Thursday, 17 October 2019  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 
खोजें
Feb 25, 2017, 18:20 pm    by : जनता जनार्दन संवाददाता
सांस्कृतिक विरासत को बचाने के लिए पुस्तकों को बचाना बेहद जरुरी है. आज हमें अपने बच्चों को टेलीविजन से बचाना पड़ेगा. इंटरनेट की वजह से आज रचनाकार बहुतायात में दिखने लगा है. यह एक बड़ी समस्या है जो
Feb 19, 2017, 12:44 pm    by : जनता जनार्दन डेस्क
शहर की शान वेदप्रकाश शर्मा का शुक्रवार की रात निधन हो गया। उनके निधन की खबर मिलते ही साहित्य जगत में शौक की लहर दौड़ गई। वेद प्रकाश शर्मा एक साल से कैंसर की बीमारी से जूझ रहे थे। शनिवार को उनके
Feb 12, 2017, 16:14 pm    by : योगेन्द्र नारायण शर्मा
धर्मशीलजी से व्यक्तिगत परिचय के पूर्व मेरा परिचय उनके अट्टहास से हुआ था. मोहनलाल गुप्तजी और साथियों के साथ देढ़सी के पुल (दशाश्वमेध) के पान की दुकान पर लगी अड़ी से एकाएक गूंज उठा अट्टहास करीब-कर
Sep 06, 2016, 14:12 pm    by : जनता जनार्दन संवाददाता
यस बैंक कुमाऊं साहित्यिक महोत्सव (केएलएफ) का दूसरा संस्करण 11 अक्टूबर से से 15 अक्टूबर तक आयोजित होगा. उत्तराखंड में आयोजित होने वाला स्वतंत्र और गैर लाभकारी वार्षिक साहित्यिक महोत्सव केएलएफ द
Feb 02, 2016, 13:17 pm    by : जनता जनार्दन संवाददाता
कराची साहित्य सम्मेलन में भाग लेने के लिए जाने वाले अभिनेता अनुपम खेर को पाकिस्तान सरकार ने वीज़ा देने से इनकार कर दिया है। उन्हें 5 फ़रवरी से शुरू होने वाले कराची लिट्रेचर फेस्टिवल में शिरकत क
Jan 09, 2016, 10:15 am    by : जनता जनार्दन संवाददाता
दिल्ली में शनिवार से शुरू हो रहे विश्व पुस्तक मेले में देश और दुनिया के कई लेखकों की पुस्तकें उपलब्ध होंगी, लेकिन इस बार पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का उर्दू कविताओं का संग्रह '
Sep 10, 2015, 15:39 pm    by : अनंत विजय
कन्नड़ के लेखक प्रोफेसर एम एम कालबुर्गी की हत्या के विरोध में साहित्यक और सांस्कृतिक जगत उद्वेलित है । सोशल मीडिया से लेकर सड़क तक इस हत्या के विरोध में प्रदर्शन आदि भी हो रहे हैं । हत्यारों क
Jun 17, 2015, 17:19 pm    by : अनंत विजय
अब यह बीते जमाने की बात लगने लगी है कि साहित्यक पत्रिकाएं समकालीन साहित्य परिदृश्य में सार्थक हस्तक्षेप किया करती थी । हिंदी में साहित्यक पत्रिकाओं का बहुत ही समृद्ध इतिहास रहा है । दरअसल यह
May 12, 2015, 16:19 pm    by : अनंत विजय
हाल के दिनों में लेखकों की एक ऐसी पीढ़ी सामने आई है जो साहित्य को सीढ़ी बनाकर प्रसिद्धि हासिल करना चाहती है । अब से लगभग दो दशक पहले इस तरह का साहित्यक प्रेम अफसरों में देखा जाता था । कई प्रशासन
May 05, 2015, 16:49 pm    by : अनंत विजय
मराठी लेखक भालचंद्र नेमाडे को ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित करने के मौके पर हुए जलसे में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने किताबों को लेकर गंभीर चिंता जताई। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा