Friday, 19 October 2018  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

हम जो भी हैं, प्रशंसकों की बदौलत ही: अमिताभ बच्चन

जनता जनार्दन डेस्क , Jan 07, 2016, 11:33 am IST
Keywords: Bollywood megastar Amitabh Bachchan   Fan   Superhero   Artist   बॉलीवुड शहंशाह अमिताभ बच्चन   प्रशंसक   महानायक   कलाकार   
फ़ॉन्ट साइज :
हम जो भी हैं, प्रशंसकों की बदौलत ही: अमिताभ बच्चन नई दिल्ली: वर्षों से हर रविवार बॉलीवुड के शहंशाह अमिताभ बच्चन के घर के बाहर बड़ी तादाद में प्रशंसक उनकी एक झलक पाने के लिए खड़े होते हैं। ट्विटर पर उनके सबसे ज्यादा फॉलोअर्स हैं और इनके ब्लॉग पढ़ने वालों की भी कोई गिनती नहीं है। महानायक जहां होते हैं,उनके इर्द-गिर्द प्रशंसकों की भीड़ उमड़ पड़ती है। अमिताभ बच्चन का कहना है कि प्रशंसक एक कलाकार के कॅरियर सबसे ‘अहम’ हिस्सा होते हैं।

बॉलीवुड में चार दशक से अपने अभिनय का जादू बिखेर रहे मेगास्टार ने प्रशंसकों के साथ जुडें कई अनुभवों को साझा किया। उन्होंने बताया कि कैसे अगर वह किसी विमान में यात्रा करते हैं, तो उनके प्रशंसक हैरान और खुश हो जाते हैं और उनके साथ सेल्फी लेते हैं तथा अपनी खुशी जाहिर करते हैं।

विश्व भर में लोकप्रिय बॉलीवुड अभिनेता ने एक इंटरव्यू में बताया, कि मुझे लगता है कि एक हस्ती होने का दावा करने वाले व्यक्ति के साथ ऐसा होना स्वाभाविक है। इसमें कुछ भी गलत नहीं है। एक कलाकार के लिए प्रशंसकों की दिलचस्पी जरूरी है। प्रशंसक ही हमें एक हस्ती बनाते हैं। उनका आदर पाना और उन्हें आदर देना न्यायोचित है।

अमिताभ बच्चन ने ‘पीकू’ में साइकिल चलाते हुए देखा गया था और आगामी फिल्म ‘टीई2एन’ में उन्हें स्कूटर चलाते देखा जाएगा।फिल्मों में अपनी ड्राइविंग का कौशल दिखाने वाले अभिनेता से जब इस संबंध में उनके सबसे बेहतरीन स्मृति के बारे में पूछा गया, तो उन्होंने कहा, फिल्म जगत में बिताए करियर के 45 साल उनके लिए सबसे शानदार ड्राइव रही है।

फिल्म ‘आनंद, अग्निपथ,नमक हराम,डॉन,हम,जंजीर जैसी फिल्मों में निभाए दमदार अभिनय ने उन्हें एंग्री यंग मैन का खिताब दिया, लेकिन फिल्म ‘पा’ में 12 साल के ऑरो, भूतनाथ रिटर्स में एक हंसमुख भूत, ‘शमिताभ’ में विफल और शराबी अभिनेता और ‘पीकू’ में क्रोधी पिता का किरदार निभाकर उन्होंने अपनी प्रतिभा का एक नया अंदाज बयां दिया।

इन फिल्मों में निभाए बेहतरीन अभिनय के बल पर उन्होंने सिध्द कर दिया है कि ढलती उम्र के साथ उनकी प्रतिभा फीकी नहीं पड़ी, बल्कि और निखरी है। दिवंगत कवि हरिवंश रॉय बच्चन और तेजी बच्चन के सुपुत्र अमिताभ ने बताया, इस उम्र में मेरा यही सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है और करियर के इस समय पर मिलने वाले काम के लिए मुझे आभारी होना चाहिए।

तीन बार राष्ट्रीय पुरस्कार जीत चुके अभिनेता का कहना है कि उनके कैमरे के साथ जो अनुभव है, उसमें कोई बदलाव नहीं हुआ है। आगामी फिल्म ‘वजीर’ में अमिताभ बच्चन ने व्हीलचेयर पर आश्रित व्यक्ति का किरदार निभाया है। अपने किरदार के बारे में उन्होंने कहा, मुझे अपने हाथों को लेकर ज्यादा मेहनत नहीं करनी पड़ी, लेकिन सच में पहली बार ऐसा किरदार निभाने का अनुभव बहुत बेहतरीन अनुभव रहा। फिल्म ‘वजीर’ शुक्रवार को सिनेमाघरों में रिलीज हो रही है और इस फिल्म में अमिताभ ने सह-कलाकार फरहान अख्तर के साथ ‘अतरंगी यारी’ गीत में अपनी आवाज दी है।
वोट दें

क्या बलात्कार जैसे घृणित अपराध का धार्मिक, जातीय वर्गीकरण होना चाहिए?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack