर चर्चा हुई. इस दौरान दोनों ही देशों के मध्य 5 समझौते भी हुए.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विश्व योग दिवस के अवसर पर फिलिस्तीन को भागीदार बनने के लिए राष्ट्रपति अब्बास से अपील की.

उन्होंने योग के महत्व को सामने रखा और कहा कि यदि फिलिस्तीन विश्व योग दिवस में भागीदार होगा तो यह बेहतर होगा.

उन्होंने उम्मीद की कि फिलिस्तीन और इजरायल के बीच काफी समय से चल रहा विवाद और रुकी हुई चर्चा जल्द बहाल हो सकती है.

उन्होंने कहा कि आजाद और एक फिलिस्तीन का हम समर्थन करते हैं. साथ ही उन्होंने उम्मीद की कि इजरायल और फिलिस्तीन में शांति कायम रहे ऐसी कामना हम करते हैं.

भारत और फिलिस्तीन में बहुत महत्वपूर्ण करार हुए हैं. भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जल्द ही इजरायल दौरे पर भी जा सकते हैं. भारत और इजरायल के बीच 25 वर्ष पुराने राजनीतिक संबंध हैं.

इतना ही नहीं भारत ने एयर डिफेंस सिस्टम भी इस देश से खरीदे थे मगर अब भारत में फिलिस्तीन के राष्ट्रपति का आगमन हुआ है. इजरायल व फिलिस्तीन के बीच आपसी तनाव है, लेकिन दोनों ही देशों से भारत के संबंध बेहद अहम माने जाते हैं.

भारत और फिलिस्तीन दोनों देशों के बीच कृषि, स्वास्थ्य, सूचना प्रौद्योगिकी, इलेक्ट्रानिक्स, युवा, खेल आदि विषयों के महत्वपूर्ण करार हुए.

भारत ने जताया कि वह फिलिस्तीन के आर्थिक विकास में भागीदारी करना चाहता है. साथ ही वहां के लोगों के जीवन स्तर को बेहतर बनाने के लिए कार्य करना चाहता है. फिलिस्तीन ने भारत के इस सोच का स्वागत किया है.
अन्य मध्य-पूर्व लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack