Sunday, 06 December 2020  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 
खोजें
Sep 07, 2018, 18:25 pm    by : जनता जनार्दन संवाददाता
कैलाश मानसरोवर की यात्रा पर गए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने आज एक फोटो और वीडियो शेयर कर कहा कि "शिव ही ब्रह्मांड हैं."उन्होंने ट्विटर पर 18 सेकेंड का वीडियो का शेयर किया है. इसके अलावा वहां स
Jul 29, 2018, 19:07 pm    by : जनता जनार्दन संवाददाता
श्रावण मास में भगवान शंकर का नाम लेने मात्र से सारे दु:ख दूर हो जाते हैं। उनकी महिमा का बखान कर रुद्राभिषेक करने वालों की सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती हैं। भगवान शिव की आराधना के इस महीने के पहले
Sep 03, 2017, 19:31 pm    by : पंडित शशिपाल शर्मा 'बालमित्र'
विप्र ने पहला वर भक्ति का माँगकर सभी मायाग्रस्त सभी जीवों पर क्रोध न करने का वर माँगा है। भगवान आप कृपासिंधु हैं अतः आप सब जीवों पर अक्रोध बनाए रखें। इस वर के लाभार्थी तो इस 28वें कलिकाल के वासी
Sep 02, 2017, 8:00 am    by : पंडित शशिपाल शर्मा 'बालमित्र'
हाथ में त्रिशूल धारण करने वाले शिव को मैं नमस्कार करता हूँ जो तीनों प्रका के कष्टों का निवारण करते हैं । निश्चित ही त्रिशूल 3 प्रकार के कष्टों दैनिक, दैविक, भौतिक के विनाश का सूचक है। इसमें 3 तरह
Sep 01, 2017, 7:18 am    by : पंडित शशिपाल शर्मा 'बालमित्र'
विपत्ति के समय लोककल्याण के लिए कंठ में हलाहल विष को धारण करने वाले शिव ने लोगों के निरंतर कल्याण के लिए गंगा को केवल भगीरथ की तपस्या सफल करने के लिए ही धारण नहीं किया था, अपितु विष्णुजी के वामन
Aug 31, 2017, 7:36 am    by : पंडित शशिपाल शर्मा 'बालमित्र'
निर्वाणरूपं- भगवान साक्षात निर्वाणरूप हैं अतः जन्म-मरण आदि समस्त कष्टों से वहाँ मुक्ति है। ‛पुनरपि मरणं पुनरपि जननं' के भीतर ही समस्त कष्ट समाए हैं। इस प्रकार जन्म-मरण के बंधन में पड़े हम स
May 14, 2017, 14:13 pm    by : जनता जनार्दन डेस्क
ईशा योग फाउंडेशन में स्थित आदियोगी भगवान शिव की 112 फुट की आवक्ष प्रतिमा को गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्डस ने दुनिया की सबसे बड़ी आवक्ष प्रतिमा के रूप में दर्ज किया है. गिनीज ने अपनी वेबसाइट पर यह
May 12, 2017, 17:26 pm    by : जनता जनार्दन संवाददाता
जिसे हम विकास कहते हैं वह सब भय के विरुद्ध क्रिया है। स्वच्छता का अभियान मूलत: इस भय से है कि मच्छर आदि के प्रकोप से रोग या महामारी न फैले। सब कुछ भय का खेल है। और सबसे बड़ी बात यह है कि हम परमात्म
Feb 24, 2017, 13:24 pm    by : डॉ राममनोहर लोहिया
शिव बिना जन्‍म और बिना अंत के हैं। ईश्‍वर की तरह अनंत हैं लेकिन ईश्‍वर के विपरीत उनके जीवन की घटनाएँ समय क्रम में चलती हैं और विशेषताओं के साथ इसलिए वे ईश्‍वर से भी अधिक असीमित हैं। शायद केवल उ
Feb 24, 2017, 11:42 am    by : जनता जनार्दन डेस्क
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ईशा योग केंद्र में आदियोगी शिव की 112 फुट ऊंची आवक्ष प्रतिमा का उद्घाटन करने के लिए आज महाशिवरात्रि के अवसर पर कोयंबटूर का दौरा करेंगे. यह केंद्र यहां से करीब 25 किलोमी