इस्तीफा देने से पहले क्या-क्या बोले PM मोदी?

जनता जनार्दन संवाददाता , Jun 05, 2024, 18:43 pm IST
Keywords: Pm Modi Resignation   नरेंद्र मोदी   प्रधानमंत्री   मंत्रिपरिषद   राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू   Election Result  
फ़ॉन्ट साइज :
इस्तीफा देने से पहले क्या-क्या बोले PM मोदी? फिलहाल नरेंद्र मोदी ने प्रधानमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है. उन्होंने राष्ट्रपति को अपना इस्तीफा सौंपा है. इससे पहले उन्होंने अपने मंत्रिपरिषद की आखिरी बैठक ली है. असल में नरेंद्र मोदी ने मंत्रिपरिषद के सहयोगियों से ये भी कहा कि हमने दस साल अच्छा काम किया, आगे भी करेंगे. उन्होंने कहा कि सत्ता संगठन हर जगह जनता की उम्मीदों पर खरा उतरे है और आगे भी उतरेंगे. आप सभी ने अच्छे से काम किया बहुत मेहनत की. मोदी ने मुस्कुराते हुए सभी का मनोबल बढ़ाया और सब को धन्यवाद कहा.

असल में नरेंद्र मोदी ने यह सब बातें अपने मंत्रिपरिषद की बैठक में कही है. इसके बाद बैठक खत्म होते ही राष्ट्रपति भवन के लिए इस्तीफा देने निकल गए. जानकारी के मुताबिक प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में बुधवार को केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 17वीं लोकसभा भंग करने की सिफारिश की. बताया गया कि आम चुनाव के परिणाम सामने आने के एक दिन बाद अपने आवास पर बैठक के पश्चात मोदी ने राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू से मुलाकात कर अपने पद से इस्तीफा देने के साथ ही लोकसभा भंग करने की औपचारिक सिफारिश की.

यह भी जानकारी सामने आई कि केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 17वीं लोकसभा भंग करने की सिफारिश की है. राष्ट्रपति भवन द्वारा जारी एक विज्ञप्ति में कहा गया कि प्रधानमंत्री मोदी ने अपना इस्तीफा राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू को सौंप दिया जिसे राष्ट्रपति ने स्वीकार कर लिया और उनसे नै सरकार के कार्यभार संभालने तक पद पर बने रहने को कहा. विज्ञप्ति में कहा गया है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज राष्ट्रपति से मुलाकात की और मंत्रिपरिषद के साथ अपना इस्तीफा उन्हें सौंप दिया. 

राष्ट्रपति ने उनका इस्तीफा स्वीकार कर लिया है और नरेन्द्र मोदी एवं मंत्रिपरिषद से अनुरोध किया है कि वे नयी सरकार के कार्यभार संभालने तक पद पर बने रहें. वहीं प्रधानमंत्री के रूप में मोदी ने दूसरे कार्यकाल के मंत्रिमंडल और मंत्रिपरिषद की अंतिम बैठक की. लोकसभा चुनाव में एनडीए को बहुमत मिलने के बाद हुई इस बैठक की अध्यक्षता मोदी ने की. इसमें चुनावी नतीजों की समीक्षा करने के साथ ही सरकार गठन की संभावित रूपरेखा पर विचार विमर्श किया गया. 

बता दें कि मौजूदा 17वीं लोकसभा का कार्यकाल 16 जून को समाप्त हो रहा है. भाजपा ने 543 सदस्यीय लोकसभा में अपने दम पर 240 सीटें जीती हैं जबकि उसके नेतृत्व वाले राजग को स्पष्ट बहुमत मिला है. मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस ने 99 सीटें हासिल कीं. फिलहाल सरकार गठन को लेकर बैठकों का दौर जारी है. उधर विपक्ष भी दिल्ली में बैठक कर रहा है. 


वोट दें

क्या आप कोरोना संकट में केंद्र व राज्य सरकारों की कोशिशों से संतुष्ट हैं?

हां
नहीं
बताना मुश्किल