Wednesday, 24 April 2019  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 
घटनाएं
पुलिस हिरासत में हर साल औसतन 98 मौतें जनता जनार्दन डेस्क ,  Jun 19, 2016
राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो के आंकड़े देश में पुलिस हिरासत में होने वाली मौतों के बारे में स्तब्ध कर देने वाली जानकारी दे रहे हैं. इन आंकड़ों के मुताबिक देश में साल 2001 से 2013 के बीच पुलिस हिरासत में 1275 लोगों की मौत हुई है. चौंकाने वाली बात यह है कि इन मौतों के आधे से भी कम मामले ही दर्ज किए गए. ....  लेख पढ़ें
गुलबर्ग जनसंहार: 14 वर्षो तक लड़ी इंसाफ की लड़ाई जनता जनार्दन डेस्क ,  Jun 03, 2016
गुजरात राज्य के अहमदाबाद शहर के चमनपुरा इलाके में अपने हाल पर छोड़ी गई गुलबर्ग सोसाइटी की जर्जर व जली दीवारें उन परिवारों की न्याय की दुखद लड़ाई की मूक गवाह हैं, जिन्होंने 27 फरवरी, 2002 के गोधरा ट्रेन कांड के एक दिन बाद एक जनसंहार में अपना सब कुछ खो दिया। ....  लेख पढ़ें
जम्मू एवं कश्मीर में आतंकवाद से अधिक घातक हैं सड़कें जावेद ट्राली ,  May 16, 2016
जम्मू एवं कश्मीर में आतंकवाद से कहीं अधिक जानें सड़कें लेती हैं। सरकारी आंकड़े बताते हैं कि तेज या फिर लापरवाही से वाहन चलाने के कारण बीते दो साल में सड़क दुर्घटना में मारे गए लोगों की संख्या आतंकवादियों द्वारा मारे गए लोगों की संख्या से पांच गुना अधिक है. ....  लेख पढ़ें
लखनऊ हाईकोर्ट बेंच की शानदार बिल्डिंग, जानिए खासियत जनता जनार्दन संवाददाता ,  Mar 19, 2016
लखनऊ में बनकर तैयार हुआ है, देश का सबसे खूबसूरत हाईकोर्ट. 2012 में शुरु हुई हाईकोर्ट की बिल्डिंग को बनाने में 1300 करोड़ रुपए खर्च हुए। शुरुआती बजट 700 करोड़ था। इसे बनने में तीन साल लगे. इस हाईकोर्ट परिसर में ही माननीय जजों को तनाव से बचाने के लिए फिजियोथैरेपी सेंटर की भी व्यवस्था की गई है. ....  लेख पढ़ें
अंडरवर्ल्ड डॉन अबू सलेम के नाम से आज भी कांपता है बॉलीवुड परवेज़ सागर ,  Jan 06, 2016
अंडरवर्ल्ड की दुनिया में कई ऐसे नाम हैं, जिन्होंने जुर्म को एक नई परिभाषा दे दी. जरायम की अंधेरी गलियों से निकलकर ये अपराधी दुनियाभर की नजरों में आ गए. इनके कारनामों ने आम जनता ही नहीं बल्कि पुलिस महकमे के लिए भी तमाम तरह की दुश्वारियां खड़ी की. ऐसा ही एक नाम है अंडरवर्ल्ड डॉन अबू सलेम का. जिसके नाम से आज भी बॉलीवुड कांप जाता है. ....  लेख पढ़ें
किशोर न्याय विधेयक-2015 को लेकर बंटा सा दिख रहा है समाज जनता जनार्दन डेस्क ,  Dec 26, 2015
किशोर न्याय विधेयक-2015 के राज्यसभा में पारित होने पर देश दो हिस्सों में बंट गया है। समाज का एक वर्ग इसके पक्ष में है जबकि दूसरा तमाम तरह की खामियां गिनाकर इसका विरोध कर रहा है। दंड या सजा का प्रावधान का मकसद मुख्य रूप से कानून तोड़ने वाले को सुधारना होता है लेकिन कई मामलों में कानून तोड़ने या अपराध करने वाला व्यक्ति सजा के दौरान सुधरने की बजाय और बिगड़ जाता है। कई मामलों में सजायाफ्ता कैदी समाज के लिए खतरा बनकर जेल से रिहा हुए हैं। अब यह चर्चा हो रही है कि आखिरकार ऐसे कैदियों या सजायाफ्ता लोगों से कानून किस तरह से निपटे। ....  लेख पढ़ें
महमूदाबाद कोतवाली में हुई ज़ीनत की मौत प्रकरण पर जांच रिपोर्ट शाहनवाज आलम ,  Aug 25, 2015
घटना 11 अगस्त 2015, दिन मंगलवार को कोतवाली महमूदाबाद, सीतापुर में जीनत नाम की 18 वर्षीय लड़की की थाने के टाॅयलेट में कथित तौर पर फांसी लगा लेने की बात सामने आई। जिसमें पुलिस की भूमिका को संदिग्ध मानते हुए स्थानीय लोगों ने पुलिस पर हत्या का आरेप लगाते हुए प्रदर्शन किया जिसमें नदीम नाम के युवक की पुलिस की गोली से मौत हो गई। ....  लेख पढ़ें
मप्र रेल हादसा: आंखों के सामने डूब गई जीवन संगिनी! जनता जनार्दन डेस्क ,  Aug 06, 2015
अजय कुमार का रो-रो कर बुरा हाल है। वह बिहार से हैं। जीवन की गाड़ी को रफ्तार देने मुंबई के लिए निकले थे। मगर मध्य प्रदेश के हरदा जिले में हुए रेल हादसे में उनकी जीवन की गाड़ी को ब्रेक लग गया। जीवन संगिनी कंचन बाई आंखों के सामने पानी में डूबती रही और वह चाहकर भी उसे बचाने का साहस नहीं जुटा पाए। अजय जैसे और भी कई लोग हैं, जिन्होंने अपने परिजनों को मौत के मुंह में समाते देखा है। ....  लेख पढ़ें
क्या सचमुच आतंकवाद का कोई मज़हब नहीं होता? डॉ. परवीन तिवारी ,  Aug 04, 2015
मुंबई धमाकों का गुनहगार फांसी पर चढ़ा दिया गया। भारतीय न्यायव्यवस्था और लोकतंत्र की सुंदरता भी दुनिया के सामने आई। इतने बड़े गुनाह के लिए किसी और मुल्क में पकड़े जाने के बाद ही सरेआम किसी को सजा दे दी जाती लेकिन ये हमारे लोकतंत्र की मजबूती है कि हमारे देश में गुनहगार को भी अपना पक्ष रखने का मौका मिलता है। ....  लेख पढ़ें
हिट एंड रन मामला: 13 वर्षो के घटनाक्रम जनता जनार्दन डेस्क ,  May 06, 2015
बॉलीवुड के मशहूर अभिनेता सलमान खान को एक स्थानीय अदालत ने 2002 के हिंट एंड रन मामले में बुधवार को पांच साल कैद की सजा सुनाई है। हिट एंड रन मामले में 13 साल बाद फैसला हुआ है।इस मामले के मुख्य घटना क्रम निम्न प्रकार हैं। -छह मई 2015 : अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश डी.वी. देशपांडे ने सलमान को 2002 के हिंट एंड रन मामले में दोषी करार दिया और पांच साल कैद की सजा सुनाई। ....  लेख पढ़ें
वोट दें

क्या 2019 लोकसभा चुनाव में NDA पूर्ण बहुमत से सत्ता में आ सकती है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल