Friday, 17 September 2021  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 

ताउते ने मचाई तबाही, उत्तर भारत में बदला मौसम

जनता जनार्दन संवाददाता , May 20, 2021, 9:21 am IST
Keywords: Cyclone Tauktae   Tauktae heads north India   Tauktae's impact   ताउते   तूफान ताउते   ताउते का प्रभाव  
फ़ॉन्ट साइज :
ताउते ने मचाई तबाही, उत्तर भारत में बदला मौसम नई दिल्लीः देश कोरोना के साथ-साथ ताउते की भी तबाही झेल रहा है. चक्रवाती तूफान ताउते ने कई राज्यों में जमकर तबाही मचाई है. वहीं अरब सागर में डूबे बार्ज P305 से 186 लोगों को निकाला जा चुका है. बताया जा रहा है कि इस जहाज में कुल 261 लोग सवार थे. 49 लोग अब भी लापता हैं जबकि 26 शव बरामद किए गए हैं. भारतीय नौसेना समंदर में बचाव का काम कर रही है.

रेस्क्यू ऑपरेशन में नौसेना के पांच जहाज लगाए गए हैं. हेलिकॉप्टर और कोस्ट गार्ड की भी मदद ली जा रही है. अधिकारियों का कहना है कि जिन लोगों ने लाइफ जैकेट पहन रखी थी, उनके बचने की उम्मीदें बाकी हैं. बता दें कि जिन 26 शवों को बरामद किया गया है वे समुद्र में 90 किलोमीटर से ज्यादा के क्षेत्र में तैरते हुए पाए गए थे.

बता दें कि ताउते तूफान के चलते समंदर में कुल चार वेसल्श फंस गए थे. इसमें मुंबई तट के दो बार्ज, गुजरात के पीपाराव का एक बार्ज और एक ड्रिलशिप शामिल था. इन सबमें मिलाकर कुछ 700 से ज्यादा लोग सवार थे. 650 से ज्यादा लोगों को निकाला जा चुका है.

नौसेना के अधिकारी ने कहा कि 707 कर्मियों को ले जा रहे तीन बजरे और एक ऑयल रिग सोमवार समुद्र में फंस गया था. इनमें 273 लोगों को ले जा रहा 'पी305' बजरा, 137 कर्मियों को ले जा रहा 'गल कंस्ट्रक्टर' और एसएस-3 बजरा शामिल है, जिसमें 196 कर्मी मौजूद थे. साथ ही 'सागर भूषण' ऑयल रिग भी समुद्र में फंस गया था, जिसमें 101 कर्मी मौजूद थे.

मौसम विभाग के मुताबिक अब यह चक्रवात कमजोर पड़ गया है. हालांकि इसका असर उत्तर भारत में देखने को मिल रहा है. राजधानी दिल्ली समेत, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, झारखंड, बिहार और अन्य राज्यों में तेज हवाओं के साथ बारिश देखने को मिल रही है.

पीएम नरेंद्र मोदी ने चक्रवात ताउते से हुए नुकसान का जायजा लेने के लिए बुधवार को गुजरात और केंद्र शासित क्षेत्र दीव के प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण किया और फिर एक समीक्षा बैठक के बाद राहत संबंधी तत्काल गतिविधियों के लिए 1000 करोड़ रुपये की वित्तीय सहायता की घोषणा की.

चक्रवाती तूफान 'ताउते' ने सोमवार देर रात गुजरात में प्रवेश किया. तब 155 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवाएं चल रही थीं. गुजरात के लिए आज की रात कठिन होगी. अब लैंडफॉल की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है, गुजरात के सौराष्ट्र स्थित ऊना के पास लैंडफॉल की प्रक्रिया हो रही है. तूफान से राज्‍य में भारी तबाही मच सकती है. दीव में 133 किमी प्रति घंटे से अधिक की रफ्तार से हवाएं चल रही हैं.

मौसम विभाग की एक हालिया रिपोर्ट के अनुसार, दीव में रात 9.30 बजे हवा की गति 133 किमी प्रति घंटे दर्ज की गई, जो निकट भविष्य में बढ़कर 185 घंटे हो सकती है. सौराष्ट्र के तटीय इलाकों में तेज हवाओं के साथ भारी बारिश शुरू हो गई है. तेज हवाओं के साथ आकाशीय बिजली की आवाज डरा रही है.

अमरेली पंथक के राजुला और जाफराबाद में गर्जना के साथ तेज बारिश हो रही है, अगले दो घंटों में लैंडफॉल प्रक्रिया हो जायेगी. चक्रवाती तूफान से अमरेली, जूनागढ़, गिर सोमनाथ, भावनगर जिले अधिक प्रभावित होंगे. कल से दो दिनों तक भारी बारिश की संभावना है.

चक्रवाती तूफान की मूवमेंट पर सीएम विजय रुपाणी सीधी नजर रख रहे हैं. आज उन्‍होंने कई जिला कलेक्टर से बात की और प्रशासन को सतर्क रहने की हिदायत भी दी. अहमदाबाद, साबरकांठा और पाटन, मेहसाणा जिलों में भी बारिश हो रही है. इससे पहले शाम के समय में दीव समुद्र में भारी लहरें देखी गईं. उस समय करीब 2 मीटर तक लहरें उठ रही थीं. तूफान के चलते अहमदाबाद, राजकोट, वडोदरा एयरपोर्ट आज बंद किए गए हैं.

चक्रवाती तूफान 'ताउते' का असर अब उत्तर भारत के मौसम पर भी साफ दिखने लगा है. ऐसे में आज दिल्ली, हरियाणा, राजस्थान और यूपी के कई इलाकों में बारिश हो रही है. दरअसल, तूफान 'ताउते' गुजरात से राजस्थान की तरफ मुड़ गया है जिसकी वजह से राजस्थान में दबाव का क्षेत्र बन गया है. मौसम विभाग की माने तो आज और कल यानी 19 और 20 मई को इसका असर उत्तर भारत के मौसम पर देखने को मिलेगा.

राजधानी दिल्‍ली समेत एनसीआर के कई हिस्‍सों में हल्‍की बारिश हुई है. उत्‍तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में भी रात से बारिश का सिलसिला जारी है. हरियाणा और राजस्‍थान के कई हिस्‍सों में भी बादल बरस रहे हैं. मौसम विभाग ने सुबह 6.30 बजे जारी अपडेट में इन राज्‍यों के कई जिलों में अगले दो दिन के भीतर बारिश होगी, ऐसा कहा था.

मौसम विभाग के मुताबिक, आज पूरी दिल्ली, एनसीआर बहादुरगढ़, गुरुग्राम, फरीदाबाद, बल्लभगढ़, नोएडा) पानीपत, गन्नौर, सोनीपत, गोहाना और आसपास के इलाकों में हल्की से मध्यम तीव्रता की बारिश होगी. इस दौरान तेज हवाएं भी चलेंगी जिनकी रफ्तार 30 से 40 किलोमीटर प्रति घंटे हो सकती है.

मौसम विभाग के मुताबिक, हिमाचल, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, पश्चिम यूपी, उत्तराखंड में अलग-अलग स्थानों पर कहीं छिटपुट तो कहीं अत्यधिक बारिश और पंजाब, पूर्वी यूपी और उत्तरी राजस्थान में कुछ स्थानों पर भारी से बहुत भारी बारिश हो सकती है. मौसम विभाग ने मंगलवार को ही बताया था कि 'ताउते' चक्रवात के और कमजोर पड़ने के साथ अगले दो दिनों के दौरान दिल्ली-एनसीआर समेत उत्तर भारत के विभिन्न हिस्सों में मध्यम स्तर की बारिश होने का अनुमान है.
अन्य आपदा लेख
वोट दें

क्या आप कोरोना संकट में केंद्र व राज्य सरकारों की कोशिशों से संतुष्ट हैं?

हां
नहीं
बताना मुश्किल