विज्ञान-तकनीक
  • खबरें
  • लेख
इसरो के सबसे भारी रॉकेट जीएसएलवी मार्क-3 की उड़ान, संचार उपग्रह जीसैट-19 अंतरिक्ष में जनता जनार्दन संवाददाता ,  Jun 05, 2017
देश का अब तक का सबसे बड़ा रॉकेट जीएसएलवी मार्क 3 लॉन्‍च हो गया है. इसरो ने इस लॉन्‍च के सफलतापूर्वक पूरा होने की घोषणा करते हुए इस दिन को ऐतिहासिक बताया. ....  समाचार पढ़ें
पृथ्वी-2 के वार से दुश्‍मन का बचना होगा नामुमकिन, भारत ने किया सफल परीक्षण जनता जनार्दन डेस्क ,  Jun 02, 2017
भारत ने स्वदेशी परमाणु मिसाइल पृथ्वी-2 का सफलतापूर्वक परीक्षण शुक्रवार को किया. भारतीय सेना के द्वारा इसका परीक्षण ओडिशा में किया गया. प्राप्त जानकारी के अनुसार यह परीक्षण चांदीपुर रेंज से सुबह 10 बजकर 56 मिनट पर किया गया ....  समाचार पढ़ें
इसरो की नई सैटलाइट लॉन्चिंग से देश में शुरू होगा हाई-स्पीड इंटरनेट का युग जनता जनार्दन डेस्क ,  May 21, 2017
पिछले साल भारत ने अमेरिका को पछाड़ते हुए चीन के बाद दूसरा सबसे ज्यादा इंटरनेट यूजर वाले देश का तमगा हासिल तो कर लिया, लेकिन इंटरनेट स्पीड के मामले में हमारा देश अब भी कई एशियाई देशों से ही पीछे है। हालांकि, महज 18 महीनों में यह स्थिति बदलनेवाली है ....  समाचार पढ़ें
एंटीकाइथेरा यानी सबसे पुराने कंप्यूटर की 115वीं जयंती, गूगल ने बनाया डूडल जनता जनार्दन संवाददाता ,  May 17, 2017
आज के दिन यानी 16 मई 1902 को यूनानी पुरातत्त्ववेत्ता वैलेरिओस स्टेइस ने तबाह हो चुके एक जहाज से एंटीकाइथेरा की खोज की थी. हालांकि इस जहाज को दो साल पहले ही ढूंढ़ा गया था, पर वैलेरिओस स्टेइस की नजर एंटीकाइथेरा पर दो साल बाद गई. ....  समाचार पढ़ें
दुनिया पर बड़ा साइबर हमलाः रैंसमवेयर ने सौ देशों में कंप्यूटर किए बंद, अपने सिस्टम को यों बचाएं जनता जनार्दन डेस्क ,  May 13, 2017
दुनिया के 99 से ज्यादा देशों में साइबर अपराधियों द्वारा फिरौती वसूलने के मकसद से किए गए. रैंसमवेयर एक तरीके का मैलवेयर यानी वायरस होता है जो कंप्यूटर को रिमोटली लॉक करके डेटा एन्क्रिप्ट कर देता है. इसे डिक्रिप्ट और कंप्यूटर को अनलॉक करने के लिए हैकर्स पैसों की मांग करते हैं. ....  समाचार पढ़ें
इसरो ने लॉन्‍च किया साउथ एशिया सैटेलाइट, राष्ट्रपति मुखर्जी, प्रधानमंत्री मोदी ने दी बधाई जनता जनार्दन संवाददाता ,  May 05, 2017
भारत की स्पेस डिप्लोमैसी के तहत तैयार हुई साउथ एशिया सैटेलाइट को इसरो ने लॉन्‍च कर दिया है. इसे शुक्रवर शाम 4:57 मिनट पर श्रीहरिकोटा से लॉन्‍च किया गया. 50 मीटर ऊंचे रॉकेट के जरिए भेजा गया यह सैटेलाइट अंतरिक्ष में शांतिदूत की भूमिका निभाएगा. ....  समाचार पढ़ें
'दक्षिण एशिया उपग्रह' के माध्यम से भारत को नई 'कक्षा' में पहुंचाएगी मोदी की अंतरिक्ष कूटनीति  जनता जनार्दन संवाददाता ,  Apr 30, 2017
भारत जल्द ही एक अद्भुत अंतरिक्ष कूटनीति अपनाने जा रहा है। ऐसा पहली बार है, जब नई दिल्ली दक्षिण एशियाई देशों के लिए 450 करोड़ रुपये की एक खास योजना से 'समतापमंडलीय कूटनीति' अपना रहा है। ....  समाचार पढ़ें
कैसीनी अंतरिक्षयान की आखिरी उड़ान, गुगल ने डुडल बना मनाई खुशियां जनता जनार्दन संवाददाता ,  Apr 26, 2017
शनि के विशाल चांद टाइटन के बारे में जानकारी जुटाने के मिशन पर जुटे नासा के कैसीनी अंतरिक्षयान ने अपनी आखिरी उड़ान भर दी है. इस आखिरी उड़ान को नासा द्वारा 'द ग्रैंड फिनाले' नाम दिया गया है. कैसीनी की आखिरी उड़ान के मौके को गूगल डूडल के जरिए लोगों तक पहुंचा रहा है. डूडल में कैसीनी शनि के किनारे घूम रहा है और फोटो ले रहा है. सबसे खास बात ये है कि इसमें शनि की मुस्कराहट को भी किया गया है. ....  समाचार पढ़ें
ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का भारत ने किया सफल परीक्षण जनता जनार्दन रक्षा संवाददाता ,  Mar 11, 2017
भारत ने 300 किलोग्राम के आयुध ले जाने में सक्षम ब्रह्मोस सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल का आज सफल परीक्षण किया. रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) के अधिकारियों ने बताया कि सुबह करीब 11 बजकर 33 मिनट पर यहां चांदीपुर में एकीकृत परीक्षण रेंज से एक मोबाइल लॉन्चर से क्रूज मिसाइल का परीक्षण किया गया. ....  समाचार पढ़ें
भारत का लापता चंद्रयान-1 अब भी कर रहा चंद्रमा की परिक्रमा: नासा जनता जनार्दन संवाददाता ,  Mar 10, 2017
चंद्रमा के लिए भारत का पहला मानवरहित अभियान चंद्रयान-1, जिसके बारे में माना जा रहा था कि वह लापता हो गया है, वह अभी भी चांद का चक्‍कर लगा रहा है. अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के वैज्ञानिकों ने यह जानकारी दी है. करीब 3.9 अरब रुपए की लागत से तैयार चंद्रयान-1 को वर्ष 2008 में प्रक्षेपित किया गया था. ....  समाचार पढ़ें
ऐतिहासिक पीएसएलवी मिशन का नकारात्मक पहलू भी है: माधवन नायर के एस जयरामन ,  Feb 27, 2017
भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने हाल ही में एक साथ 104 उपग्रह प्रक्षेपित कर इतिहास रच दिया है और उसे दुनियाभर से बधाई संदेश मिल रहे हैं. लेकिन इस अभियान का एक नकारात्मक पहलू भी है, जो चिंता का विषय है. इस अभियान को लेकर भारत ने दुनियाभर में अंतरिक्ष कार्यक्रमों में अपना डंका पीटा है, लेकिन इसरो के पूर्व अध्यक्ष जी. माधवन नायर ने इस पर कुछ चिंता प्रकट की है. ....  लेख पढ़ें
'पीएसएलवी के प्रक्षेपण का उद्देश्य रिकॉर्ड बनाना नहीं' जनता जनार्दन डेस्क ,  Feb 21, 2017
भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने पिछले सप्ताह ध्रुवीय उपग्रह प्रक्षेपण यान (पीएसएलवी) के माध्यम से एक साथ 104 उपग्रहों को छोड़ कर रूस के 37 उपग्रहों के रिकॉर्ड को तोड़ते हुए इतिहास रच दिया। लेकिन इसरो के वैज्ञानिकों का कहना है कि यह महज रिकॉर्ड बनाने के मकसद से नहीं किया गया। ....  लेख पढ़ें
इसरोः बैलगाड़ी से विश्वरिकॉर्ड तक कि वे उपलब्धियां, जिन्होंने दुनिया में  बनाई भारत की पहचान जनता जनार्दन संवाददाता ,  Feb 15, 2017
पिछले कुछ सालों में इसरो ने विज्ञान के क्षेत्र में राष्ट्रीय- अंतरराष्ट्रीय स्तर पर काफी कामयाबी दर्ज की है. एसएलवी-3 भारत का पहला स्वदेशी सैटेलाइट लॉन्च वेहिकल था. इस प्रोजेक्ट के डायरेक्टर पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम थे. ....  लेख पढ़ें
ट्रंप की वीजा पाबंदी: वैज्ञानिकों ने प्रयोगशालाओं के द्वार खोले जनता जनार्दन डेस्क ,  Feb 07, 2017
अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के कठोर आव्रजन नियमों को लेकर एक तरफ जहां पूरी दुनिया में हड़कंप मचा हुआ है, वहीं दूसरी तरफ इन नियमों के आगे न झुकते हुए भारत सहित दुनिया की वैज्ञानिक बिरादरी ने अमेरिका के बाहर फंसे वैज्ञानिकों की मदद के लिए अपनी प्रयोगशालाओं के दरवाजे खोल दिए हैं. ....  लेख पढ़ें
अगली पीढ़ी की सुरक्षा कंपनियों को साइबर हमले से बचाएगी जनता जनार्दन डेस्क ,  Sep 22, 2016
भारतीय कंपनियां जहां दुनिया भर में लोकप्रिय हो रही हैं, वहीं उन पर साइबर हमले का खतरा बढ़ता ही जा रहा है। क्योंकि यहां ज्यादातर कंपनियां पुराने घिसेपिटे सुरक्षा समाधानों का ही इस्तेमाल कर रही हैं। विशेषज्ञों ने यह चेतावनी दी है।भारत में इंटरनेट प्रयोक्ताओं की संख्या पिछले साल 23.8 करोड़ थी, जो इस साल बढ़कर 36 करोड़ हो चुकी है। लेकिन इसके साथ ही साइबर सुरक्षा को लेकर चिंताएं भी बढ़ गई हैं। ....  लेख पढ़ें
लड़खड़ाते ट्विटर को भारत दे सकता है नया जीवन: विशेषज्ञ जनता जनार्दन डेस्क ,  May 05, 2016
दस साल पुरानी माइक्रोब्लागिग वेबसाइट ट्विटर के उपयोगकर्ताओं की रफ्तार ठहर सी गई है और राजस्व में भारी गिरावट आ चुकी है। अब इसके खत्म होने की भविष्यवाणी की जाने लगी है। लेकिन विशेषज्ञों का कहना है कि ट्विटर में अभी बहुत जान बाकी है और सैन फ्रांसिसको की इस कंपनी को भारत में दोबारा जीवन मिल सकता है. ....  लेख पढ़ें
क्या है नेट निरपेक्षता? जनता जनार्दन डेस्क ,  Apr 24, 2015
इंटरनेट ने दुनिया में क्रांतिकारी परिवर्तन का सूत्रपात किया है। मनुष्य के जीवन में यह व्यक्तिगत, सार्वजनिक तथा आर्थिक मोर्चे पर बेहद क्रांतिकारी बदलाव लाने वाला स्रोत बन सकता है, लेकिन यह सबको इंटरनेट की पहुंच समान रूप से उपलब्ध होने पर ही निर्भर करेगा। मतलब, लोग बिना किसी भेदभाव या कीमतों में किसी अंतर के जो चाहें इंटरनेट पर खोज सकें और देख सकें। यहीं से 'इंटरनेट निरपेक्षता' का सिद्धांत निकला है। ....  लेख पढ़ें
आर्यभट्ट के 40 वर्ष बाद मंगल तक पहुंच चुका है भारत जनता जनार्दन डेस्क ,  Apr 21, 2015
भारत ने 40 वर्ष पहले रूसी रॉकेट की मदद से अपना पहला उपग्रह आर्यभट्ट सफलतापूर्वक छोडा और इसके साथ ही अंतरिक्ष में भारत का अभूतपूर्व सफर शुरू हुआ जो आज चंद्रमा और मंगल तक जा पहुंचा है। भारतीय अंतरिक्ष कार्यक्रम के लिहाज से वर्ष 2015 और खासकर अप्रैल का महीना विशेष अहमियत रखता है। आज से 40 वर्ष पहले 1975 में अप्रैल महीने में ही भारत का पहला उपग्रह 358 किलोग्राम वजनी आर्यभट्ट सफलतापूर्वक छोडा गया। ....  लेख पढ़ें
इंटरनेट निरपेक्षता : महत्वपूर्ण बिंदु जनता जनार्दन डेस्क ,  Apr 20, 2015
पिछले कुछ दिनों से चर्चा में रहे इंटरनेट निरपेक्षता से संबंधित महत्वपूर्ण बिंदु इस प्रकार हैं : - 'इंटरनेट निरपेक्षता' शब्द अमेरिकी विद्वान टिम वू ने 2003 में अपने शोध पत्र 'नेटवर्क निरपेक्षता, ब्रॉडबैंड पक्षपात' में गढ़ा था। उन्होंने इस अवधारणा का प्रचार-प्रसार किया। इंटरनेट निरपेक्षता का मतलब क्या है? इसका मतलब यह है कि सरकार और इंटरनेट सेवा प्रदाता कंपनियां इंटरनेट पर सभी डाटा के साथ समान व्यवहार करेंगी। ....  लेख पढ़ें
मंगल के बाद भारत के निशाने पर सूर्य हेमंत राजौरा ,  Mar 04, 2014
मंगलयान के सफल प्रक्षेपण के बाद इसरो अब सूर्य मिशन की तैयारी में है। सूर्य के अध्ययन के लिए साल 2020 तक आदित्य-1 उपग्रह का प्रक्षेपण किया जाएगा। इस अभियान में लगभग 1 अरब 20 करोड़ रुपये खर्च होने का अनुमान है। इस मिशन से सौर वलयो और सौर हवाओं के अध्ययन में मदद मिलेगी।अब तक सिर्फ अमेरिका, यूरोपीय अंतरिक्ष एजेंसी और जापान ने ही सूर्य के अध्ययन के लिए स्पेसक्रॉफ्ट भेजे हैं। चंद्रयान-1 और मंगलयान की सफलता से उत्साहित इसरो के वैज्ञानिक 'आदित्य मिशन' की तैयारी में हैं। एक अरब 20 करोड़ की लागत वाला यह मिशन 2017 और 2020 के बीच में लॉन्च होगा। ....  लेख पढ़ें
वोट दें

अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप के आक्रामक रुख से दुनिया क्या तीसरे विश्वयुद्ध के कगार पर है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
सप्ताह की सबसे चर्चित खबर / लेख