घरेलू उत्पाद बनाने वाली विश्वविख्यात स्वीडिश कंपनी आइकिया (IKEA) का नोएडा में स्टोर

घरेलू उत्पाद बनाने वाली विश्वविख्यात स्वीडिश कंपनी आइकिया (IKEA) का नोएडा में स्टोर लखनऊः उत्तर प्रदेश में निवेश के लिए लगातार कोशिश कर रही योगी सरकार  के हाथ एक और सफलता लगी है. घरेलू उत्पाद बनाने वाली विश्वविख्यात स्वीडिश कंपनी आइकिया (IKEA) का नोएडा में स्टोर खुलने जा रहा है. इस संबंध में आज योगी सरकार और आइकिया के बीच एमओयू (MOU)पर हस्ताक्षर हुए.
जानकारी के अनुसार आइकिया नोएडा में साढे पांच हजार करोड़ का निवेश करेगी. कामर्शियल बिल्डर योजना के तहत सेक्टर-51 में करीब 50 हजार वर्ग मीटर के वाणिज्यिक भूखंड का आवंटन कंपनी के पक्ष में कर दिया गया है। इससे नोएडा प्राधिकरण को एकमुश्त 850 करोड़ रुपये का राजस्व मिला है, जबकि स्टांप ड्यूटी के रूप में प्रदेश सरकार को 56 करोड़ रुपये मिले हैं। शुक्रवार को नोएडा प्राधिकरण व कंपनी के बीच भूमि हस्तांतरण एवं लीज डीड विनिमय के वर्चुअल कार्यक्रम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद रहे।

इस मौके पर सीएम योगी ने कहा कि, '' नोएडा, ग्रेटर नोएडा व यमुना अथॉरिटी क्षेत्र भारत में निवेश की सबसे अधिक संभावनाओं वाला क्षेत्र है. दुनिया के सबसे अच्छे निवेश के प्रस्ताव हमारे पास निरंतर आ रहे हैं. नोएडा व आइकिया के बीच भूमि हस्तांतरण एवं लीज डीड विनिमय समारोह के अवसर पर मैं दोनों संस्थाओं को हृदय से बधाई एवं शुभकामनाएं देता हूं. मुझे प्रसन्नता है कि आइकिया देश के सबसे महत्वपूर्ण स्थल नोएडा में निवेश को मूर्त रूप देने जा रही है.''

सीएम ने कहा कि '' प्रदेश के अंदर हम लोग न केवल निवेशपरक और रोजगार उन्मुखी उद्यमों की स्थापना की दिशा में मजबूती से कदम उठा सकें बल्कि अधिक से अधिक फॉरेन डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट को भी आकर्षित कर सकें, इस दृष्टि से उठाए गए कदम तेजी से आगे बढ़ रहे हैं. आईकिया अपने आप में एक अंतरराष्ट्रीय संस्था है. महिला सशक्तिकरण, बाल विकास से संबंधित तमाम सामाजिक योजनाओं के क्षेत्र में भी इन्हें महारथ हासिल है. मुझे प्रसन्नता है कि लगभग 5,500 करोड़ रुपये के निवेश के साथ लगभग 850 करोड़ रुपये की लागत से भूमि स्थानान्तरण से संबंधित कार्यवाही प्रदेश में डायरेक्ट और इन-डायरेक्ट रोजगार की संभावनाओं को भी बढ़ाएगी.''

सीएम योगी ने आगे कहा कि, '' आइकिया जन सामान्य के लिए न केवल शॉपिंग मॉल, ऑफिस, होटल, रिटेल आउटलेट आदि के निर्माण की कार्यवाही समय सीमा में करेगी बल्कि आने वाले समय में प्रदेश के अन्य शहरों में भी निवेश की संभावनाओं को आगे बढ़ाने में अपना योगदान देगी. मैं आइकिया से जुड़े अधिकारियों को एक बार फिर से आश्वस्त करता हूं कि यह निवेश आपके लिए एक सुनहरा अवसर होगा, क्योंकि यह ऐसे क्षेत्र में हो रहा है जहां एशिया के सबसे बड़े एयरपोर्ट, जेवर इंटरनेशनल ग्रीन फील्ड एयरपोर्ट की कार्यवाही आगे बढ़ रही है.''
बता दें इससे पहले आइकिया हैदराबाद और नवी मुंबई में अपने स्टोर खोल चुकी है.''
अन्य राज्य लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack