Saturday, 13 August 2022  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

मुस्कान मेल एपिसोड आठः एआइजी एक पहल परिवार के डॉ ज्ञान सिंह गौडपाल जी और सुमेधा मैम ने की तारीफ , कहा सब सुनें होगा लाभ

मनोज पाठक , Jun 19, 2022, 21:02 pm IST
Keywords: मुस्कान मेल  
फ़ॉन्ट साइज :









मुस्कान मेल एपिसोड आठः एआइजी एक पहल परिवार के डॉ ज्ञान सिंह गौडपाल जी  और सुमेधा मैम ने की तारीफ , कहा सब सुनें होगा लाभ

दिल्ली के जाने माने समाजसेवी और विख्यात दंत चिकित्सक ने रविवार 19 जून को प्रसारित मुस्कान मेल के आठवें अंक की तारीफ करते हुए कहा कि एआइजी एक पहल परिवार में रोज प्रसारित मुस्कान मेल के हर अंक को लोगों को सुनना चाहिये । इसी परिवार की  सुमेधा मैम ने मुस्कान मेल के आठवें अंक में सनातन भारतीय धर्म और संस्कृति की सरल व्याख्या की प्रशंसा करते हुए कहा कि अनेक नये शब्द और अर्थ सुनने को मिले । उन्होंने जो कुछ लिखा आप भी जानियेः- 

"मुस्कान मेल सुना बहुत अच्छा लगा .  कुछ नये शब्द नये भाव जाने  वेदों के मन्त्रों में क्या है को जानने का अल्प प्रयास किया  धन्यवाद" आप का 

आप भी सुनें मुस्कान मेल आठवा अंक। 



डॉ ज्ञान ने मुस्कान मेल के आठवें अंक को सुनने के बाद धर्म की चर्चा को आगे बढ़ाते हुए रामायण से श्री राम वनवास का प्रसंग सुनाते हुए कहा कि जिसके जीवन में धर्म अपने सच्चे स्वरूप में होता है वह कट्टर हो ही नहीं सकता । वह अनुचित काम अपने जीवन में करेगा ही नहीं । 
आप जनता जनार्दन की इस विशेष रिपोर्ट में मुस्कान मेल की दो ऑडियो क्लिप के साथ डॉ ज्ञान सिंह गौडपाल के विचारों को भी सुन सकते हैं । पहली दो ऑडियो क्लिप डॉ गौडपाल की हैं जबकि तीसरे और चौथे क्रम में आप मुस्कान मेल की रविवार प्रातःकाल प्रसारित अंक को सुन सकते हैं ।


आप भी सुनें और दूसरों को भी सुनायें ।


मुस्कान मेल नव शृंखला अंक 8

रविवार 19-06-2022

विक्रम संवत 2079
आषाढ कृष्ण पक्ष षष्ठी तिथि

आज का विषय

सनातन भारतीय संस्कृति सार 7

सत्यं वद, धर्म॓ चर

धर्म क्या है

धर्म का जन्म कब होता है ?

धर्म की आवश्यकता क्यों ???

सनातन भारतीय धर्म और संस्कृति के मूल स्रोत-2


अ.. परंपरा
आ .. वेद ऋग्वेद, ऋक् वेद, यजुर्वेद, सामवेद , अथर्ववेद।

इ वेदांग / वेदांत
ई दो इतिहास ग्रंथ श्रीरामायण जी और महाभारत तथा पुराण
उ ब्राह्मण ग्रंथ
ऊ स्मृति और संहिता
आदि आदि

मुस्कान मेल नियम
मुस्कुराते रहो

आज का सवाल

आज के अंक में ऋग्वेद को हम ऋजु वेद कह गये कई बार......क्यों भला ?


मुस्कान मेल लक्ष्य
अंतिम श्वास तक स्वस्थ तन प्रसन्न मन आनन्दमय जीवन

निर्जला एकादशी, ज्येष्ठ शुक्ल एकादशी तिथि , विक्रम संवत 2079 से मुस्कान मेल तीसरी शृंखला का आरंभ

Muskan Mail New series
Episode 8