Tuesday, 20 October 2020  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 
खोजें
Aug 15, 2019, 10:18 am    by : अमिय पाण्डेय
स्वतन्त्रता दिवस के शुभ अवसर पर पुलिस अधीक्षक चन्दौली हेमन्त कुटियाल द्वारा पुलिस लाईन में ध्वजारोहण के उपरान्त सभी अधिकारियों/कर्मचारियों को सत्यनिष्ठा पूर्वक अपने दायित्वों व कर्तव्य
Sep 09, 2017, 12:39 pm    by : जनता जनार्दन डेस्क
खुल के हँसो, ज़ोरदार हँसो क्योंकि हँसने से सकारात्मक सोच बढ़ती है। हँसी को हम उस असरदार दवा की तरह मानते हैं, जो दुखों और घावों को ठीक करने में सबसे ज़्यादा असरकारक है। हँसने के कारण आपकी सोच सकारा
Aug 17, 2016, 15:02 pm    by : जनता जनार्दन डेस्क
छत्तीसगढ़ में रक्षाबंधन के अवसर पर बालिकाओं के प्रति समाज में सकारात्मक सोच को और भी ज्यादा बढ़ावा देने के लिए राजधानी रायपुर के नजदीक माना कैंप स्थित शासकीय बाल गृह (बालिका) बालिकाओं द्वारा
Jun 15, 2014, 12:09 pm    by : जनता जनार्दन डेस्क
ओडिशा की शारीरिक रूप से अक्षम सारिका जैन की कठिन मेहनत और संकल्प का ही नतीजा है कि वह अपने पहले प्रयास में ही प्रशासनिक सेवा की परीक्षा में उत्तीर्ण हो गईं। सारिका ने अपनी विशेष बातचीत में कह
Jul 22, 2013, 16:26 pm    by : जनता जनार्दन डेस्क
डरो नहीं...मिलकर लड़ो... अपने कार्यकार्ताओं से ये आह्वान किया है कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने।दिल्ली में देश भर से इकठ्ठा हुए कांग्रेस के प्रवक्ताओं को राहुल गांधी सकारात्मक सोच का सबक स
Mar 18, 2013, 12:05 pm    by : जनता जनार्दन डेस्क
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि प्रदेश सरकार राज्य में बड़े पैमाने पर उद्योगों की स्थापना के लिए लगातार कार्य कर रही है। आगरा तथा लखनऊ में सम्पन्न सम्मेलनों के सार्थक पर
May 17, 2011, 16:51 pm    by : जनता जनार्दन संवाददाता
कल्पनाशीलता का सामान्य अर्थ किसी चीज का दृश्यांकन करना होता है। जब आप किसी कार्य को शुरू करना चाहते हैं तो पहले उसे दृश्यांकित कर लेते हैं उसके बाद ही वह दृश्य को, आपके चेतन मस्तिष्क को भेजता
May 07, 2011, 8:40 am    by : जनता जनार्दन संवाददाता
एक बार जब मेरा जहाज विलम्ब हो गया था, मैंने पाया कि कई व्यक्ति एयरलाइन प्रबंधकों को दोष दे रहे थे, जबकि स्पष्टतया उनकी गलती नहीं थी। एयर ट्रैफिक जाम होने के कारण यह 35 मिनट आकाश में ही मंडरा रहा थ
Apr 23, 2011, 12:01 pm    by : जनता जनार्दन संवाददाता
लक्ष्यहीन व्यक्ति वह होता है जिसे यह न पता हो कि उसके लिए किस प्रोफेशन में जाना बेहतर होगा। ऐसे लोग एक तरफ तो आईएएस की तैयारी करते हैं और दूसरी तरफ शॉर्टहैंड व टाइपराइटिंग का कोर्स भी करते रहत
Apr 16, 2011, 12:05 pm    by : जनता जनार्दन संवाददाता
'बोया पेड़ बबूल का तो आम कहाँ से खाओगे', या ' जो बोओगे, वही तो काटोगे' की कहावत आम जिंदगी की सचाई है, पर रोजमर्रा की भाग-दौड़ में हम जीवन के इस सच को भूल जाते हैं। अगर आपको विभिन्न क्षेत्रों म