Monday, 17 December 2018  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

गणेशोत्सव की धूम से गुंजायमान रहा नोएडा का आदित्य सेलेब्रिटी होम्स

गणेशोत्सव की धूम से गुंजायमान रहा नोएडा का आदित्य सेलेब्रिटी होम्स नोएडाः जब तीन साल पहले वह नोएडा के सेक्टर 76 स्थित आदित्य सेलेब्रिटी होम्स सोसाइटी के अपने फ्लैट में रहने के लिए आए तो उनके दिमाग में गणेशोत्सव जैसी कोई बात नहीं थी. हालांकि एक मराठी परिवार में पैदा होने के चलते गजानन जोशी के लिए गणेश चतुर्थी के दिन गणपति को घर में लाना और पूरे दस दिन तक विधि-विधान से की गई पूजा के बाद चतुर्दशी के दिन उनका विसर्जन एक ऐसा क्रम था, जो सांसे लेने जितना अनिवार्य था. जबकि यहां उत्तर प्रदेश के इस नव-निर्मित इलाके में इस तरह की परंपरा शुरू ही नहीं हुई थी. इसीलिए जब साल 2016 में गणेश चतुर्थी आयी, तो गणपति को घर में बिठाने की जगह उन्होंने अपार्टमेंट में ही बैठाया, और सोसाइटीवासियों का उत्साह देख वह दंग रह गए. तब से यह सिलसिला जारी है. गजानन जोशी की इस पहल में उनकी पत्नी सहित उनके कई साथी समान रूप से सक्रिय रहते हैं, पर गजानन इसका श्रेय सीधे गणेश जी को देते हैं. वह कहते हैं कि हम भला गणेश जी के लिए क्या कर सकते हैं. जो भी है, उन्हीं का है, और वही करते हैं.

बहरहाल जोशी की इसी सोच से इस साल भी आदित्य सेलेब्रिटी होम्स में गणेत्सोत्सव बेहद धूमधाम और भव्यता से मना. 13 सितंबर को श्री गणेश जी के आगमन और स्थापना से उत्सव की शुरुआत हुई. इसके पश्चात हर दिन सुबह-शाम दोनों वक्त प्रसाद, भोग और आरती के साथ भजन, कीर्तन, सत्संग आदि का आयोजन तो हुआ ही बच्चों और बड़ों के लिए कैसे ये दिन यादगार हों इसकी भी व्यवस्था की गयी थी. जिसमें बच्चों के लिए क्ले मोल्डिंग और पॉट डेकोरेशन कंपीटिशन, भजन संध्या, तंबोला, गणेश मंत्र, कैरोके, सुंदर कांड पाठ, सत्यनारायण पूजा, पुरस्कार आदि का कार्यक्रम आयोजित हुआ. हर दिन शाम को अपार्टमेंट के समस्त निवासियों के लिए हर दिन विशेष भंडारा भी लगा.

इस आयोजन की खास बात यह भी कि इसके लिए किसी से किसी भी तरह का कोई आर्थिक चंदा न ही मांगा जाता है, न ही लिया जाता, न ही किसी तरह की कोई विशेष समिति बनी है. हां, अपनी शक्ति के हिसाब से अगर कोई भक्ति व्यक्त करता है, यानी यदि कोई प्रसाद और भोग में अपनी तरफ से किसी भी तरह का योगदान देना चाहता है तो कर सकता है. इसके लिए अपार्टमेंट के निवासियों के लिए इंटरकॉम नंबर उपलब्ध कराए गए थे, जो आयोजन में सक्रिय लोगों से संपर्क कर प्रतिभागी बन सकते थे. गणेश विसर्जन के दिन महाप्रसाद और पुरस्कार वितरण कार्यक्रम भी संपन्न हुआ, भक्ति भाव के इस नारे के साथ 'गणपति बप्पा मोरिया, अगले बरस तू जल्दी आ'.
अन्य शहर लेख
वोट दें

क्या बलात्कार जैसे घृणित अपराध का धार्मिक, जातीय वर्गीकरण होना चाहिए?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
 
stack