Monday, 18 January 2021  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 
खोजें
Jan 08, 2021, 16:40 pm    by : जनता जनार्दन संवाददाता
चाणक्य के अनुसार भौतिक जीवन में धन सभी प्रकार के सुखों का कारक है. इसीलिए लोग धन प्राप्त करने के लिए सात समंदर पार भी जाने के लिए भी तैयार रहते हैं. चाणक्य नीति भी कहती है कि व्यापार में वही व्या
Dec 17, 2020, 19:52 pm    by : जनता जनार्दन संवाददाता
अहंकारी मनुष्य को लक्ष्मी जी पसंद नहीं करती हैं लक्ष्मी जी अहंकारी व्यक्ति को पसंद नहीं करती हैं. रावण ज्ञानी और शक्तिशाली था, लेकिन अहंकारी था. इसलिए रावण की सोने की लंका भी नष्ट हो गई. समझदार
May 27, 2020, 15:26 pm    by : जनता जनार्दन संवाददाता
आचार्य चाणक्य स्वयं एक शिक्षक थे. वे विश्वविख्यात तक्षशिला विश्वविद्यालय के आचार्य थे. इसलिए छात्रों की मनोदशा का उन्हें अच्छी तरह से ज्ञान था. चाणक्य ने विद्यार्थी जीवन को प्रभावित करने वा
May 18, 2020, 18:15 pm    by : Desk JJ
आचार्य चाणक्य ने सफल होने के लिए कुछ अहम बातें अपनी चाणक्य नीति में बताई हैं. इन बातों को जो व्यक्ति जीवन में उतार लेता है उसे सफलता के लिए अधिक संघर्ष नहीं करना पड़ता है.