फीफा विश्व कप 2018: फ्रांस बनाम बेल्जियम, पहला सेमीफाइनल; बेल्जियम को 1-0 से मात दे फ्रांस फाइनल में

फीफा विश्व कप 2018: फ्रांस बनाम बेल्जियम, पहला सेमीफाइनल; बेल्जियम को 1-0 से मात दे फ्रांस फाइनल में सेंट पीटर्सबर्ग: फ्रांस ने मंगलवार देर रात सेंट पीटर्सबर्ग स्टेडियम में खेले गए पहले सेमीफाइनल मैच में बेल्जियम को 1-0 से मात देकर फीफा वर्ल्‍डकप 2018 के फाइनल में जगह बना ली है. फ्रांस ने 2006 के बाद से पहली बार सेमीफाइनल में जगह बनाई , वहीं इस हार से बेल्जियम का पहली बार फाइनल में जगह बनाने का सपना टूट गया.

 इस मैच का एक मात्र गोल 51वें मिनट में सैमुएल उमतीती ने किया. इसके बाद बेल्जियम काफी प्रयासों के बाद बराबरी का गोल नहीं कर पाई. फ्रांस की इस जीत में उसके गोलकीपर ह्यूगो लोरिस का भी बड़ा हाथ रहा जिन्होंने कई शानदार बचाव करते हुए विपक्षी टीम को गोल से महरूम रखा. फाइनल में फ्रांस का सामना इंग्लैंड और क्रोएशिया के बीच बुधवार को होने वाले दूसरे सेमीफाइनल मैच की विजेता टीम से होगा.

शुरुआती पांच मिनट के खेल में दोनों टीमें एक-दूसरे की ताकत को परखती नजर आईं. फ्रांस की ओर से किए गए शुरुआती हमले के बाद बेल्जियम को कॉर्नर हासिल हुआ लेकिन हेजार्ड के क्रॉस को फ्रांस के रक्षकों ने आसानी से क्लियर कर दिया. शुरुआती क्षणों में बेल्जियम का गेंद पर ज्‍यादा नियंत्रण रहा लेकिन इसके बाद फ्रांस ने भी अच्‍छे हमले बोले. खेल के 12वें मिनट में फ्रांस को अच्‍छा मौका मिला. पोग्‍बा ने टीम के स्‍टार खिलाड़ी एमबापे की ओर बॉल फेंकी लेकिन बेल्जियम की रक्षापंक्ति ने खतरा टाल दिया. इसके कुछ ही देर बाद बेल्जियम के हेजार्ड को केविन डिब्रुइन ने अच्‍छा पास दिया लेकिन हेजार्ड का शॉट गोल से बाहर चला गया. 20वें मिनट में बेल्जियम को मिले कॉर्नर का भी फायदा नहीं उठाया जा सका.

फ्रांस को मिले कॉर्नर का भी ऐसा ही हाल रहा.फ्रांस को 30वें मिनट में फ्री-किक मिली लेकिन गिरार्ड का हेड गोल क्षेत्र के बाहर चला गया.पहले हाफ के आखिरी क्षणों में फ्रांस को फ्रीकिक मिली लेकिन इसका फायदा नहीं उठाया जा सका. इससे कुछ देर पहले पावार्ड के शॉट पर बेल्जियम के गोलकीपर ने शानदार बचाव किया. पहले हाफ के आखिरी क्षणों में फ्रांस को फ्रीकिक मिली लेकिन इसका फायदा नहीं उठाया जा सका. हाफटाइम तक कोई भी टीम गोल बनाने में सफल नहीं हो पाई थी.

हाफटाइम के बाद बेल्जियम को गोल का मौका मिला था लेकिन लुकाकू मौका चूक गए. खेल के 51वें मिनट में फ्रांस ने पांच नंबर की जर्सी पहने सेमुअल उमतीती की गोल से 1-0 की बढ़त बना ली, उन्‍होंने ग्रिजमैन की ओर से मिले पास पर यह गोल दागा. शॉट इतना अचूक था कि बेल्जियम का गोलकीपर देखता ही रह गया. जल्‍द ही फ्रांस को फ्री-किक भी मिली लेकिन ग्रिजमैन के शॉट पर बेल्जियम के खिलाड़ि‍यों ने बचाव कर खतरा टाल दिया. हाफटाइम के बाद फ्रांस के हमले में अलग ही धार दिखाई दे रही थी. दूसरे हाफ में बेल्जियम के हेजार्ड को फ्रांस के हर्नांडेज को गलत तरीके से टैकल करने के लिए यलो कार्ड दिखाया गया.

बेल्जियम के फेलेलिनी के पास गोल की बराबरी का मौका था, उन्‍हें मेर्टेंस ने गोल बॉक्‍स में अच्‍छा पास दिया था लेकिन वे निशाना चूक गए.71वें मिनट में बेल्जियन टीम के एल्‍डरवेरेल्‍ड को भी रैफरी ने रफ गेम के लिए यलो कार्ड दिखाया. मैच में फ्रांस की तुलना में गेंद पर ज्‍यादा समय कब्‍जा रखने के बावजूद बेल्जियम मैच में पिछड़ रही थी.76वें मिनट में फ्रांस को मिली फ्री-किक पर ग्रीजमैन ने शॉट लिया, इस पर पोग्‍बा का हैडर टारगेट से दूर रहा. इसके तुरंत बाद बेल्जियम को एक अच्‍छा मौका मिला लेकिन विटसेल के शॉट पर फ्रांस के गोलकीपर ने बेहतरीन बचाव कर खतरा टाल दिया.
बेल्जियम के लिए समय तेजी से निकलता जा रहा था. आखिरी क्षणों में बेल्जियम ने बराबरी के भरसक प्रयास किए लेकिन फ्रांस की रक्षापंक्ति ने शानदार बचाव कर ऐसा नहीं होने दिया. खेल के अंतिम क्षणों में फ्रांस के स्‍टार प्‍लेयर एमबापे को येलो कार्ड मिला. आखिरकार मैच फ्रांस ने 1-0 से जीता और इस जीत के साथ फाइनल में जगह बना ली.

इस हार के साथ ईडन हैजार्ड की कप्तानी वाली बेल्जियम का फाइनल में पहुंचने का सपना टूट गया. टीम की टूर्नामेंट में यह पहली हार रही. बेल्जियम टीम ने प्रतियोगिता का शानदार आगाज करते हुए पहले मुकाबले में पनामा को 3-0 से शिकस्त दी. अगले दो मैचों में भी बेल्जियम को कोई खास परेशानी नहीं हुई और ट्यूनीशिया को 5-2 एवं इंग्लैंड को 1-0 से हराकर टीम ने नॉकआउट दौर में प्रवेश किया.

प्री-क्वार्टर फाइनल मुकाबले में बेल्जियम को जापान ने कड़ी टक्कर दी और एक समय एशियाई देश ने 2-0 की बढ़त बना ली. हालांकि, बेल्जियम ने हार नहीं मानी और मैच में शानदार वापसी करते हुए 3-2 से जीत दर्ज की. क्वार्टर फाइनल में उसका सामना पांच बार की विजेता ब्राजील से हुआ. ब्राजील के खिलाफ शुरू से ही बेल्जियम ने आक्रामक खेल दिखाया और मैच को 2-1 से अपने नाम किया था.
अन्य खेल- खिलाड़ी लेख
वोट दें

क्या बलात्कार जैसे घृणित अपराध का धार्मिक, जातीय वर्गीकरण होना चाहिए?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
सप्ताह की सबसे चर्चित खबर / लेख
  • खबरें
  • लेख
 
stack