Tuesday, 10 December 2019  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

दिल्ली ने एक साल के भीतर खोए तीन पूर्व सीएम

जनता जनार्दन संवाददाता , Aug 07, 2019, 11:51 am IST
Keywords: Sushma Swaraj Death   Sushma Swaraj Passes Away   Delhi Former Chif Minister   सुषमा स्वराज  
फ़ॉन्ट साइज :
दिल्ली ने एक साल के भीतर खोए तीन पूर्व सीएम

दिल्ली: मंगलवार रात सुषमा स्वराज के निधन के साथ ही दिल्ली ने पिछले एक साल से कम समय के अंतराल में अपने तीन पूर्व मुख्यमंत्री खो दिए हैं. स्वराज अक्टूबर से दिसंबर 1998 तक दिल्ली की मुख्यमंत्री रही थीं. मंगलवार की रात हृदय गति रुक जाने से उनका निधन हो गया. वहीं, दिल्ली की तीन बार मुख्यमंत्री रहीं शीला दीक्षित का इस साल जुलाई में हृदय गति रुक जाने से निधन हो गया था. वर्ष 1993 से 1996 तक दिल्ली के मुख्यमंत्री रहे मदन लाल खुराना का निधन पिछले साल अक्टूबर में हो गया था. इस तरह दिल्ली ने एक साल से भी कम समय के अंतराल में अपने तीन पूर्व मुख्यमंत्रियों को खो दिया.

दोपहर तीन बजे होगा अंतिम संस्कार, बीजेपी दफ्तर में अंतिम दर्शन
बीजेपी के कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा ने बताया कि कल दोपहर 12 बजे से 3 बजे के बीच बीजेपी कार्यालय में सुषमा स्वराज के पार्थिव शरीर को अंतिम दर्शन के लिए रखा जाएगा. तीन बजे के बाद उनका अंतिम संस्कार होगा. सुषमा स्वराज के निधन की खबर सुनते ही राजनाथ सिंह, नितिन गडकरी और स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन सहित कई वरिष्ठ नेता एम्स पहुंचे. सोशल मीडिया के जरिए तमाम नेताओं ने अपना दुख व्यक्त किया.

पीएम मोदी बोले- एक गौरवशाली अध्याय का अंत हो गया

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के निधन पर मंगलवार को गहरा दुख व्यक्त किया और कहा कि भारतीय राजनीति के एक गौरवशाली अध्याय का अंत हो गया. पीएम मोदी ने एक बाद एक कई ट्वीट करते हुए पूर्व विदेश मंत्री को असाधारण वक्ता और उत्कृष्ट सांसद बताया और कहा कि सभी राजनीतिक दलों के लोग उनकी प्रशंसा करते थे और उनका सम्मान करते थे. पीएम मोदी ने लिखा, ''मोदी ने कहा,‘‘जब बात विचारधारा की आती थी अथवा भाजपा के हितों की आती थी तो वह किसी प्रकार का समझौता नहीं करती थीं, जिसे आगे ले जाने में उनका बहुत योगदान था.’’
अन्य खास लोग लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
सप्ताह की सबसे चर्चित खबर / लेख
  • खबरें
  • लेख
 
stack