Thursday, 02 April 2020  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

सप्तऋषि 2018 सम्मान समारोह हुआ सम्पन्न

ब्लॉगर आकांक्षा सक्सेना , Jun 19, 2018, 14:48 pm IST
Keywords: Saptrishi Sammaan   Kaysth samman samaroh   Kayasthawahini Antarraashtreey   कायस्थवाहिनी अंतर्राष्ट्रीय   सप्तऋषी 2017   सप्तऋषी सम्मान  
फ़ॉन्ट साइज :
सप्तऋषि 2018 सम्मान समारोह हुआ सम्पन्न नई दिल्ली: जवाहर लाल नेहरू यूथ सेंटर नई दिल्ली में पूरी भव्यता से कायस्थवाहिनी अंतर्राष्ट्रीय द्वारा 17 जून 2018 को आयोजित सप्तऋषि 2018 सम्मान समारोह में कायस्थ समाज के देश विदेश से चिकित्सा, लेखन, कला, साहित्य से सम्बंधित क्षेत्रों से 150 से भी ज्यादा प्रतिष्ठित लोग, अतिथियों व वाहिनी कार्यकर्ताओं ने बढ़चढ कर हिस्सा लिया तथा सफल बनाया। कार्यक्रम समयानुसार आरम्भ हुआ। सभी के स्थान ग्रहण पश्चात व्यापार प्रकोष्ठ के अरविंद जी द्वारा विगत वर्ष में आयोजित सप्तऋषी 2017 की झलकियां प्रस्तुत की गयीं।

इस के बाद संस्कृति अनुसार श्री चित्रगुप्त भगवान के मनोरम चित्र के समक्ष दीप प्रज्वलन के साथ साथ अतिथियों, सभी सदस्यों द्वारा पुष्पांजली अर्पित की गई। तत्पश्चात प्रवीण श्रीवास्तव व वाहिनी युवा अध्यक्ष द्वारा स्वागत किया गया।

तदोपरांत सम्मान समारोह का भव्य शुभारंभ हुआ जिसमें वाहिनी के उन विशिष्ट सदस्यों को भास्कर सम्मान दिया गया जो अपने-अपने प्रदेश में कायस्थ समाज के कार्य में लगे हैं तथा पूरी जिम्मेदारी और निष्ठा से सृष्टि के समस्त प्राणियों का लेखा-जोखा लिखने वाले भगवान् श्री चित्रगुप्त भगवान के नाम के प्रचार प्रसार में रत् हैं जिनमें भास्कर सम्मान से सम्मानित हुये दीपक श्रीवास्तव-जबलपुर, अक्षय श्रीवास्तव-नासिक, प्रवीण श्रीवास्तव, अमित श्रीवास्तव, वैभव श्रीवास्तव, अमन माथुर-पानीपत।
 
कार्यक्रम के दौरान वाहिनि प्रमुख पंकज भइया कायस्थ ने अपने ओजस्वी भाषण द्वारा भास्कर सम्मान और सप्तऋषी सम्मान के बारे में विस्तार से बताते हुए कहा कि कायस्थ समाज मे निःस्वार्थ भाव से कार्यरत समाज सेवियों तथा भारत तथा विदेशों में वाहिनी के कार्य को आगे बढ़ाने वाले व्यक्तियों को सम्मान देने के लिये इन पुरस्कारों की स्थापना की गयी है। साथ ही उन्होनें अपनी फीचर फिल्म “चित्रगुप्त” द गॉड ऑफ जस्टिस - का अन्य अतिथियों के साथ मुहुर्त भी किया।

उल्लेखनीय है कि इस फिल्म के प्रस्तुतकर्ता स्वयं वाहिनि प्रमुख पंकज भइया ही हैं तथा निर्देशक अमृत सिन्हा और सह निर्देशक विवेक सिन्हा हैं। इस कार्यक्रम मे पितृ दिवस के उपलक्ष्य पर विवेक सिन्हा द्वारा निर्मित निर्देशित फिल्म “द फादर्स डे” का भी विमोचन किया गया। सभागार में उपस्थित सभी अतिथियों ने फिल्म की प्रशंसा की। साथ ही तालियों की गड़गड़ाहट से पूरा माहौल खुशनुमा हो गया। फिल्म के प्रमुख कलाकार देव चौहान, एडिटर व कैमरामैन मनीष और निर्देशक विवेक सिन्हा का भगवान श्री चित्रगुप्त का फोटो देकर सत्कार किया गया। युवा वाहिनी द्वारा वाहिनि प्रमुख पंकज भैय्या को “गुरुश्री” सम्मान से अलंकृत किया गया और साथ ही सप्तऋषि 2018 पत्रिका का विमोचन कर माननीय सदस्यों के मध्य वितरित किया गया।
 
कार्यक्रम के सूत्रधार और संचालक संगीत क्षेत्र की चर्चित शख्सियत ज्ञानेश वर्मा ने अपने उद्घोषणा से समारोह को विधिवत सम्पन्न करवाया।
 
कार्यक्रम में पधारे अतिथि डा. रेनू वर्मा, आलोक वर्मा, विकास वर्मा, आर. सी. सक्सेना, पूर्व आईजी बीएसएफ मनोज श्रीवास्तव, सहारा समय प्रमुख-बिहार अनूप श्रीवास्तव, पुन्नू भैय्या, राकेश शरण, हरिहर सिन्हा, रोमी माथुर, राजन श्रीवास्तव, कविता सक्सेना, मनोज श्रीवास्तव, अरूण सक्सेना, राघवेंद्र श्रीवास्तव, गौतम ऋषि व अन्य गणमान्य व्यक्तियों का स्वागत किया गया।

वहीं अंजली श्रीवास्तव, विकाश सक्सेना, अरविंद श्रीवास्तव, शेवांग श्रीवास्तव, जगदीश माथुर, सत्येंद्र श्रीवास्तव, विजय माथुर,मोंटू, अव्वी, अमन माथुर, विशाल भटनागर, वाहिनि सदस्य डब्बू, अतुल, अम्बुज प्रवीण, अमृत, अरविंद, उज्ज्वल, शेखर, राजीव, महेंद्र, मोहित, सौरभ, विनय, उपेंद्र, दिवाकर, अक्षय,ज्ञानेश, सुशांत, सुशील श्रीवास्तव, जगदीश माथुर, सोहना, पी. के. श्रीवास्तव, प्रवीण कुमार खरे, महासचिव अंतर्राष्ट्रीय कायस्थवाहिनी मध्यप्रदेश राजीव श्रीवास्तव,यमुना विहार, राहुल सक्सेना, अरविंद कुमार श्रीवास्तव, विक्रम श्रीवास्तव, कविता सक्सेना उपस्थित रहे।
अन्य प्रांत लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack