अखिलेश को मिली साइकिल,झूमे वाराणसी के 'सपा' कार्यकर्त्ता संघ छात्र नेतृत्त्व

अखिलेश को मिली साइकिल,झूमे वाराणसी के 'सपा' कार्यकर्त्ता संघ छात्र नेतृत्त्व

वाराणसी: उत्तर प्रदेश में चुनावी साल के बीच पिता और पुत्र के आपसी झगडे के बीच चुनाव् आयोग का फैसला आना और अखिलेश की सायकिल मिलना जिसका समर्थक बेसब्री से इन्तेजार कर रहे थे,जिसका परिणाम यह रहा की चुनाव आयोग का फैसला आते ही कार्यकर्ता और समर्थक झूम उठे.

वाराणसी दक्षिणी विधान सभा क्षेत्र अखिलेश यादव जिन्दाबाद के नारे से गुंजयमान हो उठा,कहीं ढोल -नगाडा बजा तो कहीं अबीर-गुलाल लगाकर लोगों ने अपनी खुशियों का इजहार किया,मानो होली आ गयी हो.

शाम को 7 बजते ही जैसे चुनाव आयोग ने मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की तरफ से किए गए अपने फैसले में असली समाजवादी पार्टी के पक्ष में फैसला सुनाया।कार्यकर्ता और समर्थक अपने-अपने इलाकों के चट्टी चौराहों पर आ गए और पार्टी युवा वर्ग से लेकर आम जनता को बधाई देने लगे.

बाबा महामृत्युंज से लेकर दारानगर त्रिमुहानी सैकड़ो कार्यकर्ता और समर्थक आपस में मिठाई बाट रहे थे. फिर क्या था युवा वर्ग के साथ साथ आम जनमानस भी ढ़ोल -नगाड़ों की थाप पर नाचने-गाने लगे.

कृष्णा यादव छात्र नेता ने इस मौके पर कहा कि अपना उत्साह इसी तरह बनाएं रखे,पार्टी अध्यक्ष और मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को अभी आयोग से पहली जीत मिली है.

विधानसभा चुनाव में पार्टी कार्यकर्ता तीन सौ सीट लाकर न सिर्फ अखिलेश यादव को दोबारा मुख्यमंत्री बनाएंगे बल्कि पूरी सत्ता नेताजी श्री मुलायम सिंह यादव को सौंप देंगे.

जश्न मनाने वाले लोगों में मनोज यादव दारानगर,प्रदीप यादव,अमित विश्वकर्मा दादू,गौरव यादव निक्की,शम्भू बेनवंशी छात्रसंघ अध्यक्ष,शंकर यादव,आशुतोष  यादव,गोपाल सेठ,राहुल गुप्ता,संदीप यादव,विशाल यादव,मुकेश मौर्या,रोहित यादव,अमन यादव,
आदि शामिल रहे।

अन्य राजनीतिक दल लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack