Thursday, 21 January 2021  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 
खोजें
Jan 12, 2021, 9:19 am    by : जनता जनार्दन संवाददाता
सृजनलोक प्रकाशन समूह के तत्वावधान "विश्व हिंदी दिवस" पर एक भव्य ऑनलाइन श्रद्धांजलि सभा और सृजनलोक काव्य पाठ का आयोजन किया गया. यह कार्यक्रम दो सत्रों में संपन्न हुआ.
Nov 28, 2020, 19:48 pm    by : गौरव अवस्थी
66 वर्ष पहले जन्मे आदरणीय भारत यायावर जी एक गंभीर अध्येता हैं. विनोबा भावे विश्वविद्यालय हजारीबाग (झारखंड) में प्राध्यापक रहे भारत यायावर जी ने किताब घर नई दिल्ली से कई खंडों में प्रकाशित आचार
Oct 18, 2020, 19:02 pm    by : गौरव अवस्थी
सरस्वती। आपने सही पढ़ा। हां! वही सरस्वती जिसके संपादन से महावीर प्रसाद द्विवेदी को "आचार्य" पद प्राप्त हुआ। हिंदी साहित्य के प्रथम आचार्य माने और जाने गए। ऐसी "पद प्रतिष्ठा" उनके पहले हिंदी साह
Sep 14, 2020, 20:03 pm    by : गोपाल जी राय
हमारे देश का अभिजात्य वर्ग अंतरराष्ट्रीय भाषा अंग्रेजी का वर्चस्व बनाए रखने के पक्षधर हैं। इसके लिए वह क्षेत्रीय भाषाओं के हिमायती लोगों को भीतर ही भीतर भड़काता है, ताकि अंग्रेजी भाषा का स्थ
Jan 14, 2019, 18:20 pm    by : जनता जनार्दन संवाददाता
आज महाश्वेता का जन्मदिन है. अगर वह जिंदा होतीं, तो 93 की होतीं. अपने नाम की ही तरह साफ, उजली और सफ्फ़ाक. उन्होंने ताउम्र लेखन व संघर्ष उनके लिए किया जो जूझ रहे थे अपनी पहचान के लिए. इसीलिए वह बड़ी साहि
Jan 11, 2019, 11:05 am    by : जनता जनार्दन संवाददाता
केदारनाथ हिंदुओं के चार धाम में एक धाम है. वहां की यात्रा बहुत दुर्गम है. साल 2013 में वहां एक ऐसी आपदा घटी, जिसने पूरे देश को हिलाकर रख दिया. आजतक के पत्रकार मंजीत नेगी ने केदारनाथ हादसे की आंखोंदे
Dec 14, 2018, 17:15 pm    by : जनता जनार्दन संवाददाता
आजतक एचडी भारत का पहला हिंदी एचडी न्यूज चैनल है, जिसे देश के नंबर एक और सबसे भरोसेमंद हिंदी न्यूज चैनल आजतक द्वारा
Oct 31, 2018, 8:05 am    by : जनता जनार्दन संवाददाता
राष्ट्रीय सीनियर सिटीजन एसोसिएशन अपना 18वां स्थापना दिवस के अवसर पर 7वा राष्ट्रीय सम्मेलन आगामी 31 अक्टूबर एवं 1 नवंबर को हिंदू महासभा भवन मंदिर मार्ग बिरला मंदिर के पास नई दिल्ली में आयोजित क
Sep 14, 2018, 19:12 pm    by : जनता जनार्दन संवाददाता
उपराष्ट्रपति एम वैंकेया नायडू ने प्राथमिक शिक्षा का माध्यम मातृभाषा बनाने पर जोर दिया और कहा है कि शिक्षा का माध्यम अंग्रेजी होने के कारण बच्चों में आत्मविश्वास की कमी और हीनभावना पनपती है
Aug 17, 2018, 15:35 pm    by : जनता जनार्दन डेस्क
'एक-दो नहीं, कर लो बीसियों समझौते, पर स्वतंत्र भारत का मस्तक नहीं झुकेगा', संसद में पोखरण परीक्षण के बाद दिए गए तेजस्वी भाषण और सन् 1977 में संयुक्त राष्ट्र के 32वें अधिवेशन में हिंदी में भाषण दे