Monday, 23 September 2019  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

शिक्षक दिवस विशेष: साई पब्लिक स्कूल में डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन् की जयंती मनायी गयी

अमिय पाण्डेय , Sep 05, 2019, 19:10 pm IST
Keywords: Sai Public School   Teachers Day Celibrate Chandauli   Chandauli UttarPradesh   Sai Public School Mughalsaray  
फ़ॉन्ट साइज :
शिक्षक दिवस विशेष: साई पब्लिक स्कूल में डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन् की जयंती मनायी गयी
चंदौली: कैलाशपुरी स्थित श्री साई पब्लिक स्कूल में बृहस्पतिवार को शिक्षक दिवस के अवसर पर पूर्व राष्ट्रपति डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन् की जयंती मनायी गयी। मुख्य वक्ता डॉ अनिल यादव प्रबन्ध निदेशक व शिक्षकों द्वारा डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन् के चित्र पर माल्यार्पण कर पुष्पांजलि अर्पित की।
   
इस अवसर पर डॉ अनिल यादव ने कहा कि सर्वपल्ली डॉ राधाकृष्णन ने दर्शनशास्त्र की शिक्षा ग्रहण कर दुनिया को वेदांग दर्शन का पाठ सिखाया था। उनके व्यक्तित्व और कृतित्व से प्रभावित होकर वर्ष 1962 से उनके छात्रों ने शिक्षक दिवस मनाने की परम्परा शुरू की।

आगे उन्होंने कहा कि शिक्षक दिवस का मूल पाठ शिक्षा के अक्स में देखना है। यानी शिक्षा हमें बेहतर आदमी बनने की प्रेरणा एवं सीख देती है और इस कार्य में शिक्षक छात्रों के सहयोगी के रूप में भूमिका अदा करते हैं। छात्र-छात्राओं को भी शिक्षा के उद्देश्य को समझते हुए बेहतर आदमी बनने के लिए कार्य करना चाहिए। हम जो भी करते हैं वही हमारे बेहतर आदमी होने का प्रमाण देता है। सत्य, अहिंसा, ईमानदारी, सहयोगी प्रवृत्ति, कर्तव्य परायणता, समय पालन आदि ये सभी हमारे जीवन में ऐसे गुण हैं जो हमें बेहतर नागरिक बनने के लिए प्रेरणा देते हैं। इसके अलावा भी बहुत सारे ऐसे गुण और दैनिक जीवन की क्रियाएं हैं जो हमें बेहतर नागरिक बनने की सोच और साहस प्रदान करते हैं।
   
इस अवसर पर समस्त छात्र-छात्राओं ने भी डॉ सर्वपल्ली राधाकृष्णन् के चित्र पर पुष्प अर्पित कर भावनाओं को प्रकट किया। गोष्ठी का संचालन रेशमा खानम ने किया। इस अवसर पर प्रधानाचार्य राजकुमार जायसवाल, शिक्षिका सीमा पांडेय, रत्ना सिंह, रीता श्रीवास्तव, चंदा यादव, गीता पाल, शिल्पा खेमानी, पूजा यादव, यासिर जावेद, अजीत कुमार के अलावा विजय यादव, अजीत विश्वकर्मा, पूजा देवी आदि कर्मचारी मौजूद थे
अन्य शिक्षा लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack