Wednesday, 16 October 2019  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

दक्षिण कोरियाई असैन्यीकृत क्षेत्र में डोनाल्ड ट्रंप से मिलेंगे किम जोंग उन

दक्षिण कोरियाई असैन्यीकृत क्षेत्र में डोनाल्ड ट्रंप से मिलेंगे किम जोंग उन वॉशिंगटन: एक इतिहास तेजी से बनने की ओर है, और अगर यह हो पाया तो दुनिया में शांति की इबारत लिखी जाएगी. उत्तर कोरिया के सर्वोच्च नेता किम जोंग उन अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से असैन्यीकृत क्षेत्र (डीएमजेड) मिलने के लिए सहमत हो गए हैं. डीएमजेड दोनों कोरियाई देशों को विभाजित करता है.

सूत्रों ने सोमवार को बताया कि दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जे इन ने 27 अप्रैल को सीमावर्ती गांव पनमुन्जोम में हुई ऐतिहासिक बैठक के दौरान किम जोंग को डीएमजेड में ट्रंप से मिलने के लिए राजी किया था. सूत्रों के मुताबिक, ऐसी प्रबल संभावना है कि यह मुलाकात इसी स्थल पर होगी.

सूत्र ने सीएनएन को बताया कि दोनों नेताओं के मिलने का स्थान किम जोंग के लिए बहुत मायने रखता है. एक वरिष्ठ अमेरिकी अधिकारी ने सीएनएन को बताया कि ट्रंप डीएमजेड में मुलाकात के बारे में बात करते रहे हैं और उन्होंने रविवार को मून के साथ फोन पर हुई बातचीत में भी इसे उठाया था इस लिहाज से डीएमजेड में मिलने का विचार पूरी तरह से चौंकाने वाला नहीं था.

ट्रंप ने सोमवार को संवाददाताओं को बताया कि डीएनजेड में मुलाकात के विचार को लेकर वह उत्साहित है. उन्होंने कहा, "मुझे यह पसंद है, यदि चीजें सकारात्मक रहीं तो वहां बड़ा जश्न होगा, किसी तीसरे देश में नहीं."

वहीं दूसरी ओर अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि उनका देश उत्तर कोरिया के परमाणु हथियारों से छुटकारा पाने के कभी इतना करीब नहीं पहुंचा. साथ ही उन्होंने उत्तर कोरियाई नेता किम जोंग उन के साथ निर्धारित शिखर वार्ता होने का भरोसा जताया.

ट्रंप ने नाइजीरिया के राष्ट्रपति मुहम्मदु बुहारी के साथ रोज गार्डन में संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘अमेरिका कोरियाई प्रायद्वीप के संबंध में संभावित रूप से कुछ होने के कभी इतना करीब नहीं रहा कि वह परमाणु हथियारों से छुटकारा पा सकें, बहुत सारी अच्छी चीजें कर सकें, बहुत सारी सकारात्मक चीजें कर सकें और दुनिया के लिए शांति तथा सुरक्षा कायम कर सकें.’’

उन्होंने कोरियाई प्रायद्वीप में ताजा घटनाक्रमों पर एक सवाल के जवाब में कहा, ‘‘देखते हैं क्या होता है? आप जानते हैं मैं हमेशा कहता हूं कि कौन जानता है? शायद बहुत सारी चीजें बदलें.’’ ट्रंप ने किम के साथ बैठक का निमंत्रण स्वीकार कर लिया है. दोनों कोरियाई देशों के बीच सीमा पर असैन्यीकृत क्षेत्र में यह बैठक जल्द ही होने की संभावना है.

अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा, ‘‘मैं कहूंगा कि हर कोई हमसे अच्छी खबर चाहता है. इसके पास एक बड़ी घटना बनने का मौका है. किम जोंग उन अभी तक स्पष्टवादी रहे हैं. लेकिन वह उस स्थल को बंद करने की बात कह रहे है जो उनका बड़ा परीक्षण स्थल है. वह शोध ना करने, बैलिस्टिक मिसाइलों का प्रक्षेपण ना करने और परमाणु परीक्षण ना करने की बात कर रहे हैं और वह लंबे समय तक इस पर कायम रहने वाले हैं.’’
अन्य पूरब लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack