समाज
  • खबरें
  • लेख
गूगल ने ग्लास साइंटिस्ट मार्गा फॉलस्टिच की 103वीं जयंती पर बनाया डूडल जनता जनार्दन संवाददाता ,  Jun 16, 2018
सर्च इंजन गूगल आज ग्लास साइंटिस्ट फॉलस्टिच को याद कर रहा है. मार्गा फॉलस्टिच जर्मनी की वो महिला थीं जिन्हें शीशे की 300 किस्मों पर काम किया. गूगल ने आज उनकी 103वीं जयंती पर अपने होम पेज पर विज्ञान जगत में उनके योगदान को याद किया है. गूगल ने एक ग्लास और उससे जुड़े आविष्कारों के एक कोलाज का एक डूडल अपने होम पेज पर लगाया है. ....  समाचार पढ़ें
गूगल ने डॉक्टर वर्जीनिया ऐपगार के 109वें जन्मदिन पर बनाया डूडल जनता जनार्दन संवाददाता ,  Jun 07, 2018
सर्च इंजन गूगल ने आज होमपेज पर एक खास डूडल बनाया है. यह डूडल अमेरिका की एनेस्थिसियॉलॉजिस्ट डॉक्टर वर्जीनिया ऐपगार के 109वें जन्मदिन के मौके पर बनाया गया है. वर्जीनिया ऐपगार को 'ऐपगार स्कोर' के बारे में अपनी खोज के लिए जाना जाता है. इसके जरिए नवजात शिशु के स्वास्थ्य से जुड़ी सभी जानकारियों का पता लगाया जाता है. ....  समाचार पढ़ें
मदर्स डे 2018: गूगल ने डायनासोर डूडल बना किया हर मां को सलाम जनता जनार्दन संवाददाता ,  May 13, 2018
किसी ने सच ही कहा है कि भगवान हर जगह नहीं आ सकते, इसलिए उन्होंने मां को बनाया. मां के इसी प्यार, समर्पण और ताकत को सम्मान देने के लिए सर्च इंजन गूगल ने मदर्स डे पर एक बेहतरीन रंग-बिरंगा डूडल बनाया है. इस डूडल में एक मादा डायनासोर और बच्चा डायनासोर है. जिनके ऊपर हाथों के कुछ छापे बने हुए हैं. ....  समाचार पढ़ें
शिवम आशुतोष ने जिलाई चंदौली में सिविल सर्विसेज की मशाल, बने आईएएस अमिय पाण्डेय ,  Apr 30, 2018
बिहार राज्य से सटा चंदौली जनपद अपनी जातीय कट्टरता और पुरातन सोच के लिए मशहूर है. शिक्षा यहां आजीविका की वजह नहीं है. डिग्री और दबंगई का साथ आपस में जरूर है. ऐसे माहौल में इस इलाके से किसी भी होनहार का सिविल सेवा में चुना जाना एवरेस्ट पर फतह से ज्यादा कठिन है. पर जिले के धानापुर विकासखंड के नेकनामपुर निवासी शिवम आशुतोष ने यह कारनामा कर दिखाया है. ....  समाचार पढ़ें
गूगल ने बहुआयामी कमलादेवी चट्टोपाध्याय की 115वीं जयंती पर डूडल बनाकर किया याद जनता जनार्दन संवाददाता ,  Apr 03, 2018
भारतीय समाज सुधारक और स्वतंत्रता सेनानी कमलादेवी चट्टोपाध्याय की 115वीं जयंती पर गूगल ने डूडल बनाकर याद किया है. कमलादेवी चट्टोपाध्याय का जन्म 3 अप्रैल, 1903 को हुआ था. गूगल ने कमलादेवी चट्टोपाध्याय की 115वीं जयंती टाइटल से डूडल बनाया है. डूडल में कमलादेवी चट्टोपाध्याय के किए गए कार्यों की झलक भी साफ मिल जाती है. ....  समाचार पढ़ें
मोदी सरकार ने की हज सब्सिडी खत्म, कहा इसका लाभ जरूरतमंद मुसलमानों को नहीं मिलता था अजय पुंज ,  Jan 16, 2018
मोदी सरकार ने हज यात्रा पर जाने वाले मुसलमानों को करारा झटका दिया है. केंद्र सरकार ने हज यात्रियों को मिलने वाली सब्सिडी खत्म कर दी है. हर साल एक लाख 75 हजार हज यात्रियों को सब्सिडी दी जाती थी. इस पर सरकार को सलाना 700 करोड़ रुपये खर्च करने पड़ते थे. ....  समाचार पढ़ें
तत्‍काल तीन तलाक अब बना अपराधः कैबिनेट ने ट्रिपल तलाक बिल को मंजूरी दी जनता जनार्दन संवाददाता ,  Dec 15, 2017
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्‍यक्षता में शुक्रवार को हुई कैबिनेट की बैठक में मुस्लिम महिला (विवाह अधिकारों का संरक्षण) बिल यानि ट्रिपल तलाक बिल को मंजूरी दे दी है. ये बिल संसद के शीतकालीन सत्र में सरकार का मुख्‍य एजेंडा हैं. ....  समाचार पढ़ें
होमी व्याराल्लाः भारत की 'पहली महिला फोटो पत्रकार' के 104वें जन्मदिन पर समर्पित गूगल डूडल जनता जनार्दन संवाददाता ,  Dec 09, 2017
सर्च इंजन गूगल ने गुजरात के पारसी परिवार में जन्मीं और पद्म विभूषण पुरस्कार से सम्मानित भारत की पहली महिला फोटो जनर्लिस्ट होमी व्याराल्ला को उनके 104वें जन्मदिन पर डूडल बनाकर श्रद्धांजलि दी है. होमी व्याराल्ला का जन्म गुजरात में 9 दिसंबर 1913 को हुआ था. ....  समाचार पढ़ें
मैंने आजादी मांगी थी, पर अभी भी मैं अपने प्रेमी से मिलने को आजाद नहीं, कॉलेज जेल हैः अखिला उर्फ हादिया जनता जनार्दन संवाददाता ,  Nov 29, 2017
सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद अखिला उर्फ हादिया अपनी पढ़ाई पूरी करने तमिलनाडु के सलेम के होमियोपैथी कॉलेज पहुंच गई है, पर कॉलेज के नियमों के मुताबिक यहां उसे अपने परिवारवालों को छोड़ किसी बाहरी से मिलने की आजादी नहीं है, जिस पर एतराज जाहिर करते हुए बुधवार को पत्रकारों से बात करते हुए हादिया ने कहा कि मैंने कोर्ट से आजादी मांगी और मैं अपने पति से मिलना चाहती हूं लेकिन सच यही है कि मैं अभी तक आजाद नहीं हूं. ....  समाचार पढ़ें
रुखमाबाई राउत का 153वां जन्मदिवस: गूगल ने भारत की पहली महिला फिजिशियन को समर्पित किया डूडल जनता जनार्दन संवाददाता ,  Nov 22, 2017
अगर आज आप गूगल इंडिया का पेज देखेंगे तो वहां आपको काफी चटख रंग की साड़ी में एक महिला की तस्वीर नजर आएगी जो अपने गले में एक स्टेथोस्कोप भी डाले हुए है. तस्वीर में महिला के पीछे आप एक अस्पताल में कुछ नर्सों को रोगियों की देखभाल करते भी देखेंगे. यह महिला कोई और नही यह हैं डा. रुखमाबाई राउत जिन्हें रुक्माबाई राउत के नाम से भी जाना जाता है. ....  समाचार पढ़ें
मुस्लिम कलाकार बनाते हैं हिंदुओं के विवाह मंडप जनता जनार्दन डेस्क ,  Jul 12, 2018
मुस्लिम समुदाय के कारीगर अपनी कलात्मकता का उपयोग अब हिंदुओं का विवाह मंडप बनाने में कर रहे हैं। कारीगर मोहम्मद बिलाल अजीमुद्दीन ने बताया कि हाल ही में उन्होंने मुंबई के होटल ग्रैंड हयात में हिंदू विवाह का एक मंडल बनाया है। उन्होंने कहा, 'ग्राहक हमसे कुछ उत्कृष्ट डिजाइन की अपेक्षा रखते हैं।' ....  लेख पढ़ें
मीडिया आजादी से पहले और बादः पत्रकारिता और पैसे के प्रलोभन का व्यभिचार वेश्यावृत्ति जितना आदिकालीन त्रिभुवन ,  May 31, 2018
पत्रकारिता का तो प्रमुख कर्तव्य हो गया है कि वह नायकत्व को स्वीकार करे और उसकी पूजा करे। उसकी छत्रछाया में समाचार पत्रों का स्थान सनसनी ने और विवेकसम्मत मत का विवेकहीन भावावेश ने ले लिया है। लार्ड सेलिसबरी ने नार्थक्लिप पत्रकारिता के बारे में कहा है कि वह तो कार्यालय-कर्मचारियों का लेखन है। भारतीय पत्रकारिता तो उससे भी दो कदम आगे निकल गई है। ....  लेख पढ़ें
पोस्ट ट्रुथ एरा में वायरल झूठ, मीडिया मिट्ठू और चतुर शिकारियों के सम्मोहक पिंजरों में छटपटाते सच की कहानी त्रिभुवन ,  Apr 07, 2018
यह एक विचित्र बात है कि मीडिया अक्सर विधायिका, कार्यपालिका और न्यायपालिका की भूमिका निभाने की कोशिशें करने लगता है, लेकिन जैसे ही कला, साहित्य और संगीत की बात आएगी तो वह इनसे आश्चर्यजनक दूरी बनाने लगता है। उच्च संस्कृति, स्वतंत्रता, समृद्धि और न्याय पर आधारित सौंदर्यबोध वाले समाज के निर्माण की आशा एक सुंदर फंतासी है। ....  लेख पढ़ें
महाराष्ट्र हिंसा व 200 साल पुरानी जंगः क्या वाकई कोरेगांव-भीमा की लड़ाई ब्राह्मण-दलित युद्ध था? तथ्य जनता जनार्दन डेस्क ,  Jan 03, 2018
कोरेगांव की लड़ाई 1 जनवरी 1818 में ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी और मराठा साम्राज्य के पेशवा गुट के बीच, कोरेगांव भीमा में लड़ी गई थी. यह वह जगह है जहां पर उस वक्त अछूत कहलाए जाने वाले महारों (दलितों) ने पेशवा बाजीराव द्वितीय के सैनिकों को लोहे के चने चबवा दिए थे. दरअसल ये महार अंग्रेजों की ईस्ट इंडिया कंपनी की ओर से लड़ रहे थे और इसी युद्ध के बाद पेशवाओं के राज का अंत हुआ था. ....  लेख पढ़ें
अंधी रहस्यवादी बाबा वांगाः मंगल से हमला, समय की गति से यात्रा, पृथ्वी का अंत और अन्य भविष्यवाणियां जनता जनार्दन संवाददाता ,  Dec 25, 2017
उसके समर्थकों का मानना है कि बुल्गारिया की भविष्यवक्ता बाबा वेन्गा की भविष्यवाणियां सच साबित होती हैं। उन्होंने फ्रांस और अमेरिका में हुई आंतकी घटनाओं की भविष्यवाणी की थी जो सच साबित हुईं। बुल्गारिया की भविष्यवक्ता बाबा वेन्गा ने 9/11 आतंकी हमले से लेकर सुनामी, फुकुशिमा हादसे और आईएसआईएस जैसे आतंकी संगठनों के बारे में भी भविष्यवाणियां की थीं, ....  लेख पढ़ें
कैसे बने 'बच्चों के कल्याण के लिए समग्र वातावरण' पर संगोष्ठी विम्मी करण सूद ,  Dec 05, 2017
भारत की आबादी का करीब 40 प्रतिशत हिस्सा 18 वर्ष से कम उम्र के बच्चों का हैं। बच्चे समाज का भविष्य हैं और उनके समग्र विकास के लिए उपयुक्त वातावरण का निर्माण करना समाज और सरकार दोनों की जिम्मेवारी है। पर यह अनुकूल वातावरण कैसे बने और समाज का घटक होने के नाते हमारी क्या ज़िम्मेदारी है- इसके साथ-साथ और भी कई ऐसे महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा करने और समाधान तलाशने के लिए प्रसिद्ध स्वंयसेवी संस्था 'नारीताव फोरम' ने बीपी कोइराला नेपाल इंडिया फाउंडेशन, नेपाल दूतावास, नई दिल्ली के साथ मिलकर 'बच्चों के कल्याण के लिए समग्र वातावरण' नामक एक दिवसीय परिचर्चा का आयोजन किया. ....  लेख पढ़ें
महिलाओं के लिए एक ही रास्ता-उद्यमिता अपराजिता गुप्ता ,  Nov 20, 2017
महिला उद्यमी बनना कई लोगों की आकांक्षा हो सकती है, लेकिन क्या उद्यमी बनना इतना आसान है? रविवार को महिला उद्यमिता दिवस था। कई लोगों का कहना है कि उद्यमिता डरपोक लोगों के लिए नहीं है। नौकरशाही और लैंगिक बाधाओं से भरे मार्ग के लिए आत्मविश्वास से लबरेज होना जरूरी है। ....  लेख पढ़ें
बदले हालात में शिक्षा के प्रति उत्साहित हुईं मुस्लिम लड़कियां अबु जफर ,  Nov 12, 2017
बिहार के कटिहार जिले की गृहिणी और दो बेटों की मां गजाला तस्नीम के लिए 31 अक्टूबर का दिन खास था क्योंकि इस दिन उसका सपना साकार हुआ था। तीन साल की कड़ी मेहनत के बाद वह बिहार न्यायिक सेवा प्रतियोगिता परीक्षा में 65वें स्थान के साथ उसका चयनित हुई थीं। जज की कुर्सी पर बैठने का उसका ख्वाब पूरा था। ....  लेख पढ़ें
महिलाशक्ति: आदिवासी महिलाओं ने वन-माफिया की लूट से बचाया जंगल मुदिता गिरोत्रा ,  Nov 05, 2017
पानी की बोतलों और डंडों से लैस आदिवासी महिलाओं का यह समूह झारखंड के पूर्वी सिंहभूम जिले स्थित मुतुर्खुम गांव का है, जो अपने आसपास की साल के जंगलों में मीलों पैदल चलती हैं। इनका मसकद जंगलों को वन-माफिया की लूट से को बचाना है। अपनी सुरक्षा के लिए केवल एक कुत्ते को साथ लेकर चलने वाली इन महिलाओं का घने वन में लगतार आना-जाना रहा है। इस तरह जंगल के साथ इनका गहरा सहजीवी रिश्ता बन गया है। ....  लेख पढ़ें
ऐसा क्यों होता है कि हम दोस्तों की समस्याएं तो सुलझा लेते हैं, अपनी ? जनता जनार्दन डेस्क ,  Nov 01, 2017
ऐसा क्यों होता है कि हम दोस्तों की समस्याएं तो सुलझा लेते हैं, अपनी नहीं शोधकर्ताओं ने इस बात का पता लगाया है कि हम अक्सर दूसरे लोगों की समस्याएं सुलझाने में तो सफल रहते हैं लेकिन अपनी खुद की समस्याओं का हल नहीं कर पाते ....  लेख पढ़ें
वोट दें

क्या बलात्कार जैसे घृणित अपराध का धार्मिक, जातीय वर्गीकरण होना चाहिए?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
सप्ताह की सबसे चर्चित खबर / लेख
  • खबरें
  • लेख