मंगल ग्रह पर नासा ने देखा ये नजारा

जनता जनार्दन संवाददाता , Mar 05, 2023, 17:48 pm IST
Keywords: मार्स रिकॉनिसेंस ऑर्बिटर   Unusual Circles   NASA   हाइराइस नामक   Red Planet   NASA Mars Mission  
फ़ॉन्ट साइज :
मंगल ग्रह पर नासा ने देखा ये नजारा

नासा के मार्स रिकॉनिसेंस ऑर्बिटर अंतरिक्ष यान ने लाल ग्रह पर रेत के टीलों के असामान्य घेरे को कैप्चर किया है. ड्यून्स को एमआरओ के हाई रेजोल्यूशन इमेजिंग एक्सपेरिमेंट (हायराइज) कलर कैमरा द्वारा खींचा गया था. जबकि मंगल ग्रह पर कई आकार-प्रकार के रेत के टीले आम हैं. एमआरओ ने 'ड्यिून्स जो लगभग पूरी तरह से गोलाकार हैं, जो असामान्य है' का कैप्चर कर लिया, ग्रह भूविज्ञानी अल्फ्रेड मैकएवेन ने हाईराइज पिक्च र-ऑफ-द-डे फीचर के लिए लिखा.

मंगल ग्रह के बारे में सामने आई ये बात

मैकएवेन ने लिखा कि वृत्ताकार होने के बावजूद, वे अभी भी थोड़े विषम हैं' और 'दक्षिण छोर पर खड़ी फिसलन वाले चेहरे' हैं. उन्होंने समझाया कि यह इंगित करता है कि 'रेत आम तौर पर दक्षिण की ओर चलती है, लेकिन हवाएं परिवर्तनशील हो सकती हैं.' ड्यिून्स पिछले साल नवंबर के अंत में टूट गया था- जब शोधकर्ता फ्रोस्ट कवरेज में मौसमी परिवर्तनों की निगरानी के लिए क्षेत्र का अध्ययन कर रहे थे. यह इमेज दिखाती है कि उस पूरे सीन से फ्रोस्ट अनुपस्थित है.

MRO की खासियत

एमआरओ, जिसमें ओडिसी की तुलना में उच्च-रिजॉल्यूशन वाले उपकरण हैं, उसे 2005 में लॉन्च किया गया था. इसने 2006 से कक्षा से लाल ग्रह के वातावरण और इलाके का अध्ययन किया है और अन्य मंगल मिशनों के लिए एक प्रमुख डेटा रिले स्टेशन के रूप में भी काम करता है.

मंगल में पानी का प्रवाह

हाइराइस नामक एक शक्तिशाली कैमरे से सुसज्जित, जिसने कई खोजों में सहायता की है, एमआरओ ने मंगल ग्रह की सतह की हजारों आश्चर्यजनक इमेजिस वापस भेजी हैं जो वैज्ञानिकों को मंगल के बारे में और जानने में मदद कर रही हैं, जिसमें ग्रह की सतह पर या उसके पास पानी के प्रवाह का इतिहास भी शामिल है.

अन्य विज्ञान-तकनीक लेख
वोट दें

क्या आप कोरोना संकट में केंद्र व राज्य सरकारों की कोशिशों से संतुष्ट हैं?

हां
नहीं
बताना मुश्किल