पवन के साथ परिणय सूत्र में बंधी ओलंपियन गीता फोगाट

पवन के साथ परिणय सूत्र में बंधी ओलंपियन गीता फोगाट नई दिल्ली: देश की पहली महिला ओलंपियन पहलवान गीता फोगाट रविवार को सोनीपत के राठधाना गांव के पहलवान पवन के साथ परिणय सूत्र में बंध गई। इन दोनों पहलवानों ने देश और समाज को एक संदेश देने का फैसला करते हुए शादी में सात नहीं आठ फेरे लिए। आठवें फेरे में वर और वधू ने 'बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ' की शपथ ली।

उत्सव गार्डन में हुई शादी में गीता, पवन का दिया हुआ गाजरी रंग का लहंगा पहने हुए थीं। वहीं, पवन क्रीम कलर की शेरवानी में खूब जंच रहे थे। दो बार के ओलंपियन सुशील कुमार और रियो में कांसा जीता कर ओलंपिक में पदक जीतने वाली पहली महिला पहलवान बनी साक्षी मलिक भी इस शादी के साक्षी बने। इनके अलावा हरियाणा विधानसभा में विपक्ष के नेता अभय चौटाला सहित कई नेता भी वर-वधू को आशीर्वाद देने पहुंचे थे।

आमिर ने चांदी के थाल में दिया शगुन

गीता के परिवार पर बनी फिल्म 'दंगल' की पूरी टीम भी आमिर खान की अगुआई में पहुंचीं और उन्हें आशीर्वाद दिया। सफेद कुर्ता पायजामा, मोदी जैकेट और लाल रंग की पगड़ी में अभिनेता आमिर खान ने ठेठ हरियाणवी अंदाज में जैसे ही फिल्म का डायलॉग 'म्हारी छोरियां किसी छोरे तै कम कोनी..' बोला पूरा पंडाल तालियों से गूंजने लगा। आमिर ने गीता को शगुन के तौर पर चांदी के दो बड़े थालों में मिठाई, ड्राई फ्रूट, फल और गिफ्ट पैक सौंपे। वह गीता को शादी का जोड़ा देना चाहते थे, लेकिन यह जोड़ा मामा द्वारा दिया जाता है इसलिए वह ऐसा नहीं कर सके।

वह करीब डेढ़ घंटे तक गीता के घर रुके और उनके परिजनों, रिश्तेदारों से मिलने के बाद भोजन किया। उनके साथ अभिनेत्री साक्षी तंवर, डायरेक्टर नीतेश तिवारी व फिल्म से जुड़े अन्य लोग भी थे। फिल्म में बलाली गांव का कोई भी दृश्य न होने के सवाल पर उन्होंने कहा कि शूटिंग मोहाली में हुई है, लेकिन इसमें लुक बलाली गांव का ही नजर आएगा।

भिवानी में आमिर से बने महावीर

भिवानी में ही आमिर ने महावीर फोगाट की तरह ड्रेस पहनी। बढ़ी दाढ़ी व चश्मा पहने आमिर को देखने के बाद भीड़ में से जब एक युवक ने चिल्ला कर पूछा कि आमिर कौन है तो उन्होंने शालीनता व मुस्कुराहट के साथ हाथ उठाकर कहा कि मैं हूं।

महावीर के साथ खाया खाना

गीता के पिता द्रोणाचार्य अवार्डी महावीर ने आमिर के लिए विशेष तौर पर भोजन तैयार करवाया था। इसमें स्पेशल केसर की खीर, मिस्सी व बाजरे की रोटी, सरसों का साग के अलावा मटर पनीर, गाजर का हलवा और रायता था। लस्सी भी खास तौर पर परोसी गई। महावीर ने खुद आमिर को खाना परोसा। आमिर ने कहा कि यह खाना उन्हें ताउम्र याद रहेगा।

दूल्हे पवन से फोन पर की बात

आमिर की गीता के होने वाले पति पवन से भी मिलने की इच्छा थी, लेकिन समय की कमी के कारण वह उनसे मिल नहीं पाए। हालांकि उन्होंने पवन को फोन पर ही शादी की बधाई दी और गीता को सदा खुश रखने के लिए कहा।
अन्य आदर्श लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack