Tuesday, 17 September 2019  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

डिजिटल इंडिया: मिल सकता है माइक्रोसॉफ्ट का साथ

डिजिटल इंडिया: मिल सकता है माइक्रोसॉफ्ट का साथ नई दिल्ली: भारत में निवेश करने को लेकर गंभीर माइक्रोसॉफ्ट के प्रमुख सत्य नडेला ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की और डिजिटल इंडिया पहल में सहयोग का भरोसा दिया। मोदी के अलावा भारत में जन्मे नडेला ने वित्त मंत्री अरुण जेटली तथा दूरसंचार मंत्री रवि शंकर प्रसाद से भी भेंट की और सरकार के डिजिटल बुनियादी ढांचे समेत अन्य मुद्दों पर चर्चा की।

जेटली के साथ बैठक के बाद नेडेला ने कहा, 'यह शिष्टाचार भेंट थी। माइक्रोसॉफ्ट कंपनी है जो है तो बहुराष्ट्रीय लेकिन वह भारत में भारत के लिए और भारतीय कंपनियों के लिए काम कर रही है।'उन्होंने कहा, 'वास्तव में प्रत्येक बैठक में 'डिजिटल इंडिया' तथा 'मेक इन इंडिया' दोनों विचार-विमर्श का प्रमुख विषय था और हमारे लिए इसका प्रमुख विषय होने का मतलब है हमारा भारत में योगदान।'

86 अरब डॉलर की दिग्गज प्रौद्योगिकी कंपनी माइक्रोसॉफ्ट के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) का पदभार संभालने के बाद वह दूसरी बार भारत आए हैं।वित्त मंत्रालय में सूत्रों ने कहा कि नडेला ने जेटली को सूचित किया कि माइक्रोसॉफ्ट भारत में और निवेश करने को लेकर गंभीर है।

संचार एवं सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री ने एक बयान में कहा, 'मंत्री (प्रसाद) ने नडेला के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुआई वाली सरकार की डिजिटल इंडिया पहल पर चर्चा की। उन्होंने माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ से कहा कि डिजिटल इंडिया को इस रुप से डिजाइन किया जा रहा है कि आईटी सुविधाओं से सम्पन्न और उससे वंचितों के बीच की खाई पाटी जा सके।

रवि शंकर प्रसाद ने ई-कॉमर्स के क्षेत्र में भारत की संभावना के साथ इस बात पर चर्चा की कि किस प्रकार संपर्क (कनेक्टिविटी) इसके दोहन में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है। बयान के अनुसार, 'मंत्री ने माइक्रोसॉफ्ट से भारत में डिजिटल साक्षरता की दिशा में काम करने का अनुरोध किया।'

बयान में कहा गया है कि माइक्रोसॉफ्ट खासकर वाई-फाई प्रौद्योगिकी के जरिए अंतिम छोर तक इंटरनेट कनेक्टिविटी उपलब्ध कराने को लेकर सरकार के साथ सहयोग करने को लेकर गंभीर है। नडेला ने प्रसाद के साथ सरकार के आधुनिकीकरण कार्यक्रम पर भी विचार विमर्श किया। माइक्रोसॉफ्ट सुरक्षित सरकार नियंत्रित डिजिटल ढांचागत सुविधा बनाने में मदद कर सकती है।
अन्य देश लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack