Saturday, 19 September 2020  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

विश्व कप 2015: भारत ने दक्षिण अफ्रीका को 130 रनों से रौंदा

विश्व कप 2015: भारत ने दक्षिण अफ्रीका को 130 रनों से रौंदा मेलबर्न: पहले अपने बल्लेबाजों और फिर अपने गेंदबाजों के दमदार प्रदर्शन की बदौलत भारत ने रविवार को वर्ल्ड कप में पूल बी के मैच में साउथ अफ्रीका को 130 रनों से हरा दिया। इस जीत के साथ ही भारत ने वर्ल्ड कप में साउथ अफ्रीका पर अपनी पहली जीत दर्ज की।

यह इस वर्ल्ड कप में टीम इंडिया की लगातार दूसरी जीत है। अपने पहले मैच में उसने पाकिस्तान को 76 रनों से हराया था। जीत के लिए मिले 308 रन के टारगेट के जवाब में साउथ अफ्रीका के बल्लेबाज पूरी तरह फ्लॉप रहे और पूरी टीम 40.2 ओवरों में 177 रन बनाकर ऑल आउट हो गई।

भारत के लिए अश्विन ने सबसे ज्यादा 3 विकेट लिए जबकि शमी और मोहित शर्मा ने 2-2 विकेट लिए, रवीद्र जडेजा को 1 विकेट मिला और दो बल्लेबाज रन आउट हुए। साउथ अफ्रीका के लिए डु प्लेसिस ने सबसे अधिक 55 रनों की पारी खेली।

वर्ल्ड कप की ताजा खबरें तुरंत पाने के लिए हमारा फेसबुक पेज लाइक करिए और ट्विटर पर फॉलो करिए।
जीत के लिए मिले 308 रन के टारगेट के जवाब में 12 रन पर अफ्रीका पहला विकेट गिरा। जि कॉक को शमी ने आउट किया। हाशिम अमला भी फेल रहे और 40 रन के स्कोर पर अमला (22) भी आउट हो गए। अमला को मोहित शर्मा ने आउट किया।

इसके बाद डिविलियर्स और डु प्लेसिस की जोड़ी ने पारी को जमाने की कोशिश की और तीसरे विकेट के लिए 68 रन जोड़ दिए लेकिन 108 रन के स्कोर पर डिविलियर्स दो रन लेने की कोशिश में रन आउट हो गए और मैच अफ्रीका के हाथ से निकल गया। 133 रन के स्कोर पर मोहित ने डु प्लेसिस (55) को आउट करके अफ्रीका की हार तय कर दी।

इसके बाद डुमिनी (6) को अश्विन ने 153 रन के स्कोर पर चलता किया और 153 रन के स्कोर पर मिलर भी रन आउट हो गए। फिर अश्विन ने अफ्रीका की पारी को समेटने में देर नहीं लगाई और पूरी टीम क्रिकेट पंडितों की उम्मीद के उलट आसानी से घुटने टेकते हुए 177 रन पर सिमट गई।

इससे पहले भारत ने टॉस जीतकर पहले बैटिंग करते हुए शिखर धवन के करियर की बेस्ट पारी की मदद से सात विकेट पर 307 रन बनाए। धवन ने 146 गेंद में 137 रन बनाए, जबकि अजिंक्य रहाणे ने 60 गेंद में 79 रन की पारी खेली।

भारत ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वर्ल्ड कप में अपना सबसे बड़ा स्कोर बनाया। इससे पहले दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वर्ल्ड कप में भारत का सर्वाधिक स्कोर 296 रन था, जो 2011 में उसने नागपुर में बनाया था।

धवन ने अपना सातवां वनडे शतक जड़ते हुए 16 चौके और दो छक्के लगाए। वर्ल्ड कप में किसी भी बल्लेबाज का दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ यह सर्वोच्च स्कोर है।

भारतीय शीर्षक्रम ने एक बार फिर उम्दा प्रदर्शन किया। धवन और विराट कोहली ने दूसरे विकेट के लिए 127 रन जोड़े। कोहली ने 60 गेंद में 46 रन बनाए। लेग स्पिनर इमरान ताहिर ने उन्हें शॉर्ट मिड विकेट पर फाफ डु प्लेसिस के हाथों लपकवाया।

इसके बाद, अंजिक्य रहाणे ने मोर्चा संभाला और बेहतरीन बल्लेबाजी की। उन्होंने धवन के साथ तीसरे विकेट के लिए 125 रन की साझेदारी की। अपनी पारी में उन्होंने सात चौके और तीन छक्के लगाए।

दूसरी तरफ, 52 रन के स्कोर पर अमला के हाथों जीवनदान मिलने के बाद धवन ने पर्नेल की बॉल पर चौका जड़कर अपना शतक पूरा किया। 44वें ओवर में धवन पर्नेल की गेंद को ही पुल करने के चक्कर में हाशिम अमला को कैच दे बैठे। इसके बाद, कुछ अच्छे शॉट लगाकर अंजिक्य भी आउट हो गए।

ज्यादातर मैचों की तरह इस मैच में भी आखिरी ओवरों में भारतीय बल्लेबाजों का प्रदर्शन निराशाजनक रहा और आखिरी 39 गेंद में भारत ने 46 रन बनाकर पांच विकेट गंवा दिए। दक्षिण अफ्रीका के लिए स्टेन ने आखिरी ओवर में चार खाली गेंदें फेंकी।

उन्होंने 10 ओवर में 55 रन देकर एक विकेट लिया, जबकि मोर्नी मोर्कल ने नौ ओवर में 59 रन देकर दो विकेट चटकाए। सबसे महंगे साबित हुए पर्नेल ने नौ ओवर में 85 रन देकर एक विकेट लिया।
अन्य वर्ल्ड कप लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack