लाइफ एंड स्टाइल
...तो गर्मियों में भी दमदमाने लगेगी आपकी त्वचा जनता जनार्दन डेस्क ,  Apr 01, 2015
मेडिकल सर्विसेज एवं आरएंडबी की उपाध्यक्ष एवं काया स्किन क्लीनिक की प्रमुख डॉक्टर संगीता वेलासकर ने यहां इस मौसम में अपनी त्वचा की देखभाल के कुछ ऐसे ही सुझाव दिए हैं। ऐसे सनस्क्रिन का चुनाव करें जो आपकी त्वचा को सूर्य की हानिकारक किरणों से बचाए। भारतीय त्वचा के हिसाब से 30 एसपीएफ वाला सनस्क्रिन सर्वश्रेष्ठ है। ....  लेख पढ़ें
चालाक कंपनियों की चाल है वेलेंटाइन डे  बी.पी. गौतम ,  Feb 16, 2013
अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया, दक्षिण-उत्तर कोरिया, चीन आदि देशों की नजर में भारत एक सर्वश्रेष्ठ बाजार है और उनकी नजर में यहां रहने वाले लोग सिर्फ एक ग्राहक। विदेशी कंपनियां भारतीयों को सबसे भोला ग्राहक समझती हैं, क्योंकि थोड़ी सी भूमिका बनाने के बाद ही भारतीय आसानी से चंगुल में फंस जाते हैं। ....  लेख पढ़ें
वेलेंटाइन डे पर संगीत के जरिए कहिए दिल की बात! जनता जनार्दन संवाददाता ,  Feb 11, 2012
यदि आप इस वेलेंटाइन डे पर अपनी प्रेमिका या प्रेमी को लुभाना चाहते हैं तो उसे फिल्मी तरीके से कोई रोमांटिक गीत समर्पित कर सकते हैं। बॉलीवुड के कुछ ऐसे रोमांसप्रधान गीत हैं जो युवक-युवतियों के प्रेम के सम्बंध में इस वेलेंटाइन डे पर और भी प्रगाढ़ता ला सकते हैं। ....  लेख पढ़ें
दुनियाभर में गर्मजोशी से किया गया नववर्ष 2012 का स्वागत जनता जनार्दन संवाददाता ,  Jan 01, 2012
दुनियाभर में नए साल 2012 का स्वागत बेहद गर्मजोशी के साथ किया गया। भारत में जैसे ही घड़ी की सुइयों ने 12 बजाए देशभर में नए साल की अगवानी के साथ लोगों ने एक-दूसरे को नववर्ष की बधाई दी और जमकर आतिशबाजी की। सबसे पहले ऑस्ट्रेलिया में नए साल का जश्न मनाया गया, क्योंकि सबसे पहले वहीं सूर्योदय होता है। अमेरिका, इंग्लैंड, रूस, जापान, चीन, उत्तरी और दक्षिणी कोरिया सहित पूरी दुनिया के लोगों ने 2011 को अलविदा कहा और 'हैप्पी न्यू ईयर' कहकर नए साल का जश्न मनाना शुरू कर दिया। ....  लेख पढ़ें
ये विदेशी  भारत में आके सिखाते है योग!  जनता जनार्दन संवाददाता ,  Sep 19, 2011
पश्चिमी देशों के नागरिकों का एक समूह यहां सालों से भारतीयों को प्रचीन ध्यान व योग की तकनीक सिखा रहा है। उनके भारतीय छात्रों की संख्या भी धीरे-धीरे बढ़ रही है और उन्हें सराहा भी जा रहा है।आठ साल पहले 2003 में वे दिल्ली से सटे गुड़गांव आए थे। इन आठ साल में परमहंस योगानंद के इन विदेशी शिष्यों, जिनमें ज्यादातर अमेरिकी हैं, ने 'सनातन धर्म' के लिए प्रतिबद्धता दिखाते हुए अभूतपूर्व काम किया है। ....  लेख पढ़ें
बारिश में गहनों का रखें खास ख्याल जनता जनार्दन संवाददाता ,  Aug 07, 2011
बारिश के दिनों में आभूषणों का खास ख्याल रखने की जरूरत होती है, ताकि उनकी चमक बरकरार रखी जा सके। विशेषज्ञों ने विभिन्न आभूषणों की रौनक बरकार रखने के लिए अलग-अलग सलाह दी है। ....  लेख पढ़ें
फादर्स डे : पिता अब दोस्त ज्यादा जनता जनार्दन संवाददाता ,  Jun 18, 2011
वह दिन अब हवा हुए जब घर में पिता का रूआब ज्यादा चलता था और बच्चे उनसे काफी खौफ खाते थे। पिता और बच्चों के बीच सिर्फ पढ़ने पढ़ाने तक की ही बातें होती थीं। बच्चे अपनी माँ के द्वारा अपनी माँगें पिता तक पहुंचाते थे, लेकिन आज के नये जमाने में पिता की भूमिका समय के साथ बदली और अपने बच्चों के साथ उनके रिश्तों में काफी हद तक बदलाव आया है। दोनो के बीच पनपते दोस्ताना रिश्ते जहाँ बच्चे के समग्र विकास में सहायक होते जा रहे हैं वहीं परिवार का माहौल दिनों दिन बेहतर बनाने में सहायक हो रहा हैं। ....  लेख पढ़ें
खूबसूरती बढ़ाए सेक्स जनता जनार्दन संवाददाता ,  May 03, 2011
सेक्स में चरमसुख की प्राप्ति जहां तनमन को संतुष्टि देती है,वहीं मन प्रफुल्लित रहने से सौंदर्य में भी निखार आता है। विवाह के बाद आमतौर पर महिलाओ का रूप एकदम से खिल जाता है। आँखों में एक अलग सी चमक आ जाती है। सेक्स संबंधो में तन के साथ-साथ मन का समर्पण भी जरूरी है। यदि पत्नी के दिल को पति की किसी बात से चोट पहुंची है, तो सेक्स के लिए उसका तनमन न तो पति को सहयोग दे पाएगा, न ही वह सहवास के दौरान उत्तेजना महसूस कर पाएगी। यही बात पत्नी पर भी लागू होती है। यदि पति किसी बात से तनावग्रस्त है तो इस से पति की यौन क्षमता पर भी नकारात्मक असर पडे़गा। ....  लेख पढ़ें
खुशी बाँटोगे, तो खुशी मिलेगी जनता जनार्दन संवाददाता ,  Apr 16, 2011
'बोया पेड़ बबूल का तो आम कहाँ से खाओगे', या ' जो बोओगे, वही तो काटोगे' की कहावत आम जिंदगी की सचाई है, पर रोजमर्रा की भाग-दौड़ में हम जीवन के इस सच को भूल जाते हैं। अगर आपको विभिन्न क्षेत्रों में व्यक्तियों के साथ बातचीत करनी है तो आपका ऊर्जा का स्तर बहुत ऊंचा होना चाहिए। इसको बनाए रखने के लिए प्रत्येक के पास विभिन्न रुचि होनी चाहिए। ऊर्जा के स्तर को बनाए रखने के लिए इसका अनुसरण उन बातों के लिए कीजिए जो आपके लिए महत्वपूर्ण हो। एक नए आविष्कार और खोज की आवश्यकता है जो इस दिशा में हमारी मदद कर सके। ....  लेख पढ़ें
सेक्स से जुड़े कुछ सच-झूठ जनता जनार्दन संवाददाता ,  Apr 09, 2011
इतिहास हमें सिखाता है कि लोग उसी को सच मानते है जो असल मे खुद सुनना चाहते है, हमारा समाज अंतरंगता की भूख से मर रहा है, और हमारी संस्कृति मे इस भूख को लेकर कई ऐसे झूठ है जिन पर हम विश्वास करते है। यह सच है कि हम अंतरंग गहराई से यौन प्राणी है, पर इस झूठ पर विश्वास करना कि सभोग, रिश्तो की अंतरंगता को बढ़ाने का एक मार्ग है बिलकुल गलत है, हम सब इस झूठ को सच मानते है क्योंकि हम सभी इसे सबसे सरल उपाय मानते है। निश्चित रूप से हमारी संभोग इच्छाएं ठीक उतनी ही पुरानी है जितनी की मानवता। ....  लेख पढ़ें
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल