Thursday, 28 January 2021  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

वर्ल्ड कप 2015 : भारत ने पाक को 76 रन से हराया

वर्ल्ड कप 2015  : भारत ने पाक को 76 रन से हराया नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट टीम ने आईसीसी क्रिकेट विश्व कप के अपने पहले मुकाबले में पाकिस्तान को 76 रन से हराया। पाकिस्तान क्रिकेट टीम 300 रन का पीछा करते हुए 224 रन पर ऑलआउट हो गई। मोहम्मद इरफान एक रन बनाकर नाबाद लौटे।

पाकिस्तान का पहला विकेट युनिस खान के रूप में गिरा। युनिस 6 रन बनाकर मोहम्मद शमी की गेंद पर आउट हो गए। हारिस सोहेल 36 रन बनाकर आर.अश्विन की गेंद पर आउट हुए। अहमद शहजाद 47 रन बनाकर उमेश यादव की गेंद पर जडेजा को कैच थमा बैठे। शोएब मकसूद बिना खाता खोले उमेश यादव की गेंद पर रैना को कैच थमा बैठे।

उमर अकमल बिना खाता खोले रवींद्र जडेजा की गेंद पर आउट हो गए। शाहिद अफरीदी 22 रन बनाकर शमी के गेंद पर कैच आउट हो गए। वाहब रियाज बिना खाता खोले शमी की गेंद पर आउट हो गए। यासिर शाह 13 रन बनाकर मोहित शर्मा की गेंद पर आउट हुए। आखिरी विकेट सोहेल खान (7) का गिरा।

भारत की शानदार गेंदबाजी में मोहम्मद शमी ने चार, उमेश यादव और मोहित शर्मा ने दो जबकि रवींद्र जडेजा, और आर.अश्विन ने एक-एक विकेट झटके।

इससे पहले विराट कोहली ने शतक जड़कर फॉर्म में वापसी की जिससे भारत ने आईसीसी क्रिकेट विश्व कप के अपने शुरुआती ग्रुप मैच में चिर प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान के खिलाफ सात विकेट पर 300 रन बनाए।
    
टॉस जीतकर बल्लेबाजी करने उतरे भारत की ओर से कोहली ने एडिलेड ओवल के अपने पसंदीदा मैदान पर 126 गेंद में आठ चौकों की मदद से 107 रन बनाए। पाकिस्तान के युवा तेज गेंदबाज सोहेल खान (55 रन पांच विकेट) ने डेथ ओवरों में अच्छी गेंदबाजी की जिससे भारत अंतिम पांच ओवर में सिर्फ 27 रन ही जोड़ पाया।
    
कोहली ने इस पारी के दौरान अपना 22वां शतक जड़ा और सौरव गांगुली की बराबरी करते हुए भारत की ओर से वनडे में दूसरे सबसे अधिक शतक जड़ने वाले खिलाड़ी बने। भारत की ओर से सबसे अधिक 49 शतक का रिकॉर्ड सचिन तेंदुलकर के नाम है। इस पारी के दौरान कोहली ने पाकिस्तान के खिलाफ विश्व कप में सर्वाधिक व्यक्तिगत स्कोर के तेंदुलकर (98) के रिकॉर्ड को भी तोड़ा।
    
कोहली ने शिखर धवन (73) और सुरेश रैना (74) के साथ मिलकर पाकिस्तानी के गेंदबाजी आक्रमण की धज्जियां उड़ाई। धवन और कोहली ने टीम की रन गति बढ़ाई जबकि रैना ने अंतिम ओवरों में तेजी से बल्लेबाजी की। रैना ने 56 गेंद का सामना करते हुए पांच चौके और तीन छक्के मारे।
    
रैना ने विकेट पर उतरते ही तेजी से बल्लेबाजी की और स्क्वायर लेग से डीप मिडविकेट के बीच के क्षेत्र में खूब रन बटोरे। पाकिस्तान को सात फीट एक इंच लंबे तेज गेंदबाज मोहम्मद इरफान से काफी उम्मीद थी लेकिन वह नाकाम रहे। उन्होंने 10 ओवर में 56 रन खर्च किए जबकि उन्हें कोई विकेट नहीं मिला।
अन्य वर्ल्ड कप लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack