इस सीजन बदलेगा दूल्हे-दुल्हन का लुक

इस सीजन बदलेगा दूल्हे-दुल्हन का लुक नई दिल्ली: हमारे देश में शादियां जितनी धूमधाम से होती हैं, शायद ही दुनिया के किसी देश में इतने जोश और उत्साह के साथ होती हों। बजट चाहे जो भी हो, हर दुल्हन की तमन्ना सबसे खूबसूरत दिखने की होती है। डिजाइनर इसलिए वर-वधू की पोशाकों को मौसम के लिहाज से तैयार करते हैं। इस सीजन कुछ डिजाइनरों ने पारंपरिक पोशाकों की जगह वैवाहिक परिधानों की आधुनिक श्रृंखला पेश की है।

वैवाहिक परिधानों की आधुनिक श्रृंखला में कप़डों को चुनने के साथ-साथ रंगों और नवीनतम फैशन को भी ध्यान में रखा जाता है। शादी पर वर-वधू के पोशाकों के लिए अब तक दूल्हे के लिए शेरवानी और दुल्हनों के लिए लहंगा-चोली ही एकमात्र विकल्प नजर आता था। मगर युवा डिजाइनर इस टाइपकास्ट प्रचलन से समाज को बाहर निकालने के लिए नए वैवाहिक परिधानों की आधुनिक श्रृंखला पेश कर रहे हैं।

फैशन डिजाइनर पंकज सिंह ने कहा, हमारे देश में दुल्हनों के लिए लहंगा-चोली एक "ड्रेस कोड" जैसा हो गया है। मेरी कोशिश यही रही है कि शादी पर दुल्हनों के लिए लहंगा-चोली की इस परंपरा को खत्म किया जाए। बॉल रूम ट्रायल गाउन से लेकर मुगल शैली की जैकेट को नए कलेवर में दुल्हनों के लिए पेश किया गया है। पंकज सिंह का पोलो ब्राइडल दुल्हनों के लिए एक अनूठा परिधान संग्रह है, जो युवा महिलाओं को तेजी से अपनी ओर आकर्षित कर रहा है।

उन्होंने आधुनिक दुल्हन के लिए ब्राइडल परिधानों को शाही मुगल शैली और पोलो लुक में पेश किया है। इस बार वसंत और गर्मी के मौसम में होने वाली शादियों को ध्यान में रखकर वधू के परिधानों में आरामदायक फैब्रिक के साथ रंगों में पेस्टल शेड्स का अधिक इस्तेमाल किया गया है। वर-वधू के परिधानों के साथ-साथ वधू के आभूषणों को भी शाही लुक दिया गया है।

आधुनिक महिलाओं को ध्यान में रख शाही लुक में कम भारी गहनों को प्राथमिकता दी गई है। मेकअप कलाकारों ने दुल्हनों के मेक ओवर के लिए इस बार हल्का क्रीज मेकअप चुना है। इस सीजन की शादियों के परिधानों को शाही अंदाज के साथ हल्का वेस्टर्न टच दिया गया है। डिजाइनरों ने शादी के मौके पर अलग-अलग रस्मों के लिए परिधानों की विशेष श्रृंखला तैयार की है।

मसलन, मेहंदी के लिए मध्य लंबाई का लहंगा, संगीत के लिए स्कर्ट के साथ चोली का फ्यूजन और शादी के लिए दस से बारह कली का लहंगा है। लहंगे से लेकर साड़ी में नए प्रयोग किए जा रहे हैं। इन परिधानों की खास बात इनके खास कट्स हैं, जो देखने में आकर्षक तो लगते ही हैं, साथ में ट्रेंडी भी हैं। आजकल विशेष रूप से शादी के लिए हाफ, टू पीस और थ्री पीस साड़ी का प्रचलन है। इन साड़ी में किए गए कट उन्हें शाही लुक देते हैं।

दूल्हों के परिधानों में विशेष प्रयोग किए गए हैं। शेरवानी के साथ पायजामे को जोधपुरी स्टाइल धोती के लुक में पेश किया गया है तो जरदोजी डिजाइनर पग़डी भी काफी आकर्षक है। युवा डिजाइनर मोनिका के मुताबिक, हमने वेस्टर्न परिधानों का भारतीय शैली में फ्यूजन किया है। इस मौसम में यह शाही लुक दुल्हनों को दिलकश रूप देगा।

दुल्हनों के आभूषणों की बात की जाए तो परिधानों के साथ मैचिंग आभूषणों के दिन लद गए हैं। अब परिधान के साथ अनमैचिंग आभूषणों को विशेष रूप से तैयार किया जा रहा है। मुख्य रूप से क्रिस्टल और पर्ल के शैंडलियर ईयरिंग्स को खास तव”ाो दी जा रही है। फ्रेंचलेस स़ाडी के साथ चोकर आभूषणों को नए अंदाज में पेश किया जा रहा है।

वेडिंग एशिया नाम से ब्राइडल प्रदर्शनी आयोजित करने वाले एक्सेलसियर समूह के निदेशक मनिंदर सिंह सेठी का कहना है कि शादियों की खरीदारी के लिए लोगों का झुकाव तेजी से ब्रांड्स की तरफ बढ़ रहा है। सिर्फ शाही शादियों में ही नहीं, बल्कि मध्यवर्ग में भी डिजाइनर परिधानों का क्रेज बढ़ा है। शादी के विभिन्न अवसरों पर परंपरागत परिधानों के साथ पश्चिमी परिधानों का एक ब़डा संग्रह पेश किया जा रहा है।
वोट दें

क्या विजातीय प्रेम विवाहों को लेकर टीवी पर तमाशा बनाना उचित है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack