थरूर की टिप्पणी पर बोले रविशंकर- राहुल की अगुवाई में शर्मनाक बयान देते हैं छुटभैये नेता

जनता जनार्दन संवाददाता , Oct 28, 2018, 18:17 pm IST
Keywords: Ravishankar Prasad   Shashi Tharoor   Congress Leader   Narendra Modi   शशि थरूर   कांग्रेस   मोदी   आरएसएस   रविशंकर प्रसाद   राहुल गाँधी   
फ़ॉन्ट साइज :
थरूर की टिप्पणी पर बोले रविशंकर- राहुल की अगुवाई में शर्मनाक बयान देते हैं छुटभैये नेता

Desk JJ: कांग्रेस नेता शशि थरूर द्वारा प्रधानमंत्री मोदी को लेकर की गई विवादित टिप्पणी के बाद भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी से माफी की मांग की है. दरअसल, एक बार फिर कांग्रेस को मुसीबत में डालने वाले अपने बयान में शशि थरूर ने पीएम मोदी की तुलना बिच्छू से की.

थरूर ने कहा, 'आरएसएस के एक नेता ने एक पत्रकार से कहा कि मोदी शिवलिंग पर बैठे उस बिच्छू की तरह हैं, जिसे ना तो हटाया जा सकता, और ना ही चप्पल से मारा जा सकता है.'

थरूर ने दी सफाई

हालांकि, विवाद बढ़ता देख कांग्रेस नेता शशि थरूर ने ट्वीट कर सफाई पेश की है. उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा कि यह टिप्पणी पिछले 6 वर्षों से पब्लिक डोमेन में है. यह मेरे द्वारा नहीं दी गई है.रविशंकर प्रसाद 6 साल पुराने बयान को लेकर मुद्दा बना रहे हैं.

इधर, थरूर के इस बयान के बाद बीजेपी से लेकर केंद्र सरकार के मंत्री तक आपे से बाहर हो गए. कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि थरूर की टिप्पणी बेहद शर्मनाक है. प्रसाद ने कहा, 'प्रसाद ने कहा कि यह बेहद बेशर्मी की बात है कि राहुल गांधी की अगुवाई में कांग्रेस के छुटभैया नेता भी बेशर्मी और अत्यधिक शर्मनाक, अमर्यादित भाषा का प्रयोग कर रहे हैं.'

बीजेपी ने राहुल से की माफी की मांग

थरूर के बयान पर प्रसाद ने राहुल गांधी को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि एक तरफ राहुल गांधी खुद को शिव भक्त के रूप में पेश करते हैं. वहीं, उनकी पार्टी के नेता पीएम मोदी के लिए चप्पल से हमले की बात करते हैं और शिवलिंग व भगवान शिव शंकर का अपमान करते हैं.

प्रसाद ने अपने बयान में राहुल गांधी से थरूर के बयान के लिए माफी मांगने की मांग की. उन्होंने कहा, 'खुद को शिव भक्त बताने वाले राहुल गांधी को थरूर द्वारा भगवान महादेव को लेकर कई गई शर्मनाक टिप्पणी और निंदा करने के लिए माफी मांगना चाहिए.'

पहले भी कई बार दे चुके हैं विवादित बयान

बता दें कि थरूर इससे पहले भी कई बार अपने दिए बयानों को लेकर चर्चा में आ चुके हैं. इसी साल जुलाई में उन्‍होंने कहा था कि भारत में कई जगहों पर 'मुस्लिमों की तुलना में गाय' ज्यादा सुरक्षित हैं. शशि थरूर की यह टिप्पणी उनके 'हिन्दू पाकिस्तान' के बयान के बाद सामने आई थी, जिसकी उनके राजनीतिक विरोधियों ने आलोचना की थी.

थरूर ने ट्विटर पर लिखा, 'भाजपा के मंत्रियों का सांप्रदायिक हिंसा में कमी के बारे में दावा तथ्यों पर खरा क्यों नहीं उतरता. ऐसा प्रतीत होता है कि कई जगहों पर मुस्लिम की तुलना में गाय सुरक्षित है.' इन दिनों कांग्रेस सांसद शशि थरूर अपनी नई किताब 'द पैराडॉक्सिकल प्राइम मिनिस्टर : नरेंद्र मोदी एंड हिज इंडिया' को लेकर चर्चा में हैं.

50 अध्यायों वाले पांच खंडों की यह किताब को 'एलेफ बुक कंपनी' ने प्रकाशित किया है. 17 अन्य किताबें लिख चुके थरूर की 400 पृष्ठों की यह किताब इस बात का निरीक्षण करेगी कि वास्तविक नरेंद्र मोदी कौन हैं. एलेफ ने कहा था कि किताब एक ऐसे नेता के बारे में उत्पन्न प्रश्नों के उत्तर देती है, जो समान रूप से बुरा और पूज्य दोनों है.

अन्य राष्ट्रीय लेख
वोट दें

क्या 2019 लोकसभा चुनाव में NDA पूर्ण बहुमत से सत्ता में आ सकती है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack