Wednesday, 18 September 2019  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

गूगल ने डॉक्टर वर्जीनिया ऐपगार के 109वें जन्मदिन पर बनाया डूडल

गूगल ने डॉक्टर वर्जीनिया ऐपगार के 109वें जन्मदिन पर बनाया डूडल नई दिल्लीः सर्च इंजन गूगल ने आज होमपेज पर एक खास डूडल बनाया है. यह डूडल अमेरिका की एनेस्थिसियॉलॉजिस्ट डॉक्टर वर्जीनिया ऐपगार के 109वें जन्मदिन के मौके पर बनाया गया है. वर्जीनिया ऐपगार को 'ऐपगार स्कोर' के बारे में अपनी खोज के लिए जाना जाता है. इसके जरिए नवजात शिशु के स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियों का पता लगाया जाता है.

गूगल डूडल की बात करें तो एक ऐनिमेटेड गूगल में डॉक्टर वर्जीनिया को एक लेटर पैड और पेन पकड़े हुए दिखाया गया है, जिसमें वह डूडल में बने एक नवजात शिशु के स्वास्थ्य के बारे में जानकारी नोट कर रही हैं. रंग-बिरंगा डूडल देखने में बहुत दिल छू लेने वाला है.

डॉक्टर वर्जीनिया ऐपगार का जन्म 7 जून 1909 को हुआ था. उनका शुरुआती जीवन अमेरिका के न्यू जर्सी में बीता. उनका परिवार म्यूज़िक का शौकीन था. उनके परिवार में आईं कई सारी स्वास्थ्य संबंधी परेशानियों के चलते उनकी रुचि मेडिसिन और साइंस की तरफ हो गई. उन्होंने 1949 में सर्जरी में अपनी पढ़ाई पूरी की.

डॉक्टर वर्जीनिया प्रतिष्ठित कोलंबिया यूनिवर्सिटी कॉलेज ऑफ फिज़िशियंस एंड सर्जंस में प्रोफेसर बनने वाली पहली महिला थीं. यह उपलब्धि 1949 में उनके खाते में जुड़ी. डॉक्टर ऐपगार और उनके साथियों ने 1950 के दौरान अमेरिका में शिशु मृत्यु दर के बढ़ने के दौरान कई हजार नवजात बच्चों के स्वास्थ्य के बारे में पता लगाया. 1960 तक, किसी बच्चे के पैदा होने के 24 घंटे के अंदर उसके स्वास्थ्य का पता लगाना बेहद आसान हो गया.

1972 में डॉक्टर वर्जीनिया ने 'इज माई बेबी आल राइट?' नामक एक किताब लिखने में अपना योगदान दिया. इस किताब में जन्म के दौरान होने वाली समस्याएं और उनके समाधान को स्पष्ट किया गया है. 1974 में उनकी मृत्यु हो गई.
अन्य आधी दुनिया लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack