Friday, 23 October 2020  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

विधेयकों का पास होना कृषि क्षेत्र में आमूलचूल बदलाव: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

जनता जनार्दन संवाददाता , Sep 20, 2020, 19:53 pm IST
Keywords: Narendra Modi   Agriculture   Modi Goverment   Modi Magic  
फ़ॉन्ट साइज :
विधेयकों का पास होना कृषि क्षेत्र में आमूलचूल बदलाव: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संसद से कृषि संबंधी दो विधेयकों को मंजूरी मिलने को ‘‘कृषि इतिहास का बड़ा दिन’’ करार देते हुए रविवार को कहा कि इससे न केवल कृषि क्षेत्र में आमूलचूल परिवर्तन होगा, बल्कि इससे करोड़ों किसान सशक्त होंगे.


पीएम मोदी ने अपने ट्वीट में कहा कि दशकों तक हमारे किसान कई प्रकार के बंधनों में जकड़े हुए थे और उन्हें बिचौलियों का सामना करना पड़ता था. उन्होंने कहा, ‘‘संसद में पारित विधेयकों से अन्नदाताओं को इन सबसे आजादी मिली है. इससे किसानों की आय दोगुनी करने के प्रयासों को बल मिलेगा और उनकी समृद्धि सुनिश्चित होगी.’

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘भारत के कृषि इतिहास में आज एक बड़ा दिन है. संसद में अहम विधेयकों के पारित होने पर मैं अपने परिश्रमी अन्नदाताओं को बधाई देता हूं. यह न केवल कृषि क्षेत्र में आमूलचूल परिवर्तन लाएगा, बल्कि इससे करोड़ों किसान सशक्त होंगे.’’

राज्यसभा ने कांग्रेस, तृणमूल कांग्रेस सहित कुछ विपक्षी दलों के सदस्यों के भारी हंगामे के बीच रविवार को कृषि उपज व्यापार और वाणिज्य (संवर्द्धन और सुविधा) विधेयक-2020 और कृषक (सशक्तिकरण एवं संरक्षण) कीमत आश्वासन समझौता और कृषि सेवा पर करार विधेयक-2020 को मंजूरी दे दी. लोकसभा में ये विधेयक पहले ही पारित हो चुके हैं.


पीएम मोदी ने कहा, ‘‘ मैं पहले भी कहा चुका हूं और एक बार फिर कहता हूं कि न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) की व्यवस्था जारी रहेगी. सरकारी खरीद जारी रहेगी.’’ उन्होंने कहा, ‘‘हम यहां अपने किसानों की सेवा के लिए हैं. हम अन्नदाताओं की सहायता के लिए हरसंभव प्रयास करेंगे और उनकी आने वाली पीढ़ियों के लिए बेहतर जीवन सुनिश्चित करेंगे.’’ प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारे कृषि क्षेत्र को आधुनिकतम तकनीक की तत्काल जरूरत है, क्योंकि इससे मेहनतकश किसानों को मदद मिलेगी.


प्रधानमंत्री ने कहा कि अब इन विधेयकों के पास होने से हमारे किसानों की पहुंच भविष्य की टेक्नोलॉजी तक आसान होगी. इससे न केवल उपज बढ़ेगी, बल्कि बेहतर परिणाम सामने आएंगे. यह एक स्वागत योग्य कदम है.

 


अन्य राष्ट्रीय लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack