अमेरिकी एयरपोर्ट पर फिर रोके गए शाहरुख खान, अमेरिका ने कहा- माफी, पर राजनयिक भी रोके जाते हैं

अमेरिकी एयरपोर्ट पर फिर रोके गए शाहरुख खान, अमेरिका ने कहा- माफी, पर राजनयिक भी रोके जाते हैं नई दिल्लीः शाहरुख खान को एक बार फिर अमेरिकी एयरपोर्ट इमिग्रेशन में रोक लिया गया. इस बात की जानकारी खुद शाहरुख खान ने ट्वीट कर दी.

लॉस एंजलिस एयरपोर्ट पर रोके जाने से परेशान शाहरुख ने ट्वीट किया कि वो मौजूदा हालात में दुनिया में सुरक्षा को लेकर चल रहे माहौल को समझते हैं मगर हर बार अमेरिकी एयरपोर्ट पर रोके जाने पर बुरा लगता है.

एयरपोर्ट पर रोके गए शाहरुख ने उसके बाद थोड़े मजाकिया लहजे में ट्वीट किया कि अच्छी बात ये है कि इंतजार के दौरान मैं यहां पोकेमॉन खेल रहा हूं. हालांकि अमेरिका की सरकार ने इस बात के लिए माफी भी मांग ली है.

भारत में अमरीकी राजदूत रिचर्ड वर्मा ने बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख़ को लॉस एंजलिस एयरपोर्ट पर हिरासत में लिए जाने पर खेद जताया है.

उन्होंने ट्वीट किया, 'अफ़सोस है कि शाहरुख़ खान को परेशानी उठानी पड़ी. हम ये सुनिश्चित करने के लिए काम कर रहे हैं कि ऐसा दोबारा न हो. आपका काम लाखों लोगों को प्रेरित करता है, जिनमें अमरीकी लोग भी शामिल हैं.'

बता दें कि शाहरुख खान की फ्लाइट मुंबई से दुबई होते हुए लॉस एंजलिस जाने वाली एमिरेट फ्लाइट ईके21 एम थी. दरअसल यूनिवर्सिटी ऑफ साउथ कैलिफोर्निया में शाहरुख के बेटे आर्यन का एडमिशन हुआ है, शाहरुख उसी के सिलसिले में यूएस जा रहे थे उनके साथ उनका बेटा और बेटी दोनों मौजूद थे.

फ्लाइट बोर्ड करते समय ही शाहरुख के बोर्डिंग पास पर दुबई में ही सेकंडरी सिक्यॉरिटी स्क्रीनिंग सेलेक्शन यानी एसएसएसएस का टैग लगा दिया गया था. बोर्डिंग पास पर एसएसएसएस लिखने का मतलब होता है, हर चेक पॉइंट पर विस्तार से और दोबारा चेकिंग हो, आप संदेह के दायरे में हैं.

इसके बाद शाहरुख ने अपने स्टाफ को इस बारे में सूचित किया फिर मुंबई में शाहरुख के स्टाफ ने विदेश मंत्रालय और गृह मंत्रालय से संपर्क साधा.  दोनों ही मंत्रालयों ने अमेरिकी इमिग्रेशन में संपर्क भी साधा लेकिन उसके बावजूद भी शाहरुख खान को डिटेन किया गया क्योंकि उनके बोर्डिंग पास पर  एसएसएसएस का बैच लगा था.

इसके बाद लॉस एंजेल्स में दोपहर 2:30 बजे शाहरुख पहुंचे और 5:30 बजे शाहरुख को छोड़ा गया. शाहरुख के करीबी सूत्रों की मानें तो अमेरिकी अधिकारी बहुत पोलाइट और कर्टियस थे,  कुछ सवाल किए गए. इस बीच शाहरुख को अलग कमरे में ले जाया गया पूछताछ के लिए. उन्हें और उनके बच्चों को अलग रखा गया और ढाई घंटे तक पूछताछ चली हालांकि पूछताछ साधारण थी.

अब अमेरिकी सरकार ने इस पूरे मसले पर शाहरुख खान से माफी मांगी है. सेंट्रल एशिया की असिस्टेंट सेक्रेट्री निशा बिस्वाल ने खुद ट्वीट कर शाहरुख खान को हुई परेशानी के लिए माफी मांगी है. निशा ने ट्वीट कर कहा है कि एयरपोर्ट पर हुई परेशानी के लिए मांफी चाहेंगे शाहरुख खान. लेकिन अमेरिकी राजनयिकों को भी अधिक जांच के लिए रोका जाता है.

बता दें कि इससे पहले अप्रैल 2012 में भी शाहरुख को न्यूयॉर्क एयरपोर्ट पर हिरासत में लिया था. वहां दो घंटों तक पूछताछ किए जाने के बाद उन्हें छोड़ा दिया गया था. हालांकि शाहरुख ने कुछ समय पहले कहा था कि वह उस घटना को भूल चुके हैं, लेकिन आज फिर उनको अमेरिकी एयरपोर्ट  पर रोके जाने से शाहरुख का गुस्सा ट्विटर पर झलक ही गया.

वहीं 2012 से पहले 2009 में  भी अमेरिकी इमिग्रेशन अधिकारियों ने शाहरुख खान को न्यू जर्सी को नेवार्क लिबर्टी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर हिरासत में  लिया था. तब अधिकारियों का कहना था कि खान का नाम उनके कंप्यूटर पर अलर्ट लिस्ट में शामिल था. तब शाहरुख खान से कई सवाल पूछे गए थे कि वह अमेरिका क्यों आए हैं. उनके बैग भी चेक किए गए थे. उन्हें करीब एक घंटे तक कोई फोन कॉल भी नहीं करने दी गई थी.
अन्य चर्चा में लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack