खोजें
Apr 24, 2020, 12:00 pm    by : Desk JJ
ज़रा गौर से इन तस्वीरों को देखिए। इन तस्वीरों में हज़ारों बरस की मिली जुली आपसी तहज़ीब, संस्कृति, भाईचारा और प्रेम की एक लंबी दास्तान सिमट आई है। इसे गंगा जमुनी तहजीब भी कहते हैं। यहां की मिट्
Nov 26, 2017, 17:22 pm    by : राजु मिश्रा
हिन्दी एक हत्यारी भाषा है, उत्तर पुर्व भारत के बड़े भाषा असमिया भाषा में हिन्दी समाती जा रही है । यदि सबसे बड़ी असमिया भाषा को हिन्दी निगलता जा रहा है तो अन्य छोटी छोटी भाषाओं पर बड़ा खतरा मंडरा रह
Feb 14, 2016, 14:36 pm    by : जनता जनार्दन डेस्क
घाटे का सौदा होने के कारण हर रोज ढाई हजार किसान खेती छोड़ रहे हैं। और तो और देश में अभी किसानों की कोई एक परिभाषा भी नहीं है। वित्तीय योजनाओं में, राष्ट्रीय अपराध रिकार्ड ब्यूरो और पुलिस की नजर
Dec 21, 2015, 15:15 pm    by : जनता जनार्दन डेस्क
हिंदी साहित्य के लिए इस वर्ष के साहित्य अकादमी पुरस्कार विजेता प्रख्यात साहित्यकार एवं कवि रामदरश मिश्र का कहना है कि 'कविता मेरा पहला प्रेम है' और साहित्य अकादेमी तो एक' आंगन' की तरह ह
Jul 19, 2015, 12:14 pm    by : जनता जनार्दन डेस्क
अगर आप अपना दिमाग तेज करना चाहते हैं, तो दो भाषाएं सीखें क्योंकि एक नए शोध में यह बात सामने आई है कि दो भाषा सीखने वालों का दिमाग अन्य की तुलना में तेज होता है। ऐसा मस्तिष्क के कार्यकारी नियंत्र
Jan 25, 2015, 13:44 pm    by : जनता जनार्दन डेस्क
आरएसएस प्रमुख डॉ मोहन भागवत ने कहा कि भारतवर्ष हिंदुस्तान है, यहां विविधता में एकता है।भाषाएं-धर्म अलग हैं, फिर भी एकता है। क्योंकि 44 हजार वर्षो पूर्व से ही हमारे पूर्वजों का डीएनए एक है। वही प
Feb 13, 2013, 12:04 pm    by : जनता जनार्दन डेस्क
नीले चेहरे वाले आमेजन जंगलों के एक तोते ने उर्दू सहित कई भाषाएं बोल कर लोगों को आश्चर्य में डाल दिया है।मिरर की खबर के अनुसार, अरबी, उर्दू और अंग्रेजी भाषाएं बोलने वाला यह तोता रॉकेट आसपास से ग
Dec 09, 2012, 17:23 pm    by : जनता जनार्दन डेस्क
कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी का 9 दिसम्बर को 66वां जन्मदिन है| आज दुनिया की सबसे ताकतवर महिलाओं में गिनी जाने वाली सोनिया गांधी का जन्म इटली के मैनो परिवार 9 दिसम्बर 1946 को हुआ| उनका वास्तविक नाम
Sep 13, 2012, 18:34 pm    by : जनता जनार्दन डेस्क
दक्षिण के एक कवि ने अपने गीत में बताया है- सभ्यता की अनेक सीढ़ियों को पार करने के बावजूद मनुष्य की उद्दाम कामनाओं में परिवर्तन नहीं आया है। उसने वेष बदला, भाषाएं सीखीं, ज्ञान का खजाना खोला, पर उ
Sep 09, 2012, 10:59 am    by : जनता जनार्दन संवाददाता
भारतीय भाषाएं भाषिक संरचना, लिपि और अभिव्यक्ति की दृष्टि से भले ही अलग दिखती हों किन्तु उनकी आत्मा की दृष्टि एक ही है। समस्त भारतीय भाषाएं सत्यम्, शिवम् और सुन्दरम् के आदर्श को अपने में संजोए