Monday, 14 October 2019  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

असम में जहरीली शराब से अब तक 85 मौत, अड्डों पर एक्शन

जनता जनार्दन संवाददाता , Feb 23, 2019, 21:10 pm IST
Keywords: Wine Recoverd   Wine News   Assam Dead   Assam News   Jorhat   असम   जहरीली शराब  
फ़ॉन्ट साइज :
असम में जहरीली शराब से अब तक 85 मौत, अड्डों पर एक्शन

दिल्ली: असम में जहरीली शराब से मरने वालों की संख्या बढ़ती जा रही है. अब तक शराब पीकर मरने वालों की तादाद 85 हो गई है. प्रदेश सरकार ने शनिवार को यह जानकारी दी है. वहीं, दूसरी तरफ प्रशासन ने शराब के अवैध अड्डों पर कार्रवाई करते हुए हजारों लीटर शराब नष्ट की है.

स्वास्थ्य मंत्री हिमांता बिस्वा सरमा ने शनिवार को गोलाघाट सिविल अस्पताल का दौरा किया. उन्होंने बताया कि जोरहाट मेडिकल कॉलेज में भर्ती जहरीली शराब के शिकार 221 लोगों में से 46 लोगों की मौत हो गई, वहीं गोलाघाट में भर्ती 93 लोगों में से 35 लोगों की मौत हो गई. तीताबोर उपखंडीय अस्पताल में चार लोगों के मरने से मृतकों की कुल संख्या 85 हो गई.

मौत का कोहराम मचाने वाला यह अवैध खेल गुरुवार रात शुरू हुआ था, जब गोलाघाट के सालमोरा चाय बागान और जोरहाट जिला के तीताबोर उपमंडल के दो सुदूर गांवों में शराब पीने से लोगों की हालत बिगड़ गई और वह मौत के मुंह में चले गए. स्थानीय लोगों के अनुसार, चाय के बागान में गुरुवार रात कई लोगों ने एक ही दुकानदार से शराब खरीदकर पी थी. उनमें से कई तो तुरंत बीमार हो गए और कई लोगों को तो अस्पताल तक नहीं पहुंचाया जा सका.

मृतकों के लिए मुआवजे की मांग

खुमतई से बीजेपी विधायक मृणाल सैकिया ने बताया कि 100 से अधिक लोगों ने शराब पी थी. उनका यह संदेह है कि ये सारी शराब एक ही विक्रेता से खरीदी गई है. सैकिया ने बताया कि उन्होंने जिला प्रशासन से इस मामले की जांच करने और फौरन कार्रवाई का अनुरोध किया है. वहीं, कांग्रेस विधायक रूपज्योति कुर्मी ने आबकारी मंत्री परिमल शुक्लवैद्य के इस्तीफे की मांग करते हुए मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल से मृतकों के परिजनों को मुआवजा देने की अपील की है.

बढ़ सकता है मृतकों का आंकड़ा

असम में गुरुवार रात से अब तक इस घटना में जान गंवाने वाले लोगों की संख्या लगातार बढ़ रही है. यहां जोरहाट कॉलेज अस्पताल का दौरा करने के बाद स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि मौत का आंकड़ा हर मिनट बढ़ रहा है. शर्मा ने अस्पताल में कुछ मरीजों से मिलने के बाद बताया था कि मृतकों और अस्पतालों में भर्ती लोगों की संख्या हर मिनट बदल रही है.  

यूपी- उत्तराखंड में 100 से ज्यादा मौतें

बता दें कि कुछ दिन पहले ही उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में जहरीली शराब पीने से 100 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई थी. ये घटना सहारनपुर, रुड़की और कुशीनगर में हुई थी. सहारनपुर में 64, रुड़की में 26 और कुशीनगर में 8 लोगों की मौत हुई थी. उत्तर प्रदेश सरकार के मुताबिक जहरीली शराब से मरने वालों में ज्यादातर वे लोग थे जो उत्तराखंड में एक तेरहवीं संस्कार में शरीक होने गए थे, जहां इन लोगों ने शराब का सेवन किया था. इन मौतों के बाद योगी सरकार ने अवैध शराब के खिलाफ पूरे प्रदेश में अभियान शुरू किया था. इस मामले में तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया था.

अन्य हादसा लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack