Friday, 20 September 2019  |   जनता जनार्दन को बुकमार्क बनाएं
आपका स्वागत [लॉग इन ] / [पंजीकरण]   
 
खोजें
Jul 13, 2019, 14:10 pm    by : अजय पुंज
साहित्य अकादेमी मैथिली भाषा में अमित पाठक कृत राग-उपराग (कविता) पुस्तक को वर्ष 2019 का साहित्य अकादेमी युवा पुरस्कार और ऋषि बशिष्ठ कृत ई फूलक गुलदस्ता (कथा-संग्रह) को बाल साहित्य पुरस्कार देने क
Oct 05, 2018, 18:46 pm    by : जनता जनार्दन संवाददाता
विप्लवी पुस्तकालय, प्रलेस बेगूसराय एवं नीलांबर कोलकाता के संयुक्त तत्वावधान में पिछले दिनों गोदरगावां के चर्चित विप्लवी पुस्तकालय में 'गांधी की परिकल्पना का भारत' विषय पर परिचर्चा एवं
Aug 17, 2018, 16:07 pm    by : जनता जनार्दन डेस्क
पूर्व प्रधानमंत्री दिवंगत अटल बिहारी वाजपेयी जितने राजनेता के रूप में सराहे गए उससे कहीं ज्यादा अपनी कविताओं के लिए चर्चित रहे। वाजपेयी ने कई दफे अभिव्यक्ति के लिए कविता को माध्यम बनाया। व
Aug 16, 2018, 19:45 pm    by : जनता जनार्दन संवाददाता
अटल जी बेहद जिंदादिल इनसान थे. ऊंचाई पर पहुंचकर भी गर्व ने उन्हें नहीं छुआ था. अटल बिहारी वाजपेयी अगर राजनेता और भारत के प्रधानमंत्री न भी होते तो भी एक कवि, पत्रकार और हिंदी सेवी के रूप में देश
Apr 13, 2018, 9:23 am    by : अमित मौर्य
यह कविता लिखा है गूंज उठी रणभेरी साप्ताहिक अख़बार के संपादक अमित मौर्या ने,अमित मौर्या अक्सर बेबाक लेखनीय के लिए जाने जाते है,वाराणसी से इनका अखबार प्रकाशित होता है और तेजी से आगे बढ़ रहा है,वार
Mar 28, 2018, 9:35 am    by : अमिय पाण्डेय
नौजवान लेखक डॉ महबूब हसन समकालीन उर्दू साहित्य का एक जाना पहचाना नाम है.उन्होंने अपनी निरंतर साहित्यिक गतिविधियों के बल पर उर्दू साहित्य के वर्तमान पृष्टभूमि पर एक विशिष्ट पहचान कायम की है
Jan 26, 2018, 20:16 pm    by : जनता जनार्दन संवाददाता
ज़ी जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल 2018 साहित्य और प्रदर्शन कलाओं के संबंधों की संभावनाएं तलाशने के लिए पूरी तरह से तैयार है, जिसके विभिन्न सत्र थिएटर, संगीत, नृत्य और प्रदर्शन कविताओं के स्वाद से समृद्
Dec 29, 2017, 17:10 pm    by : जनता जनार्दन संवाददाता
कन्नड भाषा के मशहूर रचनाकार कवि कुवेम्पु को आज सर्च इंजन गूगल ने अपने होम पेज पर जगह दी है. कवि कुवेम्पु कन्नड साहित्य को नयी उंचाइयों पर पहुंचाने के लिए जाने जाते हैं. कुवेम्पु प्रकृति के रचन
Nov 17, 2017, 11:58 am    by : विम्मी करण सूद
'जैसे' और 'पानी प्यार' के बाद रेणु शाहनवाज़ हुसैन का अगला काव्य संग्रह आने को तैयार है जिसका नाम है 'घर की औरतें और चांद' । हाल ही में रेणु ने 'द रायसन्स' में इस संग्रह में से कुछ कवित
Aug 15, 2017, 16:57 pm    by : जनता जनार्दन डेस्क
देश के पूर्व प्रधानमंत्री और मध्य प्रदेश के ग्वालियर से नाता रखने वाले अटल बिहारी वाजपेयी द्वारा आजादी के एक दिन पूर्व अर्थात 14 अगस्त, 1947 को लिखी कविता '15 अगस्त का दिन कहता आजादी अभी अधूरी है