Monday, 18 December 2017  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 
आज की कविता ने व्रत रखा पहला-पहला नवरातों का शशिपाल शर्मा 'बालमित्र' ,  Sep 22, 2017

प्रख्यात संस्कृत विद्वान पंडित शशिपाल शर्मा बालमित्र केवल भारतीय संस्कृति, अध्यात्म, काल खंड और सनातन परंपरा के अग्रणी सचेता ही नहीं उम्दा रचनाकार भी हैं . आज का सुभाषित के साथ आप उनकी रचना भी प्रतिदिन सुनते हैं. प्रस्तुत है उनकी कविता उन्हीं के लयबद्ध ऑडियो के साथः
आज का पंचांग, इतिहास, आज का नवरात्र मंत्र और सुभाषित- दधाना करपद्माभ्याम् पंडित शशिपाल शर्मा 'बालमित्र' ,  Sep 22, 2017

भारतीय संस्कृति, अध्यात्म, काल खंड और सनातन परंपरा के अग्रणी सचेता प्रख्यात संस्कृत विद्वान पंडित शशिपाल शर्मा बालमित्र द्वारा संकलित दैनिक पंचांग, आज की वाणी, इतिहास में आज का दिन और उनकी सुमधुर आवाज में आज का सुभाषित, दधाना करपद्माभ्याम्, अक्षमालाकमण्डलू
आज की कविता ने देखे हैं रुतबे के अजीब पैमाने शशिपाल शर्मा 'बालमित्र' ,  Sep 21, 2017

प्रख्यात संस्कृत विद्वान पंडित शशिपाल शर्मा बालमित्र केवल भारतीय संस्कृति, अध्यात्म, काल खंड और सनातन परंपरा के अग्रणी सचेता ही नहीं उम्दा रचनाकार भी हैं . आज का सुभाषित के साथ आप उनकी रचना भी प्रतिदिन सुनते हैं. प्रस्तुत है उनकी कविता उन्हीं के लयबद्ध ऑडियो के साथः
आज का पंचांग, इतिहास, आज का नवरात्र मंत्र और सुभाषित- किटिं च बालकं तथा पंडित शशिपाल शर्मा 'बालमित्र' ,  Sep 21, 2017

भारतीय संस्कृति, अध्यात्म, काल खंड और सनातन परंपरा के अग्रणी सचेता प्रख्यात संस्कृत विद्वान पंडित शशिपाल शर्मा बालमित्र द्वारा संकलित दैनिक पंचांग, आज की वाणी, इतिहास में आज का दिन और उनकी सुमधुर आवाज में आज का सुभाषित, किटिं च बालकं तथा, परश्वानं च मूर्खं च
आज की कविता पलट रही है पन्ने कुछ इतिहास के शशिपाल शर्मा 'बालमित्र' ,  Sep 20, 2017

प्रख्यात संस्कृत विद्वान पंडित शशिपाल शर्मा बालमित्र केवल भारतीय संस्कृति, अध्यात्म, काल खंड और सनातन परंपरा के अग्रणी सचेता ही नहीं उम्दा रचनाकार भी हैं . आज का सुभाषित के साथ आप उनकी रचना भी प्रतिदिन सुनते हैं. प्रस्तुत है उनकी कविता उन्हीं के लयबद्ध ऑडियो के साथः
आज का पंचांग, इतिहास में आज और सुभाषित- अग्निशेषम् ऋणशेषं, शत्रुशेषं तथैव च पंडित शशिपाल शर्मा 'बालमित्र' ,  Sep 20, 2017

भारतीय संस्कृति, अध्यात्म, काल खंड और सनातन परंपरा के अग्रणी सचेता प्रख्यात संस्कृत विद्वान पंडित शशिपाल शर्मा बालमित्र द्वारा संकलित दैनिक पंचांग, आज की वाणी, इतिहास में आज का दिन और उनकी सुमधुर आवाज में आज का सुभाषित, अग्निशेषम् ऋणशेषं, शत्रुशेषं तथैव च
आज की कविता ने पाला था एक नेवला प्यारा भूरा शशिपाल शर्मा 'बालमित्र' ,  Sep 19, 2017

प्रख्यात संस्कृत विद्वान पंडित शशिपाल शर्मा बालमित्र केवल भारतीय संस्कृति, अध्यात्म, काल खंड और सनातन परंपरा के अग्रणी सचेता ही नहीं उम्दा रचनाकार भी हैं . आज का सुभाषित के साथ आप उनकी रचना भी प्रतिदिन सुनते हैं. प्रस्तुत है उनकी कविता उन्हीं के लयबद्ध ऑडियो के साथः
आज का पंचांग, इतिहास में आज और सुभाषित- स्वभावो नोपदेशेन, शक्यते कर्तुमन्यथा पंडित शशिपाल शर्मा 'बालमित्र' ,  Sep 19, 2017

भारतीय संस्कृति, अध्यात्म, काल खंड और सनातन परंपरा के अग्रणी सचेता प्रख्यात संस्कृत विद्वान पंडित शशिपाल शर्मा बालमित्र द्वारा संकलित दैनिक पंचांग, आज की वाणी, इतिहास में आज का दिन और उनकी सुमधुर आवाज में आज का सुभाषित, स्वभावो नोपदेशेन, शक्यते कर्तुमन्यथा
आज की कविता बतलाती है बेचारी अदरक की गाथा शशिपाल शर्मा 'बालमित्र' ,  Sep 18, 2017

प्रख्यात संस्कृत विद्वान पंडित शशिपाल शर्मा बालमित्र केवल भारतीय संस्कृति, अध्यात्म, काल खंड और सनातन परंपरा के अग्रणी सचेता ही नहीं उम्दा रचनाकार भी हैं . आज का सुभाषित के साथ आप उनकी रचना भी प्रतिदिन सुनते हैं. प्रस्तुत है उनकी कविता उन्हीं के लयबद्ध ऑडियो के साथः
आज का पंचांग, इतिहास में आज और सुभाषित- अभिवादनशीलस्य, नित्यं वॄद्धोपसेविन: पंडित शशिपाल शर्मा 'बालमित्र' ,  Sep 18, 2017

भारतीय संस्कृति, अध्यात्म, काल खंड और सनातन परंपरा के अग्रणी सचेता प्रख्यात संस्कृत विद्वान पंडित शशिपाल शर्मा बालमित्र द्वारा संकलित दैनिक पंचांग, आज की वाणी, इतिहास में आज का दिन और उनकी सुमधुर आवाज में आज का सुभाषित, अभिवादनशीलस्य, नित्यं वॄद्धोपसेविन:
वोट दें

दिल्ली प्रदूषण से बेहाल है, क्या इसके लिए केवल सरकार जिम्मेदार है?

हां
नहीं
बताना मुश्किल
सप्ताह की सबसे चर्चित खबर / लेख