Tuesday, 21 August 2018  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

वॉर गेम किसी के लिए ठीक नहींः डोनाल्ड ट्रंप और किम जोंग ने सिंगापुर समझौते के बाद पत्रकारवार्ता में जो कहा, शब्दशः

वॉर गेम किसी के लिए ठीक नहींः डोनाल्ड ट्रंप और किम जोंग ने सिंगापुर समझौते के बाद पत्रकारवार्ता में जो कहा, शब्दशः सिंगापुरः अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन के बीच आज ऐतिहासिक समझौते  पर हस्ताक्षर हुए. दोनों के बीच दो बार बैठक हुई. जिसमें पहली बैठक 50 मिनट की और दूसरी 41 मिनट की हुई. इस बातचीत के शुरू होने से पहले दोनों ने गर्मजोशी के साथ हाथ मिलाकर एक दूसरे का स्वागत किया.

मुलाकात के बाद ट्रंप और किम काफी खुश भी नजर आए और दोनों ने ही इस बैठक को सकारात्मक बैठक करार दिया.  दो बार बैठक करने के बाद दोनों नेताओं ने साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस की जिसमें उन्होंने सिंगापुर समझौते पर हस्ताक्षर कर विश्व इतिहास में अपनी जगह बना ली. इस बीच संयुक्त पत्रकारवार्ता में ट्रंप ने किम की तरफ से भी जवाब दिया, जैसे दोनों काफी गहरे मित्र हों.

पत्रकार वार्ता शुरू होने के साथ ही ट्रंप ने कहा कि उनसे किम जोंग-उन ने कहा है कि उत्तर कोरिया ने मिसाइल और परमाणु परीक्षण ठिकानों को नष्ट करना शुरू कर दिया है.

ट्रंप ने कहा कि उत्तर कोरिया पर से अभी प्रतिबंध नहीं हटाया जाएगा. उन्होंने कहा कि उत्तर कोरिया में मानवाधिकारों की स्थिति में व्यापक सुधार के बाद ही प्रतिबंधों को ख़त्म करने की ओेर बढ़ा जाएगा.

अमरीकी राष्ट्रपति ने सिंगापुर में एक प्रेस कॉन्फ़्रेंस को संबोधित करते हुए कहा कि कोरियाई प्रायद्वीप में वॉर गेम अब ख़त्म होगा.

एक पत्रकार ने ट्रंप से पूछा कि आप इसे कैसे सुनिश्चित करेंगे कि उत्तर कोरिया केवल बात ही नहीं करे बल्कि अमल भी करे.

इस पर ट्रंप ने कहा कि सुनिश्चित तो कुछ भी नहीं किया जा सकता है. ट्रंप ने उस पत्रकार से ही पूछा कि क्या आप सुनिश्चित कर सकते हैं? अमरीकी राष्ट्रपति ने कहा कि किम समझौते पर आगे बढ़ना चाहते हैं.

ट्रंप ने कहा कि उत्तर कोरिया में कोई भी युद्ध शुरू हुआ तो लाखों लोगों की जान दक्षिण कोरिया में जाएगी, क्योंकि दक्षिण कोरिया की राजधानी सोल उत्तर कोरिया की सीमा से सटी है.

ट्रंप से पूछा गया कि वो उत्तर कोरिया को बर्बाद करने की धमकी क्यों देते थे? इस पर ट्रंप ने कहा कि उस समय के हिसाब से उसी भाषा में जवाब देना ठीक था.

ट्रंप से दक्षिण कोरिया के साथ सैन्य अभ्यास ख़त्म करने के फ़ैसले के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, ''हम लोग लंबे समय से दक्षिण कोरिया के साथ सैन्य अभ्यास कर रहे थे. हम इसे वॉर गेम कहते थे. इसमें भारी खर्च होता था. दक्षिण कोरिया भी खर्च करता था, लेकिन 100 फ़ीसदी नहीं. हमलोगों ने कई देशों से बराबरी की बात की है. सैन्य अभ्यास काफ़ी महंगा होता है और हम इसका बड़ा हिस्सा खर्च करते हैं.''

ट्रंप ने इस सवाल के जवाब में और कहा, ''दक्षिण कोरिया के साथ सैन्य अभ्यास उत्तर कोरिया के लिए काफ़ी भड़काऊ होता था. हम काफ़ी जटिल समझौते पर बात कर रहे हैं. मुझे लगता है कि वॉर गेम का जारी रहना उचित नहीं होता.''

जब ट्रंप से उत्तर कोरिया पर प्रतिबंधों को लेकर सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि जब तक उत्तर कोरिया में परमाणु बम का मुद्दा रहेगा तब तक प्रतिबंध जारी रहेगा. ट्रंप ने कहा कि परमाणु निरस्त्रीकरण को लेकर जब वो आश्वस्त हो जाएंगे तो प्रतिबंध हटा दिए जाएंगे.

एक पत्रकार ने ट्रंप से पूछा, ''आपने कहा था कि उत्तर कोरिया के नागरिकों के साथ जितना अत्याचार किम के शासन में हो रहा है उतना किसी शासन में नहीं हुआ. क्या आप अब भी अपनी बातों पर कायम हैं?''

इस सवाल के जवाब में ट्रंप ने कहा, ''मेरा मानना है कि स्थिति ठीक नहीं है, लेकिन बातचीत का मक़सद इसी में कमी लाना है. किम के साथ बातचीत में मानवाधिकारों की बात को गंभीरता से उठाया गया है.''

ट्रंप से एक पत्रकार ने पूछा कि क्या किम के साथ उनकी बातचीत को रिकॉर्ड किया गया है? इस सवाल के जवाब में ट्रंप ने कहा, ''संभवतः नोट्स लिए जा रहे थे. मुझे पूरी तरह से पता नहीं है कि रिकॉर्ड किया जा रहा था या नहीं. लेकिन मेरा मानना है कि मेरे लिए यह किसी यादगार पल से कम नहीं है.

दक्षिण कोरिया के पत्रकारों ने ट्रंप से पूछा कि वो उनके देश के राष्ट्रपति को वो क्या कहेंगे?

इस सवाल के जवाब में ट्रंप ने कहा, ''राष्ट्रपति मून जेई-इन एक भद्र पुरुष हैं. अगर वो यहां होते तो बहुत ख़ुश होते. यहां जो कुछ भी हुआ वो मैं उन्हें भेज चुका हूं. किम और मैंने जिस दस्तावेज़ पर हस्ताक्षर किए हैं उसे उन्हें भेज चुका हूं. मैं चाहता हूं कि इस प्रक्रिया में चीन और दक्षिण कोरिया भी शामिल हो.

ट्रंप-किम प्रेस कॉनफ्रेंस की कुछ खास बातें :

1. अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप और नॉर्थ कोरियाई लीडर किम जोंग उन ने सिंगापुर समझौता साइन किया।

2. दोनों नेताओं के बीच एक व्यापक दस्तावेज पर हस्ताक्षर हुए हैं। जिसमें परमाणु हथियारों के खात्मे का अहम करार भी शामिल है।

3. उत्तर कोरिया के परमाणु निरस्त्रीकरण पर ट्रंप ने कहा कि हमने एक 'विशेष अनुबंध' तैयार किया है और निरस्त्रीकरण की प्रक्रिया बहुत ही जल्द शुरू हो जाएगी।

4. प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान किम ने कहा हम एक बड़ी समस्या का हल करने जा रहे हैं, दुनिया एक बड़ा बदलाव देखेगी।

5. साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस में पत्रकारों ने राष्ट्रपति ट्रंप से ये पूछा, क्या वह किम जोंग उन को व्हाइट हाउस बुलाएंगे तो उन्होंने जवाब दिया, 'बिल्कुल'

6. डोनाल्ड ट्रंप ने की किम जोंग उन की तारीफ, कहा- उम्मीद से कही ज्यादा अच्छी रही है हमारी मुलाकात।

7. किम जोंग उन से दोबारा मुलाकात करने के सवाल पर डोनाल्ड ट्रंप ने कहा हम फिर मिलेंगे और कई बार मिलेंगे।

8. किम जोंग उन ने डोनाल्ड ट्रंप से मुलाकात को ऐतिहासिक बताया।

9. प्रेस कॉनफ्रेंस के बाद ट्रंप ने कहा,  किम ने एक दस्तावेज पर साइन करके कोरिया में परमाणु निरस्त्रीकरण का वादा किया है।

10. किम से मुलाकात के बाद बोले ट्रंप, हम नए इतिहास के लिए तैयार हैं। हम नए अध्याय लिखने के लिए तैयार हैं।
अन्य अंतरराष्ट्रीय लेख
वोट दें

क्या बलात्कार जैसे घृणित अपराध का धार्मिक, जातीय वर्गीकरण होना चाहिए?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
सप्ताह की सबसे चर्चित खबर / लेख
  • खबरें
  • लेख
 
stack