Monday, 14 October 2019  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

बातचीत-अमिय पांडेय संवाददाता के साथ आईएएस (मुख्य विकास अधिकारी वाराणसी) सुनील वर्मा की...

बातचीत-अमिय पांडेय संवाददाता के साथ आईएएस (मुख्य विकास अधिकारी वाराणसी) सुनील वर्मा की...
वाराणसी: कहते है युवा अधिकारी अगर हो जिसकी सोच विकाश के लिए समर्पित ऐसे सोच और जज्बे को सलाम करता है जनता जनार्दन राष्ट्रीय न्यूज़ वेबसाइट जो ड्रीम प्रेस लिमिटेड द्वारा संचालित अंग्रेजी पोर्टल facenfacts.com समुह की हिंदी न्यूज़ वेब चैनल है.
 
हम आपको बताने जा रहे हैं उत्तर प्रदेश के एक युवा आईएएस अधिकारी जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में मुख्यविकाश अधिकारी के पद पर कार्यरत है आप फोटो देखकर अंदाज़ा लगा सकते यह कितने युवा अधिकारी है इनका नाम है,सुनील वर्मा जो काम के प्रति गंभीर और विकाश सोच रखने वाले हैं.सुनील वर्मा से बात किया है हमारे संवाददाता अमिय पांडेय ने....बातचीत के कुछ अंश आप जनता जनार्दन मीडिया के पाठकों के बीच समर्पित।
 
सुनील वर्मा बतौर आईएएस(मुख्यविकाश अधिकारी ) वाराणसी में  नरेन्द्र मोदी के सपने को वास्तविकता में बदल  रहे हैं,यह 2013 बैच आईएएस अधिकारी  है I और मोती लाल नेहरू नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, इलाहाबाद से स्नातक की उपाधि प्राप्त की और इन्हें मुख्य विकास अधिकारी वाराणसी के रूप में तैनात किया।
 
सुनील वर्मा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सपने को देखते हुए  वाराणसी में  स्वच्छ काशी नामक एक पहल की शुरुआत की है: रक्षाबंधन  त्यौहार के अवसर पर इस पहल के तहत उन्होंने युवाओं को अपने बहन को उपहार के रूप में शौचालय उपहार  देने के लिए कहा और उन्हें शौचालय के साथ फोटो खींचने को  भी कहा जिससे जागरूकता पैदा हो एक अच्छा मैसेज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र से जाएं।
 
सुनील वर्मा के मन में एक विचार आया की क्यों न वाराणसी क्षेत्र के लोगो को खासकर हर गावं के प्रधानों को अक्षय कुमार की मूवी टॉलेट एक प्रेम कथा दिखाया जाएं  बस क्या ग्रामीणों के साथ सुनील मोदी जी के ड्रीम प्रोजेक्ट स्वच्छता मिशन के बारे में जागरूक करने के लिए छवी महल सिनेमा हॉल,चौकाघाट, वाराणसी में फिल्म "toilet एक प्रेम कथा" की विशेष स्क्रीनिंग शौचालयों के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए 1018 महिला प्रधान और सप्तचित्रा के लिए वाराणसी जिला प्रशासन जिलाधिकारी वाराणसी की मदद  द्वारा व्यवस्थित किया।
 
इनमें से कुछ महिलाएं पहली बार एक हॉल में फिल्म देखी थीं लेकिन यह फिल्म उनके लिए महान प्रेरक थे क्योंकि यह शौचालयों के साथ महिलाओं की गरिमा को जोड़ती है।
 
सुनील वर्मा ने बताया की वाराणसी में  31 दिसंबर 2017 तक 1.83 लाख शौचालय बनाने का लक्ष्य है, जबकि वाराणसी खुले समर्पण मुक्त है। अब हम प्रति दिन 761 शौचालय बना रहे हैं।8 ब्लॉकों में से,4 ब्लॉक को ओडीएफ को 02 अक्टूबर तक घोषित किया जाएगा।
 
साथ ही वाराणसी की जनता से अपील की की वह शौचालय बनवा कर शौचालय का इस्तेमाल करे वाराणसी जिला प्रशासन उनके साथ है.
अन्य दो टूक बात लेख
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack