Sunday, 23 February 2020  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

NRC पर पीएम मोदी और अमित शाह के बीच है मनमुटाव: भूपेश बघेल

जनता जनार्दन संवाददाता , Jan 18, 2020, 12:32 pm IST
Keywords: Bhupesh Baghel   Bhupesh Baghel Profile   Bhupesh Baghel Statement   Bhupesh Baghel CM   Amit Shah एनआरसी रजिस्टर  
फ़ॉन्ट साइज :
NRC पर पीएम मोदी और अमित शाह के बीच है मनमुटाव: भूपेश बघेल

रायपुर: नागरिकता संशोधन कानून और एनआरसी को लेकर विरोध और बयानबाजी जारी है. अब छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा है कि राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह के बीच मनमुटाव है और इसमें देश पिस रहा है. दरअसल रायपुर के इंडोर स्टेडियम में नगरीय निकाय के नवनिर्वाचित जनप्रतिनिधियों के सम्मान समारोह को संबोधित कर रहे थे.

इस दौरान उन्होंने कहा, "अमित शाह जी कहते हैं कि एनआरसी लागू होगा और प्रधानमंत्री जी कहते हैं कि एनआरसी लागू नहीं होगा. सवाल इस बात का है कि सच कौन बोल रहा है और झूठ कौन बोल रहा है. प्रधानमंत्री जी कह रहे हैं वह सही हैं कि गृह मंत्री जी कह रहे हैं कि वह सही हैं." बघेल ने दावा किया कि दोनों के बीच में मनमुटाव हो गया है और इसके कारण पूरा देश पिस रहा है और इससे सचेत रहने की आवश्यकता है.

वहीं भूपेश बघेल ने आगे कहा, "आज देश में महंगाई है, मंदी है, बेरोजगारी है, लेकिन उसकी चर्चा नहीं हो रही है. चर्चा नागरिकता की हो रही है. आप भारत के नागरिक हैं यह सवाल ही आपको सबसे बड़ा अपमान करने वाला है. यह पूछते हैं कि आपके माता-पिता की जन्म तिथि क्या है. कितने लोग बता सकते हैं कि उनके माता-पिता की जन्म तिथि क्या है."

कार्यक्रम में बघेल ने कहा, "छत्तीसगढ़ में बड़ी संख्या में लोग गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करते हैं. उनके पास जमीन नहीं है. उनके माता-पिता निरक्षर थे. जब वह स्कूल नहीं गए हैं तो प्रमाणित कैसे करेंगे और जब प्रमाणित नहीं होगा फिर एहसान करेंगे कि फिर से आवेदन दो तुमको हिंदुस्तानी बना रहे हैं."

मुख्यमंत्री ने कहा कि असम में एनआरसी लागू हुआ और वहां लोग परेशान हैं, कई बड़े नेताओं का नाम उसमें नहीं है और भारतीय जनता पार्टी के लोगों को गुमराह कर रही है जिससे सचेत रहने की आवश्यकता है. बघेल ने पुलवामा हमले की घटना पर भी सवाल उठाया और कहा कि इसका जिम्मेदार कौन है

वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack