बाजार
रमजान: बाजार में छाईं खजूर की नायाब किस्में जनता जनार्दन संवाददाता ,  Jun 26, 2015
मुकद्दस माह रमजान में सहरी व इफ्तार का बड़ा महत्व है। रमजान की आमद के साथ ही बाजारों में चहल-पहल खासी बढ़ गई है। मुस्लिम बहुल क्षेत्रों में इन दिनों बाजार देर रात तक खुल रहते हैं। वहीं सहरी और इफ्तारी के लिए बड़ी संख्या में लोग खरीदारी करने आ रहे हैं।रमजान में सजे दस्तरख्वान पर अपनी खास जगह रखने वाले खजूर की कई किस्में मॉल से लेकर बाजारों तक में सजी हुई हैं। ....  लेख पढ़ें
संकट के बादल गहराए, इतना आसान नहीं मंदी से उबरना जनता जनार्दन संवाददाता ,  Aug 09, 2011
अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा के आश्वासनों के बावजूद अमेरिकी शेयर बाजारों में सोमवार को आई ऐतिहासिक गिरावट के कारण दुनिया में आर्थिक संकट के बादल और गहरा गए हैं। अमेरिकी बाजार में गिरावट का असर मंगलवार को एशियाई बाजारों पर भी पड़ा. व्हाइट हाउस में संवाददाताओं से बातचीत में ओबामा नेकहा कि ऐसे खतरे यूरोप, जापान और मध्यपूर्व में आर्थिक अस्थिरता के कारण पैदा हुए, जिसने अब बाजार को प्रभावित किया है और उपभोक्ताओं में विश्वास को कम किया है। इससे सुधार की गति धीमी हो गई है। ....  लेख पढ़ें
खुद हिले पर हिम्मत नहीं हिली  जनता जनार्दन संवाददाता ,  Jul 14, 2011
मुम्बई के झावेरी बाजार में बुधवार को बीते दो दशक में तीसरी बार बम विस्फोट हुआ। रत्नों और आभूषणों के लिए मशहूर इस बाजार के जौहरी इन विस्फोटों से बेहद क्षुब्द हैं और उन्हें अपने व्यवसाय की भी चिंता सताने लगी है लेकिन फिर भी वे इस जगह को छोड़कर जाने के विषय में नहीं सोचते। जब यहां के व्यापारियों से पूछा गया कि क्या वे यह बाजार छोड़कर चले जाएंगे तो उनमें से ज्यादातर ने इससे इंकार कर दिया। स्वर्ण आभूषणों के जौहरी राजू सोलंकी ने कहा, "यहां से हटने का क्या मतलब है। क्या अन्य व्यवसायिक जगहें सुरक्षित हैं।" राजू की दुकान से मुश्किल से 200 मीटर की दूरी पर बुधवार को विस्फोट हुआ था। राजू की दुकान पिछले 60 साल से यहीं पर है। ....  लेख पढ़ें
इंटरनेट से जानकारी तो ठीक पर खरीददारी से तौबा जनता जनार्दन संवाददाता ,  Jul 06, 2011
हम भारतीय हर चीज में अजूबे हैं. दुनिया भर में जहाँ ऑनलाइन शोपिंग का चलन बढ़ा है, वहीं भारतीय ग्राहक जानकारी के लिए तो इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं, पर इससे खरीदारी करने में हिचकते हैं. ऐसा लगता है कि भारतीय ग्राहकों को खरीददारी के लिए इंटरनेट माध्यम पर अधिक भरोसा नहीं है। रिपोर्ट के मुताबिक देश में कुल खरीददारी में इंटरनेट माध्यम से की जाने वाली खरीददारी यानी ई-टेलिंग का योगदान सिर्फ आठ फीसदी ही है। इसके लिए भारत में आन लाइन मार्केटिंग एंड सेल्स की दिशा में काम कर रही कंपनियों का अव्यावसायिक बरताव भी जिम्मेदार है. ....  लेख पढ़ें
समाज भले ना स्वीकारे समलैंगिकों के लिए बाजार तैयार है जनता जनार्दन संवाददाता ,  Jul 03, 2011
भले ही देश के विभिन्न हिस्सों में समलैंगिकों को सामाजिक मान्यता नहीं मिली हो लेकिन बहुराष्ट्रीय कम्पनियों की नजर देश के समलैंगिक बाजार पर है। कई नामी बहुराष्ट्रीय कम्पनियां समलैंगिकों को ध्यान में रखकर तैयार किए गए उत्पाद बाजार में उतारने की योजना बना रही हैं। लेवाइस के विज्ञापन में दो महिला मॉडलों को एक-दूसरे को प्रभावित करते हुए दिखाया गया है जबकि अमूल बटर के विज्ञापन में भी अमूल शुभंकर को दो युवतियों को बटर स्लाइस देते हुए कुछ ऐसा ही हाव-भाव दिखाया गया है। ....  लेख पढ़ें
कच्चे तेल के दाम घटे जनता जनार्दन संवाददाता ,  Apr 19, 2011
कच्चे तेल के दाम में तेज गिरावट दर्ज की गई। दरअसल मार्च में सऊदी अरब में कच्चे तेल का उत्पादन घटने और स्टैण्डर्ड एण्ड पुअर्स (एसएण्डपी) द्वारा अमेरिका के कर्ज परिदृश्य की रेटिंग घटाकर नकारात्मक किए जाने के बाद सोमवार को दामों में गिरावट को दर्ज किया गया। एसएण्डपी ने अमेरिका की साख की रेटिंग एएए पर बरकरार रखी है लेकिन अमेरिकी कर्ज परिदृश्य की रेटिंग घटाकर नकरात्मक कर दी है। रेटिंग एजेंसी का कहना है कि बढ़ते बजट घाटे और कर्ज पर नियंत्रण कर पाने में अमेरिकी नीति निर्माताओं के विफल होने के जोखिम के कारण यह निर्णय लिया गया है। ....  लेख पढ़ें
Market
A market is any one of a variety of different systems, institutions, procedures, social relations and infrastructures whereby persons trade, and goods and services are exchanged, forming part of the economy. It is an arrangement that allows buyers and sellers to exchange things.

Competition is essential in markets, and separates market from trade. Two persons may trade, but it takes at ...ReadStory
वोट दें

क्या 2019 लोकसभा चुनाव में NDA पूर्ण बहुमत से सत्ता में आ सकती है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल