Wednesday, 17 April 2024  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

हमने दुनिया को दिखाया अमेरिका के पास हार मानने का ऑप्शन नहीं: राष्ट्रपति बाइडेन

जनता जनार्दन संवाददाता , Apr 29, 2021, 12:27 pm IST
Keywords: Joe Biden   Americas President   President Of AmeRICA   Soul America  
फ़ॉन्ट साइज :
हमने दुनिया को दिखाया अमेरिका के पास हार मानने का ऑप्शन नहीं: राष्ट्रपति बाइडेन

वॉशिंगटन: अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कांग्रेस को दिए अपने पहले संयुक्त संबोधन में कहा कि अमेरिका फिर से प्रगति की राह पर है. बाइडेन ने अमेरिकी कांग्रेस में कहा, हम फिर से काम कर रहे हैं, फिर से सपने देख रहे हैं, फिर से नयी चीजें तलाश रहे हैं.दुनिया का फिर से नेतृत्व कर रहे हैं. हमने एक-दूसरे और दुनिया को दिखाया है कि अमेरिका में हार मानने का कोई विकल्प नहीं है.

बाइडेन ने अर्थव्यवस्था पर कहा, अमेरिका को वापसी के लिए और अधिक करने की जरूरत है. हम बेहतर तरीके से वापसी करेंगे. अमेरिका के लोगों से कोविड रोधी टीका लगवाने की अपील करते हुए कहा उन्होंने कहा, 'जाइए, टीकाकरण कराइए. टीके उपलब्ध हैं.'

चीन से टकराव नहीं चाहता अमेरिका
बाइडेन ने कहा, "अमेरिका हिंद-प्रशांत क्षेत्र में सेना की मजबूत उपस्थिति बनाए रखेगा. यह संघर्ष शुरू करने के लिए नहीं है बल्कि दूसरे देशों को ऐसा करने से रोकने के लिए है. मैंने चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग से कहा कि अमेरिका प्रतिस्पर्धा का स्वागत करता है, लेकिन टकराव नहीं चाहता."

प्रतिनिधि सभा की स्पीकर नैंसी पेलोसी ने बाइडेन को किया था आमंत्रित
अमेरिका में प्रतिनिधि सभा की स्पीकर नैंसी पेलोसी ने बाइडेन को आमंत्रित किया था.  राष्ट्रपति बाइडेन कांग्रेस में किसी संयुक्त सत्र को पहली बार संबोधित किया है. पेलोसी ने बाइडेन को लिखे पत्र में कहा था कि 'करीब 100 दिन पहले जब आपने राष्ट्रपति के तौर पर पदभार संभाला था तब आपने बहुत आशा भरी भावना से संकल्प लिया था कि मदद आने वाली है. अब आपके ऐतिहासिक और परिवर्तनकारी नेतृत्व के कारण मदद यहां पहुंच गई है. इसी भावना से मैं आपको इस ऐतिहासिक क्षण की चुनौतियों और अवसरों पर अपने विचार शेयर करने की खातिर बुधवार 28 अप्रैल को कांग्रेस के संयुक्त सत्र को संबोधित करने के लिए आमंत्रित करती हूं.' इसके बाद राष्ट्रपति बाइडेन ने पेलोसी के आमंत्रण को स्वीकार कर लिया.

वोट दें

क्या आप कोरोना संकट में केंद्र व राज्य सरकारों की कोशिशों से संतुष्ट हैं?

हां
नहीं
बताना मुश्किल