खोजें
Oct 19, 2016, 8:52 am    by : जनता जनार्दन डेस्क
विशेषज्ञों का मानना है कि यदि राष्ट्रीय शतरंज चैम्पियनशिप के नियमों थोड़ा सा परिवर्तन किया जाए, ईनामी राशि में बढ़ोतरी की जाए, विदेशी प्रशिक्षकों की सेवाएं ली जाएं, कारोबारी घरानों को खेल से