फीफा विश्व कप 2018, बेल्जियम बनाम इंग्लैंड: बेल्जियम ने इंग्लैंड को 2-0 से हरा हासिल किया तीसरा स्थान

फीफा विश्व कप 2018, बेल्जियम बनाम इंग्लैंड: बेल्जियम ने इंग्लैंड को 2-0 से हरा हासिल किया तीसरा स्थान सेंट पीटर्सबर्गः बेल्जियम की टीम ने फीफा विश्व कप 2018 में शानदार प्रदर्शन किया है. युवा फुटबॉलरों से लैस उसकी स्वर्णिम पीढ़ी ने विश्व कप इतिहास में सर्वश्रेष्ठ स्थान तक पहुंचा ही दिया। 'रेड डेविल्स' के नाम से मशहूर बेल्जियम ने शनिवार को फीफा विश्व कप 2018 में इंग्लैंड को 2-0 से हराते हुए तीसरा स्थान हासिल किया। बेल्जियम को ब्रोंज मेडल मिला जबकि इंग्लैंड की टीम को निराश होना पड़ा और उसने चौथे स्थान पर रहकर टूर्नामेंट का समापन किया।

सेंट पीटर्सबर्ग स्टेडियम में खेले गए इस मुकाबले में बेल्जियम की तरफ से थॉमस म्यूनियर और एडेन हैजार्ड ने गोल दागे। दोनों ही टीमों ने सेमीफाइनल में अपने-अपने मुकाबले गंवा दिए थे और आज के मुकाबले में दोनों ही टीमों ने कई बदलाव किए। रेड डेविल्स ने मैच में दबदबा कायम रखा और दो गोल करते हुए मुकाबला अपने नाम किया।

बेल्जियम ने मैच के चौथे ही मिनट में बढ़त हासिल कर ली थी। थॉमस म्यूनियर ने शानदार गोल करके स्कोर 1-0 से बेल्जियम के पक्ष में मोड़ दिया था। इस गोल के लिए बेल्जियम के कई खिलाड़ियों ने बेहतरीन योगदान दिया. सबसे पहले रोमेलु लुकाकु डीप से गेंद को टर्न कराते हुए लेकर आए और जोंस को छकाते हुए नासेर चाडली को बहुत ही प्यारा पास दिया। चाडली ने गोलपोस्ट की तरफ क्रॉस पास दिया और पीछे से दौड़ते हुए आ रहे म्यूनियर ने फिसलकर किक जमाई और बेल्जियम को बढ़त दिला दी।

इसके बाद बेल्जियम और इंग्लैंड ने गोल करने के कुछ जोरदार प्रयास जरूर किए, लेकिन किसी के हाथ सफलता नहीं लगी। पहले हाफ की समाप्ति पर बेल्जियम 1-0 की बढ़त पर रहा।

दूसरे हाफ में इंग्लैंड ने अपने प्रहार तेज किए। उसने 47वें मिनट में स्कोर बराबर करने का मौका बनाया। मगर बेल्जियम के डिफेंडर्स ने अच्छा बचाव किया। 52वें मिनट में मैच का पहला पीला कार्ड दिखाया गया। इंग्लैंड के जॉन स्टोंस को एडेन हैजार्ड को धकेलने के लिए रेफरी ने दिया अपना फैसला।

इसके बाद बेल्जियम के रोमेलु लुकाकू गोल्डन बूट की रेस से बाहर हो गए। 60वें मिनट में लुकाकु को मैदान से बाहर बुला लिया गया। उन्होंने मौजूदा टूर्नामेंट में चार गोल किए।

मैच में सबसे ज्यादा प्रभाव बेल्जियम के डिफेंडर एल्डरवेराल्ड ने डाला। उन्होंने मैच के 69वें मिनट में इंग्लैंड के एरिक डायर का शानदार गोल रोका। इंग्लैंड को स्कोर बराबर करने का इससे आसान मौका नहीं मिल सकता था। दरअसल, एरिक डायर और मार्कस रैशफोर्ड के तालमेल से बेल्जियम के डिफेंडर विंसेंट कंपनी फिसलकर गिर गए। डायर गेंद लेकर आगे बढ़े और गोलकीपर कोरटोइस को छकाने में कामयाब हो गए। उन्होंने गोलपोस्ट की तरफ चिप शॉट खेला, जिसे डिफेंडर एल्डरवेराल्ड ने फिसलते हुए रोक दिया।

इसके बाद बेल्जियम ने अपनी बढ़त 2-0 कर ली। एडेन हैजार्ड ने फिल जोंस के साथ अच्छे कटिंग पास खेले और फिर इंग्लिश गोलकीपर के पास से बेहतरीन गोल दागा और रेड डेविल्स की बढ़त दोगुनी कर दी। हैजार्ड पिछले 25 मैचों में 25 गोल में शामिल रहे। उन्होंने इस दौरान 12 गोल किए जबकि 13 गोल में सहायक की भूमिका निभाई।

लाइव अपडेट्स

फुल टाइम: बेल्जियम 2-0 इंग्लैंड

थॉमस म्यूनियर ने चौथे जबकि एडेन हैजार्ड ने 82वें मिनट में गोल दागा।

मजेदार फैक्ट: हैजार्ड पिछले 25 मैचों में 25 गोल में शामिल रहे। उन्होंने इस दौरान 12 गोल किए जबकि 13 गोल में सहायक की भूमिका निभाई।

90+3: फुल टाइम के बाद तीन मिनट का स्टॉपेज टाइम रखा गया है। मौजूदा स्थिति को देखते हुए बेल्जियम का तीसरा स्थान पक्का। बस व्हिसल बजने की देरी।

85 मिनट: इंग्लैंड ने आखिरी स्थानापन्न खिलाड़ी लिया। इंग्लैंड ने आखिरी बदलाव करते हुए डेले एली की जगह रुबेन लोफ्टस चीक को मैदान में भेजा। क्या वह कोई बदलाव कर पाएंगे?

82 मिनट: गोल!!! एडेन हैजार्ड ने टीम के लिए बड़े ही आसानी से दूसरा गोल करने में सफलता हासिल की। केविन डी ब्रुइन ने हैजार्ड को अच्छा पास दिया। हैजार्ड ने फिल जोंस के साथ अच्छे कटिंग पास खेले और फिर इंग्लिश गोलकीपर के पास से बेहतरीन गोल दाग दिया।

80 मिनट: पिकफोर्ड का महत्वपूर्ण बचाव। बेल्जियम की टीम स्कोर बढ़ाने के लिए एक के बाद एक प्रयास कर रही है। केविन डी ब्रुइन और मेर्टेंस ने अच्छा तालमेल दिखाते हुए म्यूनियर को पास दिया, जिन्होंने वॉली खेली। मगर पिकफोर्ड ने बेहतरीन बचाव किया।

79 मिनट: बेल्जियम ने बदलाव किया और यूरी तिएलेमंस की जगह मूसा डेम्बेले को मैदान में भेजा।

76 मिनट: इंग्लैंड की टीम जरूर जोरदार प्रयास कर रही है, लेकिन बेल्जियम ने शानदार काउंटर किया। डी ब्रुइन ने मिडिल से अटैक किया और मेर्टेंस को पास दिया, जिनका शॉट काफी खराब था और गेंद बहुत दूर गई। डी ब्रुइन नाखुश दिखे कि उन्हें गेंद नहीं मिली।

73 मिनट: इंग्लैंड ने दोबारा हमला बोला। जेसे लिंगार्ड ने गेंद को हुक करते हुए एरिक डायर को हेडर जमाने का मौका दिया। डायर का हेडर सही नहीं लगा और गेंद काफी बाहर गई।

69 मिनट: बेल्जियम की 2 नंबर जर्सी एल्डरवेराल्ड ने बेहतरीन बचाव करके इंग्लैंड को बराबरी करने से रोका। एरिक डायर और मार्कस रैशफोर्ड के तालमेल से बेल्जियम के डिफेंडर विंसेंट कंपनी फिसलकर गिर गए। डायर गेंद लेकर आगे बढ़े और गोलकीपर कोरटोइस को छकाने में कामयाब हो गए। उन्होंने गोलपोस्ट की तरफ चिप शॉट खेला, जिसे डिफेंडर एल्डरवेराल्ड ने फिसलते हुए रोक दिया। दर्शनीय बचाव।

66 मिनट: रैशफोर्ड ने इंग्लैंड के लिए मौका जरूर बनाया, लेकिन उनका प्रयास सफल नहीं हुआ। बेल्जियम का डिफेंस मजबूत। इसी मिनट में इंग्लैंड के रहीम स्टर्लिंग ने भी गोल करने के लिए अच्छा क्रॉस पास दिया, लेकिन उनके पास को कोई खिलाड़ी रिसीव नहीं कर पाया।

60 मिनट: बेल्जियम के रोमेलु लुकाकु गोल्डन बूट की रेस से बाहर, उनकी जगह ड्राईस मेर्टेंस को मैदान में भेजा। अब देखना होगा कि कल फ्रांस के मबापे तीन गोल कर पाएंगे या नहीं! इंग्लैंड के कप्तान हैरी केन गोल्डन बूट की रेस में सबसे आगे।

57 मिनट: लुकाकु भी गोल करने से चूके। बेल्जियम के स्ट्राइकर को केविन डी ब्रुइन से अच्छा पास मिला। लुकाकु जब गेंद अपने कब्जे में लेने के लिए दौड़े तो इंग्लैंड के गोलकीपर ने आगे आकर गेंद लपक ली और बेल्जियम को दूसरा गोल करने से रोक दिया।

55 मिनट: इंग्लैंड का प्रयास विफल। बेल्जियम के डिफेंडर्स का प्रदर्शन भी खराब दिखा। जेसे लिंगार्ड गेंद लेकर अंदर की तरफ गए और एक्सेल विट्सेल को बॉक्स के कॉर्नर में पास दिया। उन्होंने क्रॉस से हैरी केन को पास दिया। केन वहां पहुंच नहीं पाए और गेंद उनके आगे से निकल गई।

52 मिनट: इंग्लैंड के जॉन स्टोंस को मिला पीला कार्ड। बेल्जियम के एडेन हैजार्ड को सेंटर सर्किल से धकेलने के लिए रेफरी ने दिखाया पीला कार्ड।

47 मिनट: इंग्लैंड ने दूसरे हाफ की दमदार शुरुआत की और बेल्जियम बॉक्स में एंट्री की। बेल्जियम के दो डिफेंडर्स ने इंग्लिश स्ट्राइकर को रोका।

हाफ टाइम: बेल्जियम 1-0 इंग्लैंड

थॉमस म्यूनियर ने मैच के चौथे मिनट में किया गोल।

43 मिनट: बेल्जियम का गेंद पर कब्जा बरकरार। इंग्लैंड की टीम का संघर्ष जारी। बेल्जियम के खिलाड़ी पहले हाफ के खत्म होने का इंतजार कर रही है ताकि उसकी बढ़त बरकरार रहे।

39 मिनट: बेल्जियम ने टीम में किया पहला बदलाव। नासेर चाडली की जगह थॉमस वेर्मेलेन को मैदान में भेजा गया।

37 मिनट: चाडली को लगी चोट। बेल्जियम टीम के नासेर चाडली के बाएं पैर की हैमस्ट्रिंग में परेशानी दिखी। मेडिकल टीम ने उनका उपचार करना शुरू किया। इसके साथ ही उन्होंने चाडली की जगह स्थानापन्न खिलाड़ी की मांग की।

33 मिनट: बेल्जियम ने गोल करने का एक और मौका गंवाया। डी ब्रुइन ने हैजार्ड को सेंटर में अच्छा पास दिया, लेकिन इंग्लिश डिफेंडर ने अपना पैर अड़ाकर इसे रोक दिया।

28 मिनट: म्यूनियर का क्रॉस बहुत ऊपर से गया। इंग्लैंड के लिए एक बार फिर मुसीबत बने म्यूनियर। उन्होंने इंग्लैंड के डैनी रोस से गेंद छीनी और आगे ले जाकर अच्छा क्रॉस पास किया। लुकाकु सेंटर में जरूर थे, लेकिन गेंद बहुत ऊपर से निकल गई।

24 मिनट: केन का प्रयास विफल। इंग्लैंड के कप्तान ने गलत शॉट खेलकर गोल करने का मौका गंवा दिया। इंग्लैंड के पास बराबरी करने का अच्छा मौका था।

17 मिनट: इंग्लैंड का डिफेंस कर रहा संघर्ष। केविन डी ब्रुइन ने रोमेलु लुकाकु को अच्छा पास दिया। हालांकि, हैरी मगुइरे ने अपनी शक्ति का प्रयोग करके स्ट्राइकर को रोक दिया।

13 मिनट: बेल्जियम की टीम के हमले बेहद तेज। इंग्लैंड के लिए पार पाना मुश्किल हो रहा है। हैजार्ड ने गेंद हासिल करके काउंटर अटैक किया। लुकाकु इंग्लैंड खेमे में घुसे और केविन डी ब्रुइन को पास दिया। ब्रुइन के प्रयास को जॉर्डन पिकफोर्ड ने खारिज करते हुए अच्छा बचाव किया।

9 मिनट: बेल्जियम ने दूसरे गोल का मौका बनाया। लुकाकु ने हैजार्ड को अच्छा पास दिया, लेकिन इंग्लैंड ने अंतिम समय में खतरा टाला।

4 मिनट: गोल!!! बेल्जियम ने मैच में बहुत जल्दी हासिल की बढ़त। थॉमस म्यूनियर ने दागा आकर्षक गोल।

रोमेलु लुकाकु ने डीप से अच्छे से गेंद को टर्न किया और फिल जोंस को छकाते हुए नासेर चाडली को बहुत ही प्यारा पास दिया। चाडली ने गोलपोस्ट की तरफ क्रॉस पास दिया और पीछे से दौड़ते हुए आ रहे म्यूनियर ने फिसलकर किक जमाई और बेल्जियम को बढ़त दिला दी।

मजेदार फैक्ट: विश्व कप के इतिहास में दूसरा ऐसा मौका है जब दो टीमें वर्ल्ड कप के एक टूर्नामेंट में दो बार भिड़ रही हैं। इंग्लैंड और बेल्जियम की टीम पहले ग्रुप चरण में भिड़ी, और अब तीसरे स्थान के मैच के लिए दोनों आमने सामने हैं। इससे पहले 2002 में ब्राजील और तुर्की के बीच विश्व कप में दो मैच खेले गए थे।

मजेदार फैक्ट: विश्व कप के इतिहास में यह 19वां मौका है जब तीसरे स्थान के लिए प्लेऑफ मैच खेला जा रहा है। 1930 और 1950 एडिशन में तीसरे स्थान के लिए मैच नहीं खेला गया था। अब तक तीसरे स्थान के लिए हुए मुकाबलों में कुल 71 गोल लगे हैं। इनकी औसत 3.9 प्रति मैच है।

कुछ ही देर में दोनों टीम मैदान पर पहुंचने वाली है।

इंग्लैंड का शुरुआती लाइनअप: जॉर्डन पिकफोर्ड, डैनी रोज, एरिक डियर, जॉन स्टोंस, हैरी मैगुइरे, हैरी केन, डेल एली, एशले यंग, फिल जोंस, फैबियन डेल्फ, रुबेन लोफ्टस-चीक

बेल्जियम का शुरुआती लाइनअप: थिबॉट कटरेआ, टोबी आल्डरवाइल्ड, विंसेंट कोंपेनी, जन वर्टोंगन, एक्सेल विस्टल, केविन डी ब्रुइन, रोमेलू लुकाकू, ईडन हेजार्ड, थॉमस मनियर, यूरी टिलेमैन, नासेर चेडली
अन्य खेल- खिलाड़ी लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack