गणतंत्र दिवस पर दिल्ली की सड़कों पर किसानों का ऐतिहासिक ट्रैक्टर मार्च 

जनता जनार्दन संवाददाता , Jan 25, 2021, 19:42 pm IST
Keywords: Republic Day Protest   Routes for tractor parades   tractor parades   Farmer Protest   Republic Day Farmer Protest   Tractor Rally   ऐतिहासिक ट्रैक्टर मार्च   गणतंत्र दिवस   किसान आंदोलन  
फ़ॉन्ट साइज :
गणतंत्र दिवस पर दिल्ली की सड़कों पर किसानों का ऐतिहासिक ट्रैक्टर मार्च  नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस ने आंदोलनकारी किसानों को गणतंत्र दिवस पर शर्तों के साथ दिल्ली को ऐतिहासिक ट्रैक्टर मार्च की इजाजत दे दी है. याद रहे कि नए किसान कानून को लेकर सरकार और किसान आमने-सामने हैं.तकरीबन दो महीने से किसान इन कानूनों को रद्द करने की मांग लेकर दिल्ली से सटी सीमाओं पर आंदोलन कर रहे हैं. अब तक 11 दौर की बातचीत हो चुकी है मगर कोई हल नहीं निकला है. अब किसान 26 तारीख को ट्रैक्टर मार्च निकालने की पूरी तैयारी कर चुके हैं. अगर ऐसा होता है तो ये कोई पहली बार नहीं होगा. इससे पहले भी गणतंत्र दिवस की ऐतिहासिक परेड में ट्रैक्टर की परेड निकल चुकी है. मगर फर्क इतना था कि ये विरोध में निकल रही है और वो शान से निकली थी.

जिस तरह झांकियों के साथ लोग चाहते हैं, उसी तरह इन झांकियों के साथ भी उन राज्यों के किसानों की वेष-भूषा में लोग चलेंगे. हर ट्रैक्टर पर तिरंगा झंडा और किसान संगठनों के झंडे लगाए जाएंगे. साथ में देशभक्ति के गीत भी चलाए जाएंगे. ट्रैक्टर परेड में पूर्व सैनिक, मेडल विजेता, खिलाड़ी और महिलाओं के अलावा किसान आंदोलन के दौरान शहीद हुए किसानों के परिजनों को शामिल करने का भी प्रयास जारी है. साथ ही पूरी दिल्ली की जनता को खुला न्यौता दिया जाएगा कि लोग अपने घरों से बाहर निकलकर सड़कों पर आएं और ट्रैक्टर परेड और किसानों की झांकियों को देखें। इसके लिए उन्हें कोई वीआईपी निमंत्रण या टिकट लेने की भी जरूरत नहीं पड़ेगी.

किसान नेताओं ने किसान भाइयों को सलाह दी है कि वे अपने साथ किसी भी तरह का हथियार ना रखें, लाठी या जेली भी ना रखें. किसी भी भड़काऊ नेगेटिव नारे वाले बैनर ना लगाएं. वहीं परेड में शामिल होने की सूचना देने के लिए मिस्ड कॉल करें. परेड की शुरुआत किसान नेताओं की गाड़ी से होगी. उनसे पहले कोई ट्रैक्टर या गाड़ी रवाना नहीं होगी. हरे रंग की जैकेट पहने ट्रैफिक वॉलिंटियर की हर हिदायत को मानें. कहा गया कि परेड का रूट तय हो चुका है, उसके निशान लगे होंगे. पुलिस और ट्रैफिक वॉलिंटियर आपको गाइड करेंगे. जो गाड़ी रूट से बाहर जाने की कोशिश करेगी उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. संयुक्त किसान मोर्चा का फैसला है कि अगर कोई गाड़ी सड़क पर बिना कारण रुकने या रास्ते में डेरा जमाने कि कोशिश करती है, तो वॉलंटियर उन्हें हटाएंगे. सब गाड़ियां परेड पूरी करके वही वापस पहुंचेंगी जहां से शुरू हुई थी.

यह भी बताया गया कि एक ट्रैक्टर पर ज्यादा से ज्यादा ड्राइवर समेत पांच लोग सवार होंगे. बोनट, बंपर या छत पर कोई नहीं बैठेगा. सब ट्रैक्टर अपनी लाइन में चलेंगे, कोई रेस नहीं लगाएगा. परेड में किसान नेताओं की गाड़ियों से आगे या उनके साथ अपनी गाड़ी लगाने की कोशिश नहीं करेगा. यह हिदायत भी दी गई कि ट्रैक्टर में अपना ऑडियो डेक नहीं बजाएं. इससे बाकी लोगों को मोर्चा की ऑडियो से हिदायतें सुनने में दिक्कत होगी. परेड में किसी भी किस्म के नशे की मनाही रहेगी.

किसान की इस रैली में में 3,000 वॉलंटियर्स तैनात होंगे. हर रूट पर अलग अलग बीट के हिसाब से वॉलंटियर्स तैनात होंगे. चार तरह के वॉलंटियर्स होंगे- जरनल वॉलंटियर्स, ट्रैफिक वॉलंटियर्स, महिला वॉलंटियर्स और स्पेशल वॉलंटियर्स. स्पेशल वॉलंटियर्स किसान नेताओं के साथ रहेंगे. जिसने गड़बड़ी फैलाने की कोशिश की उसकी खैर नहीं. ये सभी वॉलंटियर्स किसान नेता मंजीत सिंह रॉय के अंडर काम करेंगे. मंजीत सिंह रॉय इस ट्रैक्टर रैली के सिक्योरिटी इंचार्ज होंगे.

ट्रैक्टर रैली सुबह 10 बजे निकलेगी.किसान मोर्चा के नेताओं ने कहा, हमें गणतंत्र दिवस की शोभा बढ़ानी है, पब्लिक का दिल जीतना है. इस बात का खास ख्याल रखें कि औरतों से पूरी इज्जत से पेश आएं. पुलिस का सिपाही भी यूनिफॉर्म पहने हुए किसान है, उससे कोई झगड़ा नहीं करें. मीडिया वाले चाहे जिस भी चैनल से हों, उनके साथ किसी तरह की बदतमीजी ना हो. कोई सड़क पर कचरा ना फेंके. अपने साथ कचरे के लिए एक बैग अलग से रखें.

संयुक्त किसान मोर्चा ने हर किस्म की इमरजेंसी का इंतजाम किया है, इसलिए कोई दिक्कत होने पर घबराएं नहीं, बस इन हिदायतों का पालन करें.किसी भी अफवाह पर ध्यान ना दें. अगर कोई बात चेक करना हो तो संयुक्त किसान मोर्चा की फेसबुक पर जाकर सच्चाई की जांच कर लें. परेड में बीच-बीच में एंबुलेंस रहेंगी. कोई मेडिकल इमरजेंसी हो तो हेल्पलाइन नंबर पर फोन करें या नजदीकी वालंटियर को बताएं.ट्रैक्टर या गाड़ी खराब होने की स्थिति में उसे बिल्कुल साइड में लगा दें और वॉलिंटियर से संपर्क करें.
अन्य दिल्ली, मेरा दिल लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack