Saturday, 15 August 2020  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 
खोजें
May 16, 2018, 12:03 pm    by : प्रेम प्रकाश
एक नही, दो स्लैब गिरे हैं। वजन हजारों टन में है। बनारस में आज हर चेहरा धुंआ-धुंआ है, हर आँख नम है। मौत अभी- अभी तांडव करके गुजरी है। झूठ बोल रहा है शासन, प्रशासन और मीडिया कि मौतें दस या बीस हुई हैं
May 16, 2018, 9:07 am    by : वाराणसी ब्यूरो
भोले बाबा की नगरी काशी में और उसके आसपास इनदिनों विकास और तरक्की के नाम पर जो हो रहा है, कैंट का ओवरब्रिज हादसा उसका एक छोटा सा नमूना भर है. शर्मनाक तो यह कि इस संसदीय क्षेत्र की नुमाइंदगी खुद प्